आतंकी संगठन IS में शामिल होने गए आरिफ माजिद को एनआईए ने किया गिरफ्तार

By: | Last Updated: Saturday, 29 November 2014 2:24 AM

मुंबई/नई दिल्ली: आरिफ मजीद (23) नाम के जिस युवक के बारे में अब तक माना जा रहा था कि वह सीरिया में आतंकवादी संगठन आईएसआईएस के लिए लड़ते हुए मारा गया, उसे मुम्बई लौटने के कुछ घंटे बाद शुक्रवार रात गिरफ्तार कर लिया गया.

 

आईएसआईएस और उसके सदस्यों के खिलाफ आईपीसी की धारा 125 के तहत एक मामला दर्ज किया गया है जो भारत के साथ दोस्ताना रिश्ते रखने वाले किसी एशियाई देश के खिलाफ जंग छेड़ने से जुड़ा है और इसमें अधिकतम सजा उम्रकैद हो सकती है.

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार देर रात एनआईए को मामला दर्ज करने का निर्देश देते हुए अधिसूचना जारी की.

 

इस साल मई में कल्याण से आरिफ मजीद समेत चार युवक पश्चिम एशिया के धार्मिक स्थलों की यात्रा के लिए गये थे जिनमें शाहीन टांकी, फहद शेख और अमन टांडेल भी थे. लेकिन बाद में वे गायब हो गए. संदेह था कि वे पश्चिम एशिया में सक्रिय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) में शामिल हो गए.

 

इसके अलावा आपको बता दें कि इराक में आतंकवादी संगठन, इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल होकर स्वदेश लौटे युवक आरिफ मजीद को यहां की एक विशेष अदालत ने आठ दिसंबर तक राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की हिरासत में भेज दिया. महाराष्ट्र के कल्याण का निवासी 23 वर्षीय मजीद शुक्रवार को एक विमान से तुर्की होते हुए भारत पहुंचा था, जिसके बाद खुफिया अधिकारियों ने उसे दबोच लिया था और पूछताछ के लिए उसे कहीं गुप्त स्थान पर ले गए थे.

 

मजीद मई में ठाणे के अपने तीन अन्य साथियों -शमीम तंकी, अमन तंडेल तथा फहद शेख- के साथ लापता हो गया था.

 

एनआईए ने शुक्रवार रात उसे गिरफ्तार कर लिया था और उसे शनिवार को एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 10 दिनों के लिए एजेंसी की हिरासत में भेज दिया गया.

 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरिफ आज सुबह लौटा और एनआईए तथा महाराष्ट्र एटीएस ने उससे पूछताछ की. एक सूत्र के अनुसार यहां लौटने के तत्काल बाद आरिफ की मेडिकल जांच कराई गयी.

 

उसके पारिवारिक मित्र इफ्तखार खान ने कहा, ‘‘आरिफ के पिता एजाज को शुक्रवार सुबह सुरक्षा एजेंसियों से फोन आया. उन्हें बताया गया कि उनका बेटा मुम्बई में है.’’

 

पुलिस के मुताबिक इंजीनियरिंग के ये चारों विद्यार्थी 23 मई को इराक में धार्मिक स्थलों की यात्रा के लिए 22 तीर्थयात्रियों के एक समूह का हिस्सा बनकर बगदाद गए थे. अगले दिन आरिफ ने बगदाद से अपने परिवार को फोन किया और उन्हें बगैर बताए चले जाने के लिए माफी मांगी. अन्य यात्रियों ने भारत लौटने पर बताया कि आरिफ, शाहीन, फहद और अमन किराये पर टैक्सी लेकर बगदाद के पश्चिम में स्थित शहर फलुजाह चले गए थे जो इराक के चरमपंथ के केंद्र के रूप में उभरा है.

 

एक पारिवारिक मित्र अतीक खान ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘26 अगस्त को शाहीन टांकी ने आरिफ के परिवार को फोन किया था और कहा था कि उनका बेटा सीरिया में आईएसआईएस के पक्ष में लड़ते हुए शहीद हो गया.’’ अगले दिन आरिफ के परिवार ने कल्याण में ‘जनाजा-ए-गयाबाना’ (शव की अनुपस्थिति में दिवंगत आत्मा के लिए की जाने वाली रस्म) पढ़ी.

 

हाल ही में आरिफ के पिता एजाज मजीद ने कथित रूप से एनआईए से भेंट की थी और उससे कहा था कि उनका बेटा तीन महीने तक आईएसआईए के पक्ष में लड़ाई करने के बाद उसके नियंत्रण वाले क्षेत्र से भागकर तुर्की चला गया और अब वह भारत लौटना चाहता है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: arif_mazid_arrested
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ???? ???? ????? ????? arif mazeed Iraq IS Mumbai
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017