कपिल सिब्बल का पीएम पर पलटवार, कहा- मोदी जी के कहने से नहीं बनेगा राम मंदिर

कपिल सिब्बल का पीएम पर पलटवार, कहा- मोदी जी के कहने से नहीं बनेगा राम मंदिर

पीएम ने कहा, ‘’आप दलील रख सकते हैं लेकिन सुप्रीम कोर्ट में ये कहने की हिम्मत कर रहे हो कि साल 2019 के चुनाव तक सुनवाई टाल दी जाए, क्या आप (कांग्रेस) चुनाव के लिए राम मंदिर को लटकाना चाहते हो?’’

By: | Updated: 06 Dec 2017 10:26 PM
ayodhya dispute bjp on haji mehboob sunnu Waqf board statement, Pm narendra modi and Amit shah comment

नई दिल्ली: गुजरात विधानसभा का चुनावी पारा चढ़ता जा रहा है. अब बीजेपी के सियासी तरकश में राम मंदिर मुद्दा नये ब्रह्मास्त्र के रूप में मिल गया है. इस मुद्दे का चुनावी महत्व आप महज इस बात से निकाल सकते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल से ही इस मुद्दे पर कांग्रेस पर लगातार हमलावर हैं.


पीएम मोदी के तेवर देख पलटा वक्फ बोर्ड
कपिल सिब्बल की सुप्रीम कोर्ट में टिप्पणी पर गुजरात चुनाव में प्रधानमंत्री के तेवर देख अब सुन्नी वक्फ बोर्ड पलट गया है. वक्फ बोर्ड के पक्षकार हाजी महबूब अंसारी और जफरयाब जिलानी ने कहा है कि वो सिब्बल की मांग का समर्थन करते हैं. जफरयाब जिलानी ने कहा कि जो बात कपिल सिब्बल ने कही है वही बात हमारी भी है. देश का अभी जो माहौल है उस में सुनवाई नहीं होनी चाहिए.


सिब्बल के बयान पर पीएम और बीजेपी ने क्या था हमला
दरअसल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था राम मंदिर पर सुनवाई जुलाई 2014 तक टाल दी जाए. जब कोर्ट ने सिब्बल से पूछा कि क्या आपके बयान को रिकॉर्ड पर लिया जाए तो उन्होंने मना कर दिया था. सिब्बल के इसी बयान को प्रधानमंत्री और बीजेपी ने मुद्दा बना लिया.


पीएम को देश नहीं, मंदिर की चिंता है: सिब्बल
कपिल सिब्बल ने पीएम मोदी पर पलटवार किया है. सिब्बल ने कहा, "प्रधानमंत्री को देश की नहीं मंदिर की चिंता है. उन्होंने देश से जो वादे किए हैं पहले वो पूरे करें. राम मंदिर मोदी के कहने से नहीं भगवान के कहने से बनेगा, फिलहाल मामला अभी कोर्ट में हैं. मुझे दुख है कि गुजरात में बेरोजगारी का मुद्दा है, किसान की आत्महत्या का मुद्दा है. इन बातों की मोदी जी को फिक्र नहीं है उन्हें इस बात की फिक्र है कि अदालत में क्या हुआ. क्या मेरे कोर्ट या किसी और के कोर्ट में पेश होने से ये दिक्कतें खत्म हो जाएंगी. मोदी जी जो बयानबाजी कर रहे हैं वो देश के हित में नहीं है.''


सिब्बल के बयान से कांग्रेस ने किया किनारा
हालांकि सिब्बल पर छिड़े संग्राम में कांग्रेस साफ कर चुकी है कि वह वकील हैं और वो किसकी पैरवी करते हैं, ये उनका निजी फैसला है. आज कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया. कांग्रेस ने कहा कि गुजरात पर जवाब ना देना पड़े इसलिए नरेंद्र मोदी और अमित शाह बंटवारे की राजनीति कर रहे हैं.


हाजी महबूब के बयान पर पीएम ने सिब्बल को घेरा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या विवाद के एक पक्षकार हाजी महबूब अंसारी के बयान के आधार पर फिर कांग्रेस को घेरा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अहम मुद्दों को ऐसे ही लटकाए रहती है. पीएम ने कहा कि मैं सुन्नी वक्फ बोर्ड का आभार व्यक्त करता हूं, आज सुन्नी वक्फ बोर्ड ने साफ कर दिया कि कपिल सिब्बल उनके वकील जरूर हैं लेकिन कोर्ट में जो कुछ भी उन्होंने कहा वो गलत कहा है, जिस देश में शिया वक्फ बोर्ड, सुन्नी वक्फ बोर्ड और राममंदिर वाले शांति से कोई रास्ता निकालना चाहते हैं उसमें वो रोड़े अटकाने का काम कर रहे हैं . दरअसल हाजी महबूब अंसारी के उस बयान पर तूफान मच गया कि उन्होंने कपिल सिब्बल से सुनवाई टालने की बात नहीं कही थी. हाजी महबूब ने एबीपी न्यूज़ से कहा, "मैं चाहता हूं कि जल्द से जल्द इस मसले का हल किया जाए." हाजी महबूब का कहना है, "कपिल सिब्बल ने किस वजह से ये कह दिया कि इसकी सुनवाई 2019 के बाद हो. उसे मैं गलत समझता हूं. मैं नहीं चाहता कि 1992 की तारीख फिर दोहराई जाए. कपिल सिब्बल हमारे वकील जरूर हैं, लेकिन वो कांग्रेस नेता भी हैं और हम लोगों को मालूम नहीं थी कि कोर्ट में वो ऐसी बात करेंगे." वो आगे कहते हैं कि राजनीति अलग चीज़ है और मस्जिद का मसला अलग है. कुछ की आस्था जुड़ी है तो कुछ के ईमान का सवाल है. इस मसले का जल्द से जल्द हल हो. पूरी डिटेल खबर यहां पढ़ें


राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस का शर्मनाक रूख-अमित शाह
Captureअमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा कि वह कपिल सिब्बल के कोर्ट में दिये बयान से सहमत नहीं है. मतलब यह तय है कि मिस्टर सिब्बल अपने हाई कमान के आशीर्वाद से कांग्रेस नेता के रूप में बोले हैं. राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस का यह रुख शर्मनाक है.


आज अहमदाबाद में धुंधाआ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर मामले को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कांग्रेस से पूछा है कि साल क्या 2019 में सुन्नी वक्फ बोर्ड चुनाव लड़ेगा या कांग्रेस?


क्या आप चुनाव के लिए राम मंदिर को लटकाना चाहते हो?- पीएम मोदी


रैली में पीएम मोदी ने कहा, ‘’कांग्रेस के सांसद कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में मुस्लिम समाज का पक्ष रख रहे हैं. ये उनका हक है, मुझे इसपर कोई शिकायत नहीं है. वह बाबरी मस्जिद बचाने के लिए वकालत कर रहे हैं, मुझे कोई समस्या नहीं है.’’ उन्होंने आगे कहा, ‘’आप दलील रख सकते हैं लेकिन सुप्रीम कोर्ट में ये कहने की हिम्मत कर रहे हो कि साल 2019 के चुनाव तक सुनवाई टाल दी जाए, क्या आप (कांग्रेस) चुनाव के लिए राम मंदिर को लटकाना चाहते हो?’’


चुनाव सुन्नी वक्फ बोर्ड लड़ेगा या कांग्रेस पार्टी लड़ेगी- पीएम मोदी


पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘’कांग्रेस ने इसी तरह देश की दुर्दशा की है, मुझे अब समझ में आया.’’ उन्होंने कहा, ‘’कांग्रेस कह रही है कि कपिल सिब्बल ने कोर्ट में जो कहा वो उनकी निजी राय है. आप ये बताइए कि चुनाव सुन्नी वक्फ बोर्ड लड़ेगा या कांग्रेस पार्टी लड़ेगी. राम मंदिर का फैसला सुप्रीम कोर्ट करेगा और आप राजनीतिक नफा नुकसान में लगे हो.’’


क्या है पूरा मामला?


दरअसल अयोध्या विवाद को लेकर कल सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कल सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखा. कपिल सिब्बल समेत तीन वकीलों ने कल सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई जुलाई साल 2019 के बाद करने की मांग की है. कपिल सिब्बल की इसी मांग पर बीजेपी ने हमला बोला है और राहुल गांधी से राम मंदिर पर अपना स्टैंड साफ करने की अपील की है.


22 साल के कुशासन का मोदी जी के पास जवाब नहीं है- कांग्रेस
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ''चुनाव गुजरात में हो रहा है लेकिन आप कभी मुगल की, कभी औरंगजेब की बात करते हैं तो कभी मुहम्मद बिन तुगलक की बात करते हैं. गुजरात के किसी मुद्दे की चर्चा नहीं करते क्योंकि बीजेपी के 22 साल के कुशासन का मोदी जी और अमित शाह जी के पास कोई जवाब नहीं है.''


क्या प्रधानमंत्री के लिए मंदिर अब पत्थर हो गए हैं- कांग्रेस
प्रधानमंत्री पर सीधा हमला बोलते हुए सुरजेवाला ने कहा, ''अगर गुजरात के चुनाव में ईश्वर का घोर अपमान कोई कर रहा है तो वो नरेंद्र मोदी स्वयं हैं. उन्होंने दो दिन पहले उन्होंने राहुल गांधी जी के बारे में कहा कि वो हर पत्थर को पूज रहे हैं. हम उनसे पूचना चाहते हैं कि मोदी जी क्या द्वारकाधीश जैसा पवित्र संस्थान अब आपके लिए पत्थर है. क्या चोटीला में चामुंडा माता का मंदिर आपके लिए पत्थर है. क्या सोमनाथ भगवान का शिवलिंग मोदी जी के लिए पत्थर है. क्या अम्बा जी की शक्तिपीठ और मूर्ति मोदी जी के लिए पत्थर है.''

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: ayodhya dispute bjp on haji mehboob sunnu Waqf board statement, Pm narendra modi and Amit shah comment
Read all latest Gujarat Assembly Election 2017 News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बुलंदशहर: दो समुदायों के लोग आए आमने-सामने, जम कर हुई पत्थरबाजी