जानें क्यों 11 में 5 विश्वकप का विजेता अकेला ऑस्ट्रेलिया है?

By: | Last Updated: Sunday, 29 March 2015 11:53 AM
asutralia

नई दिल्लीः आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2015 को जीत कर ऑस्ट्रेलिया ने एक बार फिर साबित कर दिया कि विश्व की नंबर वन टीम हर मायने में वही है. इस विश्व कप को सिर्फ इसलिए याद नहीं किया जाएगा कि ऑस्ट्रेलिया ने इसे पांचवीं बार जीता बल्कि इसे इस तरह देखा जाएगा कि 1999, 2003, 2007 के बाद जो बादशाहत उससे भारत ने 2011 में छिनी थी उसे उसने अपने ही घर में वापस हासिल कर लिया है.

 

ऑस्ट्रेलिया ने एक बार फिर पूरे विश्व क्रिकेट को दिखा दिया है कि क्यों वो विश्व क्रिकेट की सबसे बड़ी टीम है. अपने ही देश में विश्व कप जीतने वाली दूसरी टीम बनी ऑस्ट्रेलिया को लेकर किसी ने नहीं सोचा था कि वो विश्वविजेता बनेगी. लेकिन लीग मैच के बाद इस टीम ने जो खेल दिखाया उससे ये लगने लगा कि ऑस्ट्रेलिया एक बार फिर विश्व कप जीतने वाली है.

 

क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 6 विकेट से हराया. उसके बाद उन्होंने सात मैच जीतकर सेमीफाइनल में पहुंची 2011 की विजेता टीम भारत को 95 रन से रौंदते हुए फाइनल का टिकट कटाया था. फाइनल में उसके सामने वो टीम थी जिसने इस टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं हारा था और जिसे हर कोई विश्व विजेता मान रहा था. दिग्गजों के साथ-साथ वो सारे क्रिकेट फैन्स भी न्यूजीलैंड के साथ थे जिन्हें ऑस्ट्रेलिया ने हराया था लेकिन इस सभी को मात देते हुए ऑस्ट्रेलिया ने अपने सबसे बड़े और प्रसिद्ध मैदान पर विश्व कप ट्रॉफी उठा ही लिया.

 

ताकत – 

विश्व विजेता ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी ताकत हर फील्ड में टीम की गहराई है. फिर चाहे बात गेंदबाजी की हो या फिर बल्लेबाजी की. टीम ने हर तरह से चैंपियन बनने की क्षमता दिखाई. क्या कोई टीम इस तरह सोच भी सकती थी कि विश्व कप में जिस कप्तान के नेतृत्व में टीम ने अपना पहला मैच खेला वो खिलाड़ी फिर विश्व कप में नहीं दिखा. ज़ॉर्ज बैली को बाहर रखकर टीम मैनेजमेंट ने साफ संकेत दे दिए थे कि टीम में उसी खिलाड़ी की जगह होगी जो अपने दम पर टीम में जगह बनाए.

 

गेंदबाजी में दम –

टीम को विश्व कप दिलाने में सबसे बड़ी भूमिका उसके गेंदबाज ने निभाई. इसी का परिणाण था कि मिचेल स्टार्क को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया. अकेले अपने दम इन्होंने ऑस्ट्रेलिया को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई ऐसा मिबलकुल भी नहीं है. भले ही 22 विकेट लेने वाले स्टॉर्क नंबर वन गेंदबाज बने लेकिन उन्हें विकेट टेकर गेंदबाज बनाने में दूसरे गेंदबाजों का भी हाथ रहा. हर टीम इससे पहले जॉनसन से ही बचना चाहती थी. जॉनसन ने सिर्फ 15 विकेट चटकाए लेकिन जॉनसन के साथ हेजलवुड, कमिंस, और फोक्नर ने जो प्रेशर बनाया उसका फल सीधे इस तेज तर्रार गेंदबाज को विकेट के रूप में मिला. हर गेंदबाद ने जरूरत के समय टीम को विकेट निकाल कर दिया.

 

 

बल्लेबाजों का जलवा-

गेंदबाजों के तरह ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाजी में भी वो गहराई देखने को मिली जो एक विश्व विजेता टीम में होती है. डेविड वार्नर और फिंच के रूप में टीम के पास हर गेंदबाज का तोड़ था. तो पहले नंबर पर स्टीवन स्मिथ के रूप में सबसे बड़ा खिलाड़ी था. माइकल क्लार्क हालांकि फॉर्म में नहीं दिखे लेकिन अनुभवी खिलाड़ी ने जाते-जाते फाइनल मुकाबले में एक शानदार और यादगार पारी खेली. ऑस्ट्रेलिया के पास विश्व क्रिकेट का सबसे बड़े विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में ग्लेन मैक्सवेल नामका तूफान था जो किसी भी गेंदबाज को किसी भी जगह मार सकने का माद्दा रखता है. इसी विश्व कप में मैक्सवेल के बल्ले से ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट इतिहास की सबसे तेज पारी खेली. स्मिथ ने सबसे अधिक 402 रन बनाए. तो वहीं डेविड वार्नर ने 345 रन बनाकार टीम को अच्छी शुरूआत दी.

 

फाइनल में जीत-

फाइनल मुकाबले में जीत का सबसे बड़ा कारण ऑस्ट्रेलिया का होम ग्राउंड में खेलना था. मेनबर्न के बड़े मैदान में कीवी खिलाड़ियों को काफी मिश्क्कत उठानी पड़ी. गेंद बांउंड्री तक नहीं जा रही थी और न ही उनके बल्लेबाजों ने तीन रन लेकिन की कोशिश ही दिखाई. लो स्कोर पर सिमटने के बाद गेंदबाजों को भी सपाट मैदान पर गेंदबाजी करने में दिक्कत हुई और उसका फायदा ऑस्ट्रेलिया ने विश्व विजेता बन कर उठाया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: asutralia
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

ब्रिक्स सम्मेलन: तनातनी के बीच सितंबर के पहले हफ्ते में चीन जाएंगे पीएम मोदी
ब्रिक्स सम्मेलन: तनातनी के बीच सितंबर के पहले हफ्ते में चीन जाएंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद को लेकर चीन युद्ध का माहौल बना रहा है. इस तनाव के माहौल में पीएम नरेंद्र...

गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे हुई ?
गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे...

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक नहीं लगाई
योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री...

ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी
ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी

भागलपुर:  बिहार में जिस सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरम है उसको लेकर बड़ा खुलासा किया है. एबीपी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017