Arvind Kejriwal_

Arvind Kejriwal_

By: | Updated: 03 Apr 2015 05:09 PM

नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी (आप) ने आज दिल्ली में अपनी सरकार के 49 दिन पूरे किए . इस दौरान केजरीवाल सरकार ने बिजली, पानी सब्सिडी, दिल्ली डायलॉग कमीशन का गठन सहित कई अन्य अहम निर्णय किए .

 

इस अवधि में अनधिकृत कॉलोनियों में संपत्ति के पंजीकरण की प्रक्रिया की शुरूआत हुई और अपनी ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले सुरक्षाकर्मियों के परिजन को एक करोड़ रूपए के मुआवजे का ऐलान किया गया.

 

विधानसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत हासिल करने के सात हफ्ते बाद नगर निगमों को धनराशि जारी करने से इनकार और ‘आप’ के 21 विधायकों को सभी मंत्रियों के संसदीय सचिवों के तौर पर नियुक्त करने को लेकर सरकार की भारी आलोचना भी हुई .

 

सत्ता में आने के बाद अपने पहले बड़े फैसले में ‘आप’ सरकार ने 400 यूनिट तक मासिक बिजली खपत पर 50 फीसदी की रियायत और हर परिवार को महीने में 20 हजार लीटर पानी देने का ऐलान किया .

 

अपनी 49 दिनों की पिछली सरकार में भी केजरीवाल कैबिनेट ने ऐसे ही फैसले लेकर लोगों को बड़ी राहत दी थी . लेकिन पिछली बार से अलग जाकर केजरीवाल सरकार अब ‘‘जल्दबाजी’’ में फैसले न लेकर सावधानी से आगे बढ़ रही है .

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने पास किसी विभाग का प्रभार नहीं रखा है, लेकिन अपने करीबी सहयोगी मनीष सिसोदिया को कई अहम विभागों की जिम्मेदारी सौंपी . उन्हें उप-मुख्यमंत्री का भी पद दिया गया है . दिल्ली सरकार में पहली बार उप-मुख्यमंत्री के पद का सृजन किया गया .

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सदमा दे गई चांदनी: 54 साल की उम्र में श्रीदेवी का निधन, कल हो सकता है अंतिम संस्कार