AIIMS में डायलिसिस के बाद अरुण जेटली को मिली छु्ट्टी | Arun Jaitley realesed after dialysis in AIIMS

AIIMS में डायलिसिस के बाद अरुण जेटली को मिली छु्ट्टी

यह अभी साफ नहीं है कि जेटली दफ्तर जाना कब शुरू करेंगे. वह पिछले सोमवार से दफ्तर नहीं आ रहे हैं. वह राज्यसभा में पुनर्निर्वाचित होने के बाद शपथ भी नहीं ले सके हैं.

By: | Updated: 09 Apr 2018 08:25 PM
Arun Jaitley realesed after dialysis in AIIMS

नई दिल्ली: किडनी की समस्या से जूझ रहे वित्त मंत्री अरुण जेटली की आज एम्स में डायलिसिस हुई. कुछ घंटे तक निगरानी में रखने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी. जेटली के परिवार के करीबी सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय मंत्री का कोई ट्रांसप्लांट नहीं किया गया और उन्हें डॉक्टरों ने सलाह दी है कि वह डायलिसिस और दवाओं से बेहतर हो सकते हैं. उन्हें शुक्रवार शाम को एम्स में भर्ती कराया गया था.


डायलिसिस के लिए ले जाने से पहले डॉक्टरों ने जेटली को दो दिन तक निगरानी में रखा. उन्होंने यह देखने के लिए कुछ वक्त इंतजार करने का फैसला किया है कि किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी जरूरी है या नहीं. संक्रमण के जोखिम की वजह से जेटली को नियंत्रित माहौल में रखा जाएगा. यह अभी साफ नहीं है कि जेटली दफ्तर जाना कब शुरू करेंगे. वह पिछले सोमवार से दफ्तर नहीं आ रहे हैं. वह राज्यसभा में पुनर्निर्वाचित होने के बाद शपथ भी नहीं ले सके हैं.


हालांकि एम्स के सूत्रों ने कहा कि वह निगरानी में हैं और जल्द उनका किडनी ट्रांसप्लांट हो सकता है. जेटली की पिछले कुछ दिन में कई मेडिकल जांच की गई. जेटली को डायबिटीज की समस्या है और वह किडनी संबंधी परेशानियों से जूझ रहे हैं.


वह अपोलो अस्पताल के नेफ्रोलॉजिस्ट डॉ संदीप गुलेरिया की देखरेख में हैं जो एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया के भाई हैं. रणदीप गुलेरिया और जेटली पारिवारिक मित्र हैं. जेटली ने 10वें भारत-ब्रिटेन आर्थिक और वित्तीय संवाद में शामिल होने के लिए लंदन जाने का अपना कार्यक्रम निरस्त कर दिया था. उन्होंने गुरूवार को ट्वीट कर अपनी बीमारी की पुष्टि की थी.


जेटली ने ट्वीट किया था, ‘‘किडनी संबंधी समस्याओं और कुछ संक्रमणों के लिए मेरा इलाज चल रहा है.’’ उन्होंने बीमारी के बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहा, लेकिन बताया था कि वह फिलहाल घर में नियंत्रित वातावरण में काम कर रहे हैं.


लंबे समय से डायबिटीज की समस्या के चलते बढ़ रहे वजन की वजह से सितंबर 2014 में जेटली ने बेरियाट्रिक सर्जरी कराई थी. पहले यह सर्जरी मैक्स अस्पताल में की गयी थी लेकिन उन्हें बाद में जटिलताओं की वजह से एम्स में भर्ती कराया गया था. कई साल पहले जेटली की हार्ट सर्जरी भी की जा चुकी है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Arun Jaitley realesed after dialysis in AIIMS
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पश्चिम बंगाल में आधार मजबूत करने के लिए असीमानंद की मदद ले सकती है बीजेपी