डाक्यूमेंट्री विवाद: आपत्तिजनक बयान देने वाले वकीलों को बार काउंसिल ने दिया नोटिस

By: | Last Updated: Saturday, 7 March 2015 4:20 AM
BCI issues show cause notices to lawyers for anti-women

नई दिल्ली: बार कौंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) ने 16 दिसंबर को हुए सामूहिक बलात्कार के मामले में बचाव पक्ष के दो वकीलों को कथित रूप से महिला विरोधी आपत्तिजनक टिप्पणियां करने पर कल देर रात कारण बताओ नोटिस जारी किए.

 

बीसीआई के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने कहा, ‘‘हमने एम एल शर्मा और ए पी सिंह को बीबीसी की डाक्यूमेंट्री में कथित टिप्पणियां करने के मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं. ’’

 

बीसीआई ने अपनी कार्यकारिणी समिति की बैठक के बाद करीब आधी रात को यह निर्णय लिया. समिति ने पाया कि ‘‘प्रथमदृष्ट्या’’ यह इन वकीलों के खिलाफ पेशेवर कदाचार का मामला है.

 

वकीलों को अधिवक्ता अधिनियम के प्रावधान के तहत नोटिस जारी किए गए हैं और यदि बीसीआई उनके जवाबों से संतुष्ट नहीं होती है तो वकालत करने के उनके लाइसेंस रद्द किए जा सकते हैं.

 

इस बीच, वकील शर्मा ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने किसी से कुछ भी गलत नहीं कहा है.

 

बीबीसी की सामूहिक बलात्कार संबंधी विवादास्पद डाक्यूमेंट्री में शर्मा ने कथित रूप से कहा था कि यदि लड़कियां उपयुक्त सुरक्षा के बिना बाहर निकलती हैं तो उनके साथ ऐसी घटनाएं होगी ही.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BCI issues show cause notices to lawyers for anti-women
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017