बादल सरकार आतंकियों के साथ रहमदिली दिखा रही है!

By: | Last Updated: Wednesday, 7 January 2015 7:17 AM

नई दिल्ली: पंजाब के सीएम रहे बेअंत सिंह की हत्या के दोषी जगतार सिंह तारा की गिरफ्तारी 10 साल बाद हुई है लेकिन आतंकियों के बारे में पंजाब सरकार की रहमदिली पर विवाद खड़ा हो गया है. बादल सरकार ने कई राज्य सरकारों को चिट्ठी लिखी है कि जिन्होंने अपनी सजा पूरी कर ली है उन्हें रिहा कर दिया जाए. चिट्ठी 13 ऐसे कैदियों के बारे में हैं जो पंजाब के हैं.

 

पंजाब से जुड़े जेल में बंद अपराधियों पर बादल सरकार की यह चिट्ठी अब विवादों में घिर गई है. बादल सरकार ने राज्य सरकारो को चिट्ठी लिखकर कहा है कि, ”जिन कैदियों की सजा पूरी हो गई है उन्हें रिहा कर दिया जाए. पंजाब सरकार की तरफ से यह चिट्ठी ऐसे वक्त लिखी गई है जब पंजाब के सीएम रहे बेअंत सिंह की हत्या के दोषी जगतार सिंह तारा की गिरफ्तारी कल ही थाइलैंड से 10 साल बाद हुई है.”

 

पंजाब सरकार ने जिन 13 कैदियों की रिहाई के लिए चिट्ठी लिखी है उनमें पूर्व सीएम बेअंत सिंह के दो साथी भी शामिल हैं.

 

एबीपी न्यूज़ संवाददाता जगविंदर सिंह पटियाल ने बताया कि, ”सजा काट रहे इन अधिकतर कैदियों पर आतंकवाद के मामले ही हैं. इसचिट्ठी क् पीछे जो सियासत है वह अंबाला में चल रहा एक धरना है, एक शख्स पिछले 55 दिन से धरना रखा हुआ है उसने कहा है कि वह यह धरना तब तक खत्म नहीं करेना जब तक उन सिक्खों को रिहा नहीं किया जाता जो अपनी सजाएं पूरी करने के बाद भी जेलों में बंद हैं. यह मामला एक सियासी मोड़ ले चुका है. वह इस मुद्दे को जोक-शोर से उठा रहे हैं. उन्होंने पिछले साल भी इस मुद्दे को उठाया था तब उन्हें इस पर कार्यवाही करने की बात कह कर शांत करवा दिया गया था. अब वह एक बार फिर से 55 दिनों से भूख हड़ताल पर हैं सरकार लगातार उनकी भूख हड़ताल तुड़वाने की कोशिश कर रही है. लेकिन कामयाब नहीं होने पर अब राज्य सरकारों को यह चिट्ठी लिखी गई है.”

 

नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर देखें वीडियो-

अपराधियों पर बादल सरकार की रहमदिली!

 

संबंधित खबरें-

बेअंत सिंह का हत्यारा जगतार सिंह तारा थाइलैंड में गिरफ्तार 

बेअंत सिंह के हत्यारे की फांसी पर सियासत 

बेअंत के कातिल के लिए राष्ट्रपति को दया याचिका 

बेअंत सिंह के हत्यारे क�� समर्थन में अकाल तख्त! 

बेअंत सिंह के हत्यारे को रिहा करने की मांग  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: badal_government_writes_letter
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017