'पीएम बनने चले थे हार कर चले आए'

By: | Last Updated: Wednesday, 11 February 2015 11:47 AM

नई दिल्ली: एक हार जिससे इतिहास बन जाने का डर पैदा हो गया. ये कहानी आम आदमी पार्टी के बनकर बिगड़ने और बिगड़कर संवरने की है. तब भी मोदी सामने थे और अब भी मोदी. इस बार तो मोदी सरकार थी लेकिन आम आदमी पार्टी वापसी कर गई.

 

कैसे हुई ‘आप’ की वापसी ?

 

पार्टी प्रवक्ता आशुतोष बताते हैं कि एक वो दौर भी था जब केजरीवाल को उन्हीं की नई दिल्ली विधानसभा सीट में देखकर लोग उनके मुंह पर दरवाजा बंद कर लिया करते थे. वाराणसी में मोदी के खिलाफ चुनाव लडने को लोग सिर्फ केजरीवाल के मन में पीएम बनने की चाहत मानते थे. दिल्ली में लोग ठगा महसूस करते थे कि उन्होंने केजरीवाल को सीएम की कुर्सी दी और छोड़कर वह वाराणसी लड़ने चला गया और फिर जो हार मिली उसने पार्टी को बुरी तरह तोड़कर रख दिया.

 

लोकसभा के नतीजे तमाम विरोधी पार्टियों के लिए बुरे थे लेकिन आप पर सबसे ज्यादा हमले हुए. पार्टी के अस्तित्व पर सवाल उठने लगे. 400 से ज्यादा सीटों पर लड़ी आप के 90 फीसदी से ज्यादा उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई. आप को जमानत जब्त पार्टी कहा जाने लगा.

 

हालांकि लोकसभा चुनाव में भी आप के वोट प्रतिशत बढ़े थे लेकिन दिल्ली की सातों सीट हारने के बाद पार्टी बुरी तरह पस्त पड़ गई थी. ये जानते हुए कि लेकिन इन्हीं हमलों ने पार्टी को एकजुट होने का हौसला दिया.

 

इस्तीफा देना जनता से धोखा

 

पार्टी को ये समझ में आ गया था कि 49 दिन की सरकार छोडकर जाने से जनता नाराज है. इसलिए जनता ने हर जगह अपनी गलती कबूल की,माफी मांगी और कहा कि ऐसा दोबारा नहीं होगा. आप नेता आशुतोष ने कहा कि हमने माफी मांगी है. इस्तीफा देने से जनता में गुस्सा था. आशुतोष ने बताया कि जब अरविंद वाराणसी से चुनाव हार कर आए और सुबह टहलने के लिए अपनी पत्नी के साथ बाहर निकले तो उनके अपार्टमेंट का गार्ड उन पर फब्तियां कसा. उसने कहा कि चले थे पीएम बनने हार कर आ गये. केजरीवाल ने कहा कि यार लोग ऐसी-ऐसी बातें बोल रहे हैं. कई बार अपने क्षेत्र में लोगों से मिलने उनके घर जाते थे तो कई बार लोग दरवाजा खोलते और अरविंद को देखकर दरवाजा बंद कर देते थे.

 

‘धरना पार्टी’ की छवि से मुक्ति

 

49 दिनों की सरकार में पार्टी की छवि धरना विशेषज्ञ की बन गई थी. और एक बड़े वर्ग को लगता था कि ये शासन नहीं चला पाएंगे. आप का मकसद था इस छवि से बाहर आना. पार्टी ने अपने प्रचार में इस कमी को दूर करना शुरू किया. दिल्ली डायलॉग इसी का हिस्सा था जिसमें जनता से बातचीत के आधार पर घोषणापत्र तैयार किया गया. ऐसे आठ दिल्ली डायलॉग हुए जिसकी कमान आशीष खेतान के हाथ में थी.

 

आप नेता आशिष खेतान ने बताया कि हमें पता था कि लोकसभा चुनाव हम हार रहे हैं. विधानसभा चुनाव के दौरान हमने जनता से उसके मुद्दे पूछे. दिल्ली डॉयलॉग लोगों से पूछ कर बनाया गया. ऐसा पहली बार हुआ है.

 

संजय सिंह ने कहा कि हमारा मजाक उड़ाया गया. हम पर कालिख फेंकी गई, थप्पड़ मारे गए. इससे हमें ताकत मिली.

 

कार्यकर्ताओं को एकजुट करना

 

आम आदमी पार्टी की जीत में जिन कार्यकर्ताओं की मेहनत को श्रेय दिया जा रहा है वो लोकसभा चुनाव के बाद से बिखरे थे. पार्टी में रफ्तार लाने के लिए कार्यकर्ताओं को एकजुट करना जरूरी था. बूथ लेवल पर तैयारी शुरू हुई.

 

एक बार जब कमियां पता चल गईं तो अब काम का वक्त था. पार्टी ने तय किया कि दिल्ली से बाहर कोई चुनाव नहीं लड़ेंगे. पार्टी में कुछ नेता हरियाणा-महाराष्ट्र लड़ना चाहते थे लेकिन केजरीवाल अटल थे कि पहले दिल्ली बाद में देश. दिसंबर तक पार्टी एकजुट हो चुकी थी. अब जीत के रास्ते में एक ही रोड़ा था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी .

 

लेकिन पीएम की दस जनवरी वाली रामलीला मैदान की रैली फ्लॉप क्या हुई. आम आदमी पार्टी के नेताओं को वापसी का रास्ता नजर आने लगा . चुनाव की तारीख के एलान से पहले दिल्ली की राजनीति में यही वो समय था जो टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ.

 

रही सही कसर पूरी कर दी किरन बेदी की एंट्री ने . केजरीवाल और उनकी पार्टी के नेता किरन बेदी को खूबी और खामी दोनों बखूबी जानते थे. वही बीजेपी वाले बेदी के व्यक्तित्व से पूरी तरह वाकिफ नहीं थे . राजनीति की कच्ची खिलाड़ी किरन बेदी के बयानों ने चुनाव प्रचार में आम आदमी पार्टी को मानो वॉक ओवर दे दिया .

 

आम आदमी पार्टी जैसा सोच रही थी ठीक उसी तरह से बीजेपी दिल्ली के लिए अपना प्लान बना रही थी . साफ दिख रहा था कि पार्टी अपनी रणनीति की बजाए सिर्फ केजरीवाल को काउंटर करने की रणनीति पर ही काम कर रही है . अखबारों में विज्ञापन, प्रेस कॉन्फ्रेंस से लेकर केजरीवाल पर हुए निजी हमलों ने आप की राह और आसान कर दी.

 

केजरीवाल विकासवादी राजनीति की राह पर बढ़ रहे थे तो बीजेपी वाले निगेटिव राजनीति की राह पर. नतीजा हुआ कि केजरीवाल पूरी दिल्ली पर झाड़ू लगाने में कामयाब रहे .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: arvind kejriwal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: aam adami party AAP arvind kejriwal
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017