मीट कारोबारी पहुंचे हाईकोर्ट, याचिका पर कल देना होगा सरकार को जवाब

By: | Last Updated: Thursday, 10 September 2015 11:35 AM

नई दिल्लीः मीट पर बैन के का मामला अब बॉम्बे हाईकोर्ट तक जा पहुंचा है. कोर्ट ने सरकार से इस मामले में हलफनामा देने को कहा है. अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी. मीट पर बैन के खिलाफ मीट कारोबारियों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी. कोर्ट ने कडी टिप्पणी करते हुए कहा कि मांसाहार पर बैन को लेकर भेदभाव क्यों. इस बारे में सरकार को जवाब देना होगा.

 

आपको बता दें, जैन समुदाय के पर्यूषण पर्व को देखते हुए राज्यसरकार ने राज्य में मीट की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया था जिसका मनसे और शिवसेना ने भी विरोध किया है. वहीं शिवसेना और मनसे ने गुरूवार को मुंबई में मांस की बिक्री पर प्रतिबंध के खिलाफ प्रदर्शन भी किया. इससे पूर्व शिवसेना ने भी जैन समुदाय को चेतावनी भरे लहजे में कहा था कि जैन समाज मुसलमानों की तरह तुष्टिकरण के रास्ते पर न चलें. वहीं जैन समुदाय मीट बैन पर अडा हुआ है. शिवसेना के मुखपत्र सामना में उद्धव ठाकरे ने लिखा था कि अहिंसा के नाम पर किसी को उसके भोजन से दूर करना भी एक तरह की हिंसा है. उन्होंने लिखा है कि जैन समुदाय अपनी बात मनवाने के लिए जिद पर इसलिए अडा है कि क्योंकि अर्थव्यवस्था में उनका दखल है, लेकिन ये शिवाजी का महाराष्ट्र है और ऎसे लोगों से निपटना हमें आता है.

 

शिवसेना-मनसे कर रही है जनकर विरोध

शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) आदेश का उल्लंघन करते हुए व्यस्त दादर इलाके में मांस बिक्री के लिए स्टाल लगा रही है.

 

राज ठाकरे नेतृत्व वाली मनसे ने सांकेतिक प्रदर्शन के तौर पर मुर्गे का मांस बेचने के लिए एक स्टॉल लगाया है. शिवसेना र्कायकर्ताओं ने मुंबई में चार दिन 10, 13, 17 और 18 सितंबर को प्रतिबंध के लिए निकाय संस्था के नोटिस को फाड़ दिया. जैन समुदाय इस अवधि में धार्मिक बीजेपी ने जहां प्रतिबंध का बचाव किया है वहीं उसकी सहयोगी शिवसेना के साथ ही विपक्षी मनसे और कांग्रेस, राकांपा ने इस पर विरोध प्रकट करते हुए आरोप लगाया कि बीजेपी 2017 में अहम एमसीजीएम चुनावों के पहले वोटरों को धुव्रीकृत करने और समाज के एक धड़े के तुष्टीकरण की कोशिश कर रही है.

 

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनकी पार्टी सुनिश्चित करेगी कि मांस की बिक्री पर प्रतिबंध नहीं हो.

 

विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले मनसे पाषर्द संदीप देशपांडे ने कहा, ‘‘हम शिवसेना कार्यकर्ताओं के साथ दादर इलाके में मांस बेच रहे थे तभी वहां पुलिस पहुंची और धक्का देना शुरू कर दिया. बाद में हमें हिरासत में ले लिया गया. लेकिन, हम प्रतिबंध के खिलाफ अपना आंदोलन तब तक जारी रखेंगे जब तक कि सरकार और निकाय संस्था आदेश वापस नहीं लेती.’’ देशपांडे ने कहा कि पार्टी प्रतिबंध के सभी दिन शहर भर में मांस का स्टॉल लगाएगी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: As Meat Ban Begins in Mumbai, a Court Case by Mutton Sellers
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Bombay court Meat Ban Mutton Seller
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017