भगवानपुर उपचुनाव में कांग्रेस विजयी, सदन में छुआ बहुमत का आंकड़ा

By: | Last Updated: Wednesday, 15 April 2015 6:56 AM

देहरादून/नई दिल्ली: उत्तराखंड में सत्ताधारी कांग्रेस ने भगवानपुर विधानसभा उपचुनाव में विजय हासिल कर ली है जहां उसकी प्रत्याशी ममता राकेश ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के राजपाल सिंह को 36,909 मतों से हरा दिया.

 

इस जीत के साथ ही सत्ताधारी कांग्रेस ने 70 सदस्यीय विधानसभा मे अपने दम पर 36 सीटों के बहुमत का जादुई आंकड़ा पा लिया है.

 

गत 11 अप्रैल को हुए विधानसभा उपचुनाव में ममता को 59,205 मत हासिल हुए जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी को केवल 22,296 वोट ही मिल पाये.

 

पिछले साल हुए लोकसभा चुनावों में प्रदेश से पांचों सीटें गंवाने के बाद मुख्यमंत्री हरीश रावत की अगुवाई में कांग्रेस ने विधानसभा उपचुनावों में लगातार चौथी जीत हासिल की है.

 

इससे पहले, गत जुलाई में हुए विधानसभा उपचुनावों में सत्ताधारी कांग्रेस ने तीनों सीटों पर भाजपा को परास्त करते हुए विजय हासिल की थी जिनमें से दो सीटें उसने भाजपा के कब्जे से छीनी थीं जबकि धारचुला सीट पर मुख्यमंत्री रावत ने स्वयं चुनाव जीता था.

 

ममता उत्तराखंड के दिवंगत कैबिनेट मंत्री सुरेंद्र राकेश की पत्नी हैं जो गत फरवरी में कैंसर से जंग हार गये थे. राकेश के निधन से रिक्त हुई सीट पर 11 अप्रैल को विधानसभा उपचुनाव हुआ था. भगवानपुर विधानसभा उपचुनाव में जीत हासिल करने के बाद सत्ताधारी कांग्रेस को अपने दम पर सदन में बहुमत का आंकड़ा हासिल हो गया है. अब तक हरीश रावत सरकार को बसपा, उक्रांद और निर्दलीय विधायकों वाले प्रगतिशील लोकतांत्रिक मोर्चे के दम पर सदन में बहुमत था.

 

वर्ष 2012 में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी से महज एक सीट ज्यादा लेकर सत्ता तक पहुंची कांग्रेस ने यह आंकड़ा प्रदेश में हुए सभी विधानसभा उपचुनावों में जीत हासिल कर पाया है.

 

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को 32 और बीजेपी को 31 सीटें मिली थीं. बाद में विजय बहुगुणा के मुख्यमंत्री पद की कमान संभालने के बाद सितारगंज से बीजेपी विधायक किरण मंडल ने बहुगुणा के लिये अपनी सीट से इस्तीफा दे दिया था जिसे जीतने के बाद सदन में कांग्रेस विधायकों की संख्या 33 तक पहुंच गयी.

 

गत फरवरी में प्रदेश सरकार में नेतृत्व परिवर्तन होने के बाद हरीश रावत मुख्यमंत्री बने जिनके लिये उनके करीबी हरीश धामी ने अपनी धारचूला सीट छोड़ दी. पिछले साल हुए लोकसभा चुनावों में दो बीजेपी विधायकों, पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अजय टम्टा के सांसद बन जाने से डोइवाला और सोमेश्वर सीटें भी रिक्त हो गयीं.

 

गत जुलाई में तीनों सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने मुख्य विपक्षी बीजेपी को पटखनी देते हुए तीनों सीटें अपने नाम कर लीं और साथ ही सदन में अपने सदस्यों की संख्या 35 तक पहुंचा दी जो आज भगवानपुर विधानसभा उपचुनाव के साथ 36 पर पहुंच गयी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bhagwanpur_by_polls_congress_wins
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Congress uttarakhand
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017