जेटली ने जीएसटी में नहीं लगाया दिमाग, वित्तमंत्री को पद से हटाएं पीएम: यशवंत सिन्हा | Arun Jaitley did not apply mind on GST says Yashwant Sinha

जेटली ने जीएसटी में नहीं लगाया दिमाग, वित्तमंत्री को पद से हटाएं पीएम: यशवंत सिन्हा

पटना में एक कार्यक्रम में भाग लेते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा, "नोटबंदी का उद्देश्य पूरा नहीं हुआ है और कोई कालाधन भी वापस नहीं आया है, बल्कि 99 फीसद करेंसी वापस आ गई है."

By: | Updated: 10 Nov 2017 07:10 PM
Arun Jaitley did not apply mind on GST says Yashwant Sinha

पटना: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने शुक्रवार को कहा कि वित्तमंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी लागू करने में अपने दिमाग का इस्तेमाल नहीं किया. उन्होंने कहा, "नोटंबदी के बाद 20 लाख लोगों की नौकरी खत्म हो गई. अब सरकार नोटबंदी को सफल बताने के लिए झूठ का सहारा ले रही है." उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी को पूरी तरह असफल बताया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वित्तमंत्री बदलने की मांग भी की.


पटना में एक कार्यक्रम में भाग लेते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा, "नोटबंदी का उद्देश्य पूरा नहीं हुआ है और कोई कालाधन भी वापस नहीं आया है, बल्कि 99 फीसद करेंसी वापस आ गई है." अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्तमंत्री रहे सिन्हा ने जीएसटी पर भी नरेंद्र मोदी सरकार को पूरी तरह असफल बताते हुए कहा कि अगर जीएसटी सही है, तो इसमें लगातार बदलाव की जरूरत क्यों पड़ रही है. उन्होंने कहा कि समाज जब आर्थिक दृष्टिकोण से मजबूत होगा, तभी लोगों को रोजगार मिल पाएगा. यशवंत सिन्हा ने अरुण जेटली पर तंज कसते हुए कहा कि वह अपनी गलती सुधारने के लिए रोज बदलाव कर रहे हैं.


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निजी क्षेत्र में आरक्षण की मांग को 'जुबानी जमा खर्ची' बताते हुए सिन्हा ने कहा कि ऐसी मांग करने से कुछ नहीं होने वाला है. इसके लिए मुख्यमंत्री विधानसभा से प्रस्ताव पास कराएं और केंद्र सरकार को भेजें.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Arun Jaitley did not apply mind on GST says Yashwant Sinha
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जीत के बाद भी हिमाचल प्रदेश में बीजेपी के लिए सियासी संकट, अपनी सीट नहीं बचा पाए CM उम्मीदवार