...और सुनीता ने बनाया 'मिड-डे मील', डीएम ने भी खाया

By: | Last Updated: Saturday, 19 December 2015 10:20 AM
Bihar : Bitter story ends sweetly

नई दिल्ली/पटना : गोपालगंज के गांव कल्याणपुर में स्कूल वही था और लोग भी वही जमा हुए थे. लेकिन, यह दिन सुनीता का था, जिसे मिड-डे मील बनाने से गांव वालों ने सिर्फ इसलिए रोक दिया था क्योंकि वह ‘विधवा’ थी. सुनीता ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई थी और शुक्रवार को प्रशासन उसके दरवाजे पर था.

जिलाधिकारी राहुल कुमार पूरे अमले के साथ कल्याणपुल गांव पहुंचे. खाना बनाने का विरोध करने वालों को उन्होंने सख्त लहजे में चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि यदि सुनीता को स्कूल में खाना बनाने से रोका गया तो प्रशासन की ओर से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

Gopal1

इसके साथ ही डीएम राहुल कुमार ने अपनी मौजूदगी में सुनीता से खाना बनवाया. स्कूल के बच्चों को खाना खिलाया गया और राहुल कुमार से सबके साथ बैठकर खाना खाया. यह पूरा घटनाक्रम जवाब था उन ‘दबंगों’ को जिन्होंने कानून और इंसानियत दोनों को ताख पर रख दिया था.

दरअसल, इसी सप्ताह सुनीता को कल्याणपुर गांव के सरकारी स्कूल में खाना बनाने से रोक दिया गया था. करीब 150 की संख्या में गांव वाले स्कूल पर पहुंचे थे और कहा था कि वह यहां खाना नहीं बना सकती है. क्योंकि, विधवा के हाथ का खाना खा कर उनके बच्चे बीमार पड़ सकते हैं.

सुनीता के पति इस दुनिया में नहीं हैं और उन पर दो बच्चों की जिम्मेदारी है. इसीलिए, सुनीता ने मिड-डे मील बनाकर गुजारा करने का फैसला किया था. लेकिन, गांव वालों से यह बर्दाश्त नहीं हुआ और उन्होंने स्कूल पर ही ताला लगाकर सुनीता को धमकी भी दी.

इसके बाद सुनीता, जिले के डीएम के पास फरियाद लेकर पहुंची. मीडिया ने भी यह बात काफी गंभीरता से रखी. इसके बाद राहुल कुमार ने खुद ही इस मसले का रास्ता निकालने का फैसला किया और कल्याणपुर गांव पहुंच गए.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar : Bitter story ends sweetly
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017