पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय को जन्म दिन पर भारत रत्न का तोहफा

By: | Last Updated: Thursday, 25 December 2014 1:58 AM
Bharat Ratna for Vajpayee, Madan Mohan Malviya

नई दिल्ली: आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय का जन्मदिन है. जन्मदिन से पहले भारत सरकार ने दोनों को भारत रत्न दिए जाने का एलान किया है. वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय को गणतंत्र दिवस यानि 26 जनवरी के मौके पर देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा.

अटल बिहारी वाजपेयी आज 90 साल के हो जाएंगे तो वहीं काशी हिंदू विश्वविधालय के संस्थापक पंडित मदनमोहन मालवीय का आज 153वां जन्मदिन है.

 

बुधवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी.   राष्ट्रपति  प्रणब मुखर्जी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर भारत रत्न दिए जाने का एलान किया. लोकसभा चुनावों के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने बीएचयू की स्थापना करने वाले मालवीय को भारत रत्न देने का वादा किया था.

 

आपको बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी एनडीए के शासन काल में प्रधानमंत्री थे. मई 1996 में वाजपेयी 13 दिन के लिए पीएम बने थे फिर 1998 में 13 महीने के लिए पीएम बने. इसके बाद 1999 से 2004 तक पांच साल तक भारत के प्रधानमंत्री रहे. वाजपेयी के ही कार्यकाल में भारत ने परमाणु परीक्षण किया और देश को परमाणु शक्ति वाले देश के रूप में पहचान दिलाई.

 

अब तक कुल 43 लोगों को भारत रत्न  से सम्मानित किया गया है. अब मदन मोहन मालवीय और अटल बिहारी वाजपेयी को भी यह सम्मान दिया जाएगा और इस तरह इसे सम्मान को पाने वालों की संख्या 45 हो जाएगी.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 दिसंबर यानी कल वाराणसी में मदन मोहन मालवीय के जन्म दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने जाने वाले हैं.

 

मालवीय ने की हिंदू महासभा की स्थापना थी. मदन मोहन मालवीय भारत के पहले और अन्तिम व्यक्ति थे जिन्हें महामना की सम्मानजनक उपाधि से विभूषित किया गया था.

 

नीतीश ने भी जताई सहमति

जेडीयू के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व सीएम नीतीश कुमार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न से सम्मानित किए जाने का पुरजोर समर्थन करते हुए कहा कि यह तो उन्हें यूपीए शासनकाल के दौरान दे दिया जाना चाहिए था.

 

नीतीश ने कहा, “अटल जी भारत रत्न पाने के पूरे हकदार हैं और उन्हें इससे सम्मानित किए जाने का वह पुरजोर समर्थन करते हैं. यह उन्हें यूपीए शासनकाल के दौरान उन्हें दे दिया जाना चाहिए था.”

 

नीतीश का कहना है कि अटल जी का व्यक्तित्व विशाल था. वह उदार विचारधारा को मानते थे और किस तरह से गठबंधन चलाया जाता है, इसका उन्होंने उदाहरण पेश किया था. किसी का दिल नहीं दुखाते थे.

 

सोनिया गांघी ने भी किया फैसले का स्वागत

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी मदन मोहन मालवीय को भारत रत्न से नवाजे जाने के सरकार के फैसले का आज रात स्वागत किया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय को भारत रत्न दिए जाने के फैसले का स्वागत करती हूं.’’ राजनीतिक जगत में आम सहमति वाली राजनीति के लिए स्वीकार्य वाजपेयी और मालवीय को आज देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजे जाने का फैसला किया गया.

 

मालवीय को भारत रत्न पर रामचंद्रगुहा ने उठाए सवाल

मालवीय को भारत रत्न देने पर गुहा ने ट्वीट कर कई सवाल दागे हैं. उन्होंने कहा कि वाजपेयी को भारत रत्न मिलना ठीक है लेकिन जिस शख्स की बहुत पहले मौत हो चुकी है उसे भारत रत्न देना एक गलती है.

उन्होंने कहा कि वाजपेयी को भारत रत्न मिलना ठीक है लेकिन जिस शख्स की बहुत पहले मौत हो चुकी है उसे भारत रत्न देना एक गलती है. गुहा ने पूछा कि यदि मालवीय को भारत रत्न दिया जा सकता है तो रवींद्रनाथ टैगोर, महात्मा फुले, तिलक, गोखले, अकबर, शिवाजी, गुरु नानक, कबीर और सम्राट अशोक को भी मिलना चाहिए.

संबंधित खबरें-

मालवीय को भारत रत्न देना एक ग़लती है: गुहा 

पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय को जन्म दिन पर भारत रत्न का तोहफा

ये हैं ‘भारत रत्न’  

‘भारत रत्न’ अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में 10 बड़ी बातें 

देखें: संयुक्त राष्ट्र में जब पहली बार जब गूंजी हिन्दी 

जानें, ‘भारत रत्न’ महामना मदन मोहन मालवीय के बारे में 10 बड़ी बातें

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bharat Ratna for Vajpayee, Madan Mohan Malviya
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017