नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी की एनजीओ पर उठे सवाल

By: | Last Updated: Friday, 10 October 2014 4:20 PM
Bachpan Bachao Andolan Was Anything But Nobel-Worthy

नई दिल्लीः नॉर्वेजियन नोबेल कमेटी ने आज नोबेल शांति पुरस्कार के लिए भारत के कैलाश सत्यार्थी और पाकिस्तान की मलाला यूसुफजई को संयुक्त रुप से चुना है. ‘बचपन बचाओ आंदोलन’के जरिए बेसहारा और बाल मजदूरों के भविष्य को संवारने वाले कैलाश सत्यार्थी को मिले इस नोबेल से पूरे देश में खुशी की लहर दौड़ रही है. लेकिन इन सबके बीच फोर्ब्स मैगजीन में काम करने वाली महिला पत्रकार ने इस पुरस्कार पर सवाल उठा दिया है.

 

फोर्ब्स पत्रिका के लिए लिखने वाली मेघा बहरी ने अपने पुराने समय को याद करते हुए लिखा है कि कैलाश सत्यार्थी को मिला यह पुरस्कार नोबेल योग्य नहीं है.

 

अपने लेख में उन्होंने लिखा-  ”2008 में फोर्ब्स के लिए ‘पश्चिमी कंपनियों द्वारा भारत में बाल श्रम के उपयोग’ पर एक आर्टिकल लिख रही थी और इस सिलसिले में मैं बचपन बचाओ आंदोलन से मिली (सत्यार्थी से नहीं इस संगठन के बड़े आदमी से) जिन्होंने मुझे बताया कि गारमेंट्स के अलावा भी एक सेक्टर हैं जहां धड़ल्ले से बाल श्रम होता है और वहां बच्चों की स्थिति ठीक नहीं है. वो है उत्तर प्रदेश का कार्पेट(कालीन) बेल्ट जहां गांव के हर घर के बच्चे दूसरे देशों को भेजे जाने वाले कालीन को बनाने में लगे हैं. मैंने उनसे इसे दिखाने को कहा.”

 

इसके बाद ”हम दिल्ली से निकले और कुछ गांव गए लेकिन सिर्फ बड़े लोगों को ही कालीन बनाते देखा. मेरे मन में सवाल उठने लगे और मैं और ज्यादा सवाल करने लगी. फिर कुछ देर बाद हमारी कार एक घर के बाहर रूकी, उन्होंने मुझे कार में ही रूकने को कहा लेकिन मैं उनके पीछे चल पड़ी. मैंने देखा कि दो बच्चे करघे के बगल मैं बैठे थे. दोनों बच्चों में खास बात यह थी कि वे स्कूल ड्रेस में थे. फिर मैं वहां से खुद ही निकल पड़ी और कई जगह देखा. मुझे कई बच्चे दिखे जो घंटो छोटे से रकम पर काम करते हैं.”

 

इस पूरे घटना पर लिखते हुए उन्होनें इसके पीछे की मंशा पर भी सवाल उठाया है. उन्होंने लिखा कि ”जितने बच्चे को आप बचाते हुए दिखाते हैं विदेशों से उतना ही बड़ा चंदा आपको मिलता है.” उन्होंने लिखा कि इन सबका ये मतलब नहीं है कि भारत में बाल श्रम नहीं है, ये है, बड़े पैमाने पर है.

 

हालांकि उन्होंने अपने लेख में सीधे तौर पर कैलाश सत्यार्थी के कामों पर सवाल नहीं उठाया है. उन्होंने लिखा कि ”बचपन बचाओ आंदोलन ने भी इस पर काम किए होंगे, अच्छे काम किए होंगे लेकिन उन्हें जिस तरह से हीरो बनाया जा रहा है वैसा नहीं है.” 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bachpan Bachao Andolan Was Anything But Nobel-Worthy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017