उरी में मारे गए आतंकियों के पाकिस्तानी होने के पुख्ता सबूत मिले

By: | Last Updated: Saturday, 6 December 2014 7:34 AM

श्रीनगर: श्रीनगर से करीब सौ किलोमीटर दूर जम्मू कश्मीर के उरी में कल हुए आतंकी हमले में पाकिस्तान के हाथ होने के पुख्ता सबूत मिले हैं. कल उरी में भारतीय सेना के कैंप पर आत्मघाती हमलावरों ने हमला किया था. इस हमले में 8 सेना के जवान और 4 पुलिस के जवान शहीद हुए थे. सुरक्षा बलों ने यहां 6 आतंकी मार गिराये थे. सभी छ: आतंकियों के पाकिस्तानी होने के सबूत मिले हैं.

 

आतंकियों के कब्जे से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद हुआ. आतंकियों के पास से खाने के कई पैकेट मिले हैं जिसपर चिकन अचारी लिखा हुआ है. ये पाकिस्तानी से जुड़े चिह्न हैं. एक सीनियर सैन्य अधिकारी ने यहां बताया, ‘मुठभेड़ स्थल से बरामद खाद्य पैकेटों का इस्तेमाल अमूमन पाकिस्तानी सेना करती है.’

 

सूखे मेवे भी आतंकियों के पास से मिले हैं. आशंका जताई जा रही है कि आतंकी कैंप पर कब्जा करने के इरादे से घुसे थे और सेना की तोपों पर कब्जा करना चाहते थे.

 

सेना के सूत्रों के मुताबिक, ये खाने के पैकेट पाकिस्तान के बने हुए हैं. जो इस बात को दर्शाता है कि ये आतंकी पाकिस्तान से आए हैं. आतंकियों ने भारतीय सेना की यूनिफार्म पहन रखी थी .

 

घटनास्थल से बरामद अन्य चीजों में 55 मैग्जीन के साथ छह एके राइफल, दो शॉटगन, दो नाइट विजन दूरबीन, चार रेडियो सेट, इस्तेमाल नहीं किए गए 32 ग्रेनेड और एक मेडिकल किट मिला है.

 

शुक्रवार को उरी में मारे गए आतंकी भारतीय सेना की वर्दी में थे, सूत्रों के मुताबिक आतंकी उरी में सेना के कैंप पर कब्जा करना चाहते थे, आतंकी भारतीय तोपों पर भी कब्जा जमाना चाहते थे.