पीएम ने किया जनधन योजना का एलान, गरीबों के लिए बैंक एकाउंट, एक लाख का बीमा

By: | Last Updated: Friday, 15 August 2014 4:03 AM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के गरीबों तक बैंकिंग सुविधा और बीमा सुरक्षा पहुंचाने के लिये आज ‘प्रधानमंत्री जनधन योजना’ की घोषणा की. इस योजना के तहत हर गरीब परिवार का बैंक खाता खोला जाएगा, जिसमें खाताधारक को एक लाख रपये के जीवन बीमा का संरक्षण होगा.

 

मोदी ने 68वें स्वाधीनता दिवस पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में इस योजना की घोषणा करते हुए कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जनधन योजना के माध्यम से हम देश के गरीब से गरीब लोगों को बैंक खाता की सुविधा से जोड़ना चाहते हैं.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश के करोड़ों परिवार हैं जिनके पास मोबाइल फोन तो हैं लेकिन बैंक में खाता नहीं है. उन्होंने कहा कि किसान साहूकार का कर्ज नहीं दे पाता तो मजबूरन आत्महत्या कर लेता है. यह योजना ऐसे परिवारों के लिये सोचकर बनायी गयी है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘देश के आर्थिक संसाधन गरीब के काम आये, इसकी शुरूआत यहीं से होती है.’’ मोदी ने इसे गरीबों के लिये एक अवसर बताते हुए कहा, ‘‘यही तो है, जो खिड़की खोलता है.’’ प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि इस योजना के तहत जो खाते खोले जाएंगे, उन्हें डेबिट कार्ड दिया जाएगा और इसके साथ खाताधारक का एक लाख रपये का बीमा भी कराया जाएगा ताकि ऐसे व्यक्ति के जीवन में कोई संकट आये तो उसके परिजन को एक लाख रपये का बीमा मिल सके.

 

केंद्रीय मंत्रिमंडल पहले ही दो चरण वाली इस वित्तीय समावेशी योजना को मंजूरी दे चुका है. इसके तहत 15 करोड़ गरीब लोगों के बैंक खाते खाले जाएंगे जिसमें 5,000 रपये की ओवरड्राफ्ट सुविधा तथा एक लाख रपये के दुर्घटना बीमा संरक्षण की सुविधा होगी. सरकार मिशन मोड में इस योजना को आगे बढ़ाएगी. इसमें चिन्हित 7.5 करोड़ घरों को अगस्त 2018 तक दो खाते उपलब्ध कराने की बात कही गयी है.

 

योजना की मुख्य विशेषता ऐसे खातों को 5,000 रपये की ओवरड्राफ्ट सुविधा उपलब्ध कराना, एक लाख दुर्घटना बीमा कवर के साथ रूपे डेबिट कार्ड तथा बैंक प्रतिनिधि (बिजनेस कारेसपेंडेन्ट) को 5,000 रपये का पारिश्रमिक देना शामिल है. बैंक प्रतिनिधि खाता धारकों तथा बैंक के बीच अंतिम संपर्क के रूप में काम करता है.