अयोध्या कांड में नया विवाद, पूर्व बीजेपी सांसद का दावा- 'मेरे कहने पर बाबरी ढांचा गिरा'

अयोध्या कांड में नया विवाद, पूर्व बीजेपी सांसद का दावा- 'मेरे कहने पर बाबरी ढांचा गिरा'

By: | Updated: 21 Apr 2017 07:52 PM

नई दिल्ली : अयोध्या में विवादित ढांचा गिराये जाने के मामले में बीजेपी के पूर्व सांसद और रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य डॉक्टर रामविलास वेदांती ने चौंकाने वाला दावा किया है. उन्होंने कहा है कि 'मेरे ही कहने पर बाबरी का ढांचा गिराया गया था.' इसके साथ ही उन्होंने यह भी कह दिया कि 'इसके लिए चाहे मुझे फांसी की सजा हो जाय.'


जब तक नहीं तोड़ेंगे तब तक मंदिर का निर्माण नहीं होगा : वेदांती


उन्होंने कहा कि 'घटना के दिन कारसेवक लोग हमारे वशिष्ठ भवन में गए. हमसे पूछा कि वेदांती जी क्या करना है ? हमने कहा, उस खंडार को जब तक नहीं तोड़ेंगे तब तक मंदिर का निर्माण नहीं होगा. रात को 11:00 बजे माननीय प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव का फोन मेरे पास आया, उस समय लैंडलाइन फोन था.'


यह भी पढ़ें : राम मंदिर बनवाने ईंट लेकर अयोध्या पहुंचा मुस्लिम कारसेवक संघ


नरसिंह राव जी ने हमसे पूछा वेदांती जी कल क्या होगा ?


इसके बाद उन्होंने कहा कि 'नरसिम्हा राव जी ने हमसे पूछा वेदांती जी कल क्या होगा ? हमने कहा हमने कारसेवकों से कह दिया है कि जब तक विवादित ढांचा नहीं तोडेंगे, उस खंडार को नहीं तोड़ेंगे तब तक मंदिर का निर्माण नहीं होगा. तब नरसिम्हा राव ने कहा टूट जाने दो जो होगा देखा जाएगा.'


विध्वंस मामले में अदालत के फैसले के बाद यह बयान आया है


गौरतलब है कि बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में अदालत के फैसले के बाद यह बयान आया है. फैसले के अनुसार इस मामले में बीजेपी/वीएचपी के बड़े नेताओं पर आपराधिक साज़िश का मुकदमा चलेगा. सुप्रीम कोर्ट ने तकनीकी आधार पर राहत पाने वाले इन नेताओं पर मुकदमा चलाने में आ रही अड़चन दूर कर दी है.


यह भी पढ़ें : ताज महल में विदेशी मॉडल्स के भगवा दुपट्टे उतरवाने के मामले ने पकड़ा तूल


अलग-अलग मुकदमों को एक साथ लखनऊ में चलाने का हुक्म दिया


कोर्ट ने लखनऊ और रायबरेली में चल रहे अलग-अलग मुकदमों को एक साथ लखनऊ में चलाने का हुक्म दिया. कोर्ट ने ये भी कहा कि मुकदमे का निपटारा 2 साल में कर दिया जाए. इस फैसले का असर लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत 13 नेताओं पर पड़ेगा. सीबीआई ने कुल 21 नेताओं के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर