केजरीवाल के करिश्मे की पांच बड़ी वजहें?

By: | Last Updated: Wednesday, 11 February 2015 3:44 PM

नई दिल्ली: दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने ऐतिहासिक जीत हासिल कर कई राजनीतिक पंडितों को भी चौंका दिया. जीत के हीरो भले ही केजरीवाल हो. लेकिन आम आदमी पार्टी की इस जीत में 5 वजहें रहीं.

 

पार्टी गठन के करीब ढाई साल में ही अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी ने दोबारा और 2013 से भी बड़ा कारनामा कर दिखाया है. आखिर क्या है केजरीवाल के करिश्मे की पांच बड़ी वजहें? 

 

बीजेपी को जाल में फंसाया

 

अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी को कई बार अपने जाल में फंसाया. दिल्ली में चुनाव नहीं करवाने के लिए कई बार बीजेपी पर निशाना साधा. यहां तक कि कई बार बीजेपी पर खरीद-फरोख्त का आरोप भी लगाया. केजरीवाल ने ही बीजेपी को दिल्ली में सीएम पद का उम्मीदवार खड़ा करने पर मजबूर किया. केजरीवाल के दवाब में ही आकर बीजेपी ने किरन बेदी को सीएम पद का उम्मीदवार बनाया. केजरीवाल ने किरन बेदी को बहस की चुनौती देकर भी अपने जाल में फांसा. बहस से इनकार करने को भी केजरीवाल ने खूब भुनाया.

 

केजरीवाल ने खुद की इमेज बदली

 

इस चुनाव में अरविंद केजरीवाल ने अपनी अलग छवि पेश की. अक्सर नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करने वाले अरविंद केजरीवाल इस बार चुनाव प्रचार में मोदी पर सीधा हमला करने से बचते दिखे. 2013 विधानसभा चुनाव में मीडिया पर कई बार आरोप मढ़ने वाले अरविंद केजरीवाल ने इस बार के चुनाव प्रचार में मीडिया पर हमला नहीं किया. आप के कैंपेन में इस बार निगेटिव पब्लिसिटी नहीं देखने को मिली. आप छोड़ने वाले कई नेताओं ने केजरीवाल को डिक्टेटर करार दिया था. लेकिन इस बार के चुनावी कैंपेन में अरविंद केजरीवाल विनम्र नजर आए.

 

जो केजरीवाल 49 दिन में सत्ता छोड़ने को गलती नहीं मानते थे. वही अरविंद केजरीवाल चुनाव प्रचार में इसे गलती मानकर बार बार माफी मांगते नजर आए. केजरीवाल की जीत की एक वजह ये भी रही कि वो खुद पर हुए सभी हमलों को सहानुभूति में बदलने में भी कामयाब हुए.

 

49 दिन का काम भुनाया

 

अरविंद केजरीवाल के प्रचार अभियान को उनकी पार्टी के नेता संजय सिंह ने 5 साल केजरीवाल के नारे के साथ शुरुआत की. जनता के सामने 49 दिनों में किए गए कामों का जमकर प्रचार किया गया. इसका दिल्ली की जनता पर धीरे धीरे असर देख केजरीवाल और उनकी पार्टी के हौसले बुलंद होते गए.

 

फ्री का फॉर्मूला काम आया

 

आम आदमी पार्टी की जीत में बड़ी भूमिका रही उसके चुनावी वादों की. इन वादों में फ्री का फॉर्मूला जमकर डाला गया . केजरीवाल ने दिल्ली से सत्ता में आने पर मुफ्त में बिजली- पानी देने का वादा कर मध्यम वर्ग का वोट हासिल किया. फ्री वाई-फाई और 20 नए कॉलेज खोलने का वादा कर दिल्ली के युवाओं में जगह बनाई.

 

मोदी विरोधी वोटों को एकजुट किया

 

आम आदमी पार्टी ने मोदी विरोधी पार्टियों के सभी वोटों को एक झटके में अपनी झोली में भर लिया. इसमें कांग्रेस की झोली से निकले वोटों की बड़ी भूमिका रही. साथ ही दिल्ली के मुस्लिम वोटरों में भी अरविंद केजरीवाल में उम्मीद की किरन नजर आई. बंपर वोटों की बदौलत आम आदमी पार्टी को दिल्ली के 54 फीसदी वोटरों ने अपना वोट दिया. और अरविंद केजरीवाल को एक बार दिल्ली का नायक बना दिया.

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: arvind kejriwal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी
'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी

नई दिल्ली: नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शार्मिला और उनके लंबे समय से साथी रहे ब्रिटिश नागरिक...

अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे
अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे

 मुंबई: मुंबई पुलिस के मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को महाराष्ट्र...

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017