खुल गया 'राज': केजरीवाल ने कपिल मिश्रा को क्यों हटाया?

By: | Last Updated: Wednesday, 2 September 2015 12:04 PM
Behind story on Kapil Mishra’s exit

नई दिल्ली: केजरीवाल सरकार के पूर्व कानून मंत्री कपिल मिश्रा को लेकर एक खास जानकारी है. सूत्रों से खबर मिली है कि वो पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती के खिलाफ कार्रवाई के पक्ष में थे. सूत्रों का दावा है कि इसी वजह से कपिल मिश्रा को कानून मंत्री के पद से हटाया गया है. हालांकि आप का दावा है कि मनीष सिसोदिया कपिल मिश्रा से ज्यादा काबिल हैं इसलिए उन्हें कानून मंत्री बनाया गया है.

दो महीने पहले जब कपिल मिश्रा को कानून मंत्री बनाया तो उस समय उनमें कोई कमी नजर नहीं आयी लेकिन अब उनकी तुलना मनीष सिसोदिया से की जा रही है.

 

आप के अंदर की खबर रखनेवालों की मानें तो सोमनाथ भारती के मामले की वजह से कपिल मिश्रा को कानून मंत्री के पद से हटाया गया है. आपको बता दें कि खिड़की एक्सटेंशन केस में सोमनाथ भारती के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है और उस मामले में आगे की कार्रवाई के लिए दिल्ली पुलिस ने उप राज्यपाल नजीब जंग से अनुमति मांगी थी.

 

सूत्रों के मुताबिक उप राज्यपाल ने दिल्ली पुलिस को सोमनाथ भारती के खिलाफ कार्रवाई की अनुमति दे दी है और वो फाइल केजरीवाल सरकार के पास है. सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल सरकार सोमनाथ भारती के खिलाफ कार्रवाई नहीं चाहती है जबकि कपिल मिश्रा सोमनाथ भारती के खिलाफ कार्रवाई करना चाहते थे और इसी वजह से उन्हें कानून मंत्री के पद से हटाया गया है.

 

सोमनाथ भारती के मामले के अलावा शीला दीक्षित के मामले को लेकर भी अटकलों का बाजार गर्म है. टैंकर घोटाले की जांच रिपोर्ट अरविंद केजरीवाल को भेजते हुए कपिल मिश्रा ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की थी. खास बात है कि जिस दिन कपिल मिश्रा ने केजरीवाल से शीला दीक्षित के खिलाफ कार्रवाई की अपील की थी, उसी दिन उन्होंने सीएम केजरीवाल को लिखे पत्र में कहा था इस रिपोर्ट के बाद उन्हें पद से हटाया जा सकता है.

 

ये एक बड़ा खुलासा है और मझे डर है कि इस खुलासे के बाद हमारी सरकार को अस्थिर करने की कोशिशें की जाएंगी और मुझे पद से हटाने की कोशिशें की जाएंगी.

 

कपिल मिश्रा ने 28 अगस्त को ही अंदेशा जताया था कि उन्हें पद से हटाया जा सकता है और आखिर में हुआ भी वही. लेकिन इस मामले में एक अलग पेंच है. कपिल मिश्रा कानून मंत्री के पद से तो हटा दिए गये हैं लेकिन वो पहले की तरह दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष बने हुए हैं.

 

इस बीच कपिल मिश्रा ने इस मुद्दे को लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को एक पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने खुद को पद से हटाए जाने के मुद्दे पर कुछ नहीं कहा है, अलबत्ता मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए अऱविंद केजरीवाल की तारीफ जरुर की है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Behind story on Kapil Mishra’s exit
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017