पिछली बार से केजरीवाल ने क्या-क्या सीखा?

By: | Last Updated: Tuesday, 17 February 2015 3:47 PM
Arvind kejriwal learned

नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल इस बार पूरी तैयारी के साथ रामलीला मैदान पहुंचे थे सीएम बनाने के लिए सिर्फ जनता को धन्यवाद नहीं दिया सरकार बिना विवाद के अपना काम करती रहे इसके भी इंतजाम किए.

 

पिछली बार केजरीवाल 49 दिन के सीएम रहे थे लेकिन केजरीवाल के बदले हुए अंदाज को देखकर ऐसा लगता है कि 49 दिन में सरकार चलाने का जो अनुभव उसने केजरीवाल को काफी कुछ सिखा दिया है. इसीलिए तो रामलीला मैदान में शपथ के बाद दिए भाषण में केजरीवाल ने घंटे गिनकर मीडिया से काम का हिसाब नहीं मांगने की बात कही है.

 

49 दिन तक सरकार चलाने के बाद केजरीवाल को ये समझ आ गया कि सरकार कैसे चलती है और ये भी कि किन मुद्दों पर उनसे सवाल पूछे जाएंगे. पिछली बार केजरीवाल के बंगले को लेकर काफी विवाद हुआ था. सीएम बनने के बाद भगवानदास रोड पर 5-5 बेडरूम के दो बंगले उन्हें दिए गए. जिस पर जमकर विवाद हुआ था. जनता की प्रतिक्रिया देखते हुए केजरीवाल को बंगला छोड़ना पड़ा था और बाद में उनके लिए छोटा बंगला ढूंढा गया था. लेकिन इस बार इस तरह के किसी विवाद से बचने के लिए केजरीवाल ने कमरों का और जगह की जरूरत का हिसाब पहले ही बता दिया है.

 

घर तो घर अपने मंत्रियों की कार को तकरार से बचाने का इंतजाम भी कर गए. केजरीवाल की रणनीति भी बदली हुई है पिछली बार सीएम बनने के बाद केजरीवाल बेहद अहम तीन विभाग वित्त मंत्रालय, गृह मंत्रालय और बिजली अपने पास रखे थे लेकिन इस बार केजरीवाल ने अपने पास कोई विभाग नहीं रखा है. सवाल पूछे जाने लगे कि केजरीवाल ने आखिर ऐसा क्यों किया. इस सवाल का जवाब केजरीवाल ने खुद ही दे दिया. कुछ लोग हैरान हैं और पूछ रहे हैं कि मैं कोई विभाग अपने पास क्यों नहीं रख रहा हूं? मैं समझता हूं कि मुख्यमंत्री को केवल किसी एक विभाग की पूरी निगरानी नहीं करनी चाहिए. मैं पूरी दिल्ली की समस्याओं का समाधान खोजूंगा . साथ ही मंत्रियों और विधायकों के काम पर निगरानी रखूंगा.

 

केजरीवाल सबकुछ कर रहे हैं लेकिन दिल्ली की सत्ता में आने के सबसे अहम वादों पर नजरें टिकीं हुई हैं. वादे करने का दौर गुजर गया अब फैसला लेने वाली कुर्सी पर केजरीवाल बैठ चुके हैं. फिलहाल केजरीवाल ने सस्ती बिजली और हर महीने 20 हजार लीटर मुफ्त पानी देने के वादे पर संबंधित विभागों से खर्च का ब्योरा मांगा है. केजरीवाल इस बार हर काम ठोंक बजाकर करने के मूड में हैं.

 

इन दो दिनों मे केजरीवाल सरकार ने एंटी करप्शन हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया है. रिश्वत मांगने वालों की शिकायत के लिए हेल्पलाइन नंबर 011-27357169 दिया गया है.

 

हालांकि बदले बदले केजरीवाल की इस पूरी कहानी में सबसे बड़ा सच ये है कि पिछली बार केजरीवाल 28 सीटों के साथ कांग्रेस का सहारा लेकर सीएम की कुर्सी पर बैठे थे लेकिन इस बार 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल करके दिल्ली के इतिहास में सबसे ताकतवर मुख्यमंत्री बनकर सत्ता में आए हैं. जाहिर है कि इस बार सरकार बदले हुए ही नजर आएंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Arvind kejriwal learned
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया
भारत को मिला जापान का साथ, डोकलाम में सेना की तैनाती को सही ठहराया

नई दिल्ली: डोकलाम को लेकर चीन से तनातनी के बीच भारत को जापान का समर्थन मिला है. जापान ने डोकलाम...

2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा
2015 से पहले के तेजाब हमला पीड़ितों को मिल सकता है मुआवजा

नई दिल्ली: दिल्ली की आप सरकार तेजाब हमलों के उन मामलों पर विचार करेगी, जो सरकार की 2015 में...

बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने  बच्चे को जन्म दिया
बलात्कार पीड़ित 10 साल की लड़की ने बच्चे को जन्म दिया

चंडीगढ़: बलात्कार पीड़ित एक 10 साल की लड़की ने कल अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया. लड़की के...

‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां
‘साझी विरासत’ को बचाने के लिए एकजुट होकर लड़ेंगी विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली:  लगभग एक दर्जन से ज्यादा विपक्षी पार्टियों ने कल एक मंच पर आकर आरएसएस पर तीखा हमला...

गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई
गोरखपुर ट्रेजडी: बच्चों की मौत के मामले पर इलाहाबाद HC में आज सुनवाई

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद
गुजरात में स्वाइन फ्लू से अबतक 230 की मौत, राज्य ने केंद्र से मांगी मदद

अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में स्वाइन फ्लू की स्थिति के बारे में...

मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'
मनमोहन वैद्य का राहुल को जवाब, कहा- 'RSS क्या देश के बारे में नहीं जानते कुछ'

नागपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेता मनमोहन वैद्य ने कहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल...

गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत
गोरखपुर ट्रेजडी: जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, गुरुवार को 8 की मौत

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में बच्चों की मौत का सिलसिला...

मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा
मुरथल रेप केस: हाईकोर्ट ने SIT को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में 133 की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017