एमपी में किसानों की खुदकुशी के लिए भिंड के डीएम ने बताया उन्हीं को जिम्मेदार, कांग्रेस विधायक ने जारी किया ऑडियो

By: | Last Updated: Tuesday, 7 April 2015 2:25 AM
bhind_dm_on_farmers_sucide

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के भिंड के कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह ने भिंड के कलेक्टर मधुकर आग्नेय पर गंभीर आरोप लगाए हैं. आरोप ये है कि भिंड के कलेक्टर मानते हैं कि किसान अपनी बदहाली के लिए जिम्मेदार हैं. गोविंद सिंह ने कलेक्टर मधुकर आग्नेय की एक ऑडियो क्लिप जारी की है जिसमें कलेक्टर भद्दी भाषा तो बोल ही रहे हैं. ये भी कह रहे हैं कि किसान 5-6 बच्चे पैदा कर लेते हैं. उनका पालन-पोषण नहीं कर पाते हैं तो खुदकुशी करके सरकार को बदनाम करते हैं. एबीपी न्यूज ऑडियो क्लिप की पुष्टि नहीं करता है.

 

कांग्रेस नेता के मुताबिक डीएम मधुकर आग्नेय ने कहा कि किसान ज्यादा बच्चे पैदा तो कर लेते हैं लेकिन पाल नहीं पाने की वजह से आत्महत्या करते हैं और बदनाम प्रशासन को करते हैं.

 

किसानों के खुदकुशी करने पर डीएम ने सीडी में कह रहे हैं, ”हम तो तंग आ गए हैं रोज-रोज की…..जो मरेगा इसी की वजह से मरेगा क्या… इतने बच्चे पैदा किए तो टेंशन से प्राण तो निकलेंगे ही…पांच-पांच, छह-छह छोरा-छोरी पैदा कर लेते हैं…और आत्महत्या कर हमको बदनाम करते हैं..”

 

 

डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि, भिंड में किसानों की हालत ख़राब है. प्रशासन ने सिर्फ 15 प्रतिशत नुकसान का आंकलन किया है. किसान बर्बाद हो गए और कलेक्टर गाली बक रहे हैं. भिंड में दो बार ओला-बारिश से एक सैंकड़ा से गांवों में चार हजार किसानों की खेतों में खड़ी फसलें तबाह हो गई, लेकिन प्रशासन यहां सर्वे का काम ही पूरा नहीं कर सका है. ऐसे में सर्वे सूची तैयार कर, दावे-आपत्तियों का निराकरण के बाद फायनल सूची तैयार करने व डिमांड राशि का प्रस्ताव तैयार करने में पंद्रह दिन लग जाएंगे. सर्वे में हो रही देरी से यहां तीन किसान फांसी लगाकर आत्महत्या कर चुके हैं और किसानों की सदमे से मौत हो चुकी है.

 

क्या है भिंड की स्थिति?

बेमौसम बारिश से भिंड में भी किसानों की हालत खराब हैं. गोविंद सिंह का दावा है कि प्रशासन ने सिर्फ 15 फीसदी नुकसान का आकलन किया है. चार हजार किसान बदहाल हुए हैं. किसानों की बदहाली पर कलेक्टर अपशब्द बोल रहे हैं. तीन किसान खुदकुशी कर चुके हैं लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही है.

 

बारिश से किसानों की फसल नष्ट होने के कारण मध्यप्रदेश के भिंड जिले में अब तक करीब तीन किसान आत्महत्या कर चुके हैं और खबरों की मानें तो करीब सात किसान आत्महत्या कर चुके हैं. ऐसे में जिले के जिम्मेदार कलेक्टर का इस प्रकार का ऑडियो टेप लीक होने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के वे दावे फुस्स हो जाते हैं, जिसमें वे किसानों के खेतों में जाकर उनके आंसू पोंछकर नुकसान की पाई-पाई अदा करने की बात कह रहे हैं. बताया जा रहा है कि कलेक्टर का विवादास्पद ऑडियो टेप लीक होने के बाद प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान का प्रस्तावित भिंड जिले का दौरा भी रद्द कर हो गया है.

किसानों की खुदकुशी पर डीएम का ये कैसा बयान? 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bhind_dm_on_farmers_sucide
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017