नीतीश कुमार फिर बनेंगे बिहार के सीएम, रविवार को होगा शपथग्रहण

By: | Last Updated: Friday, 20 February 2015 5:15 AM
#Bihar CM Jitan Ram Manjhi resigns; to address media shortly

नई दिल्ली: बिहार में दो हफ्ते चले सियासी ड्रामे के बाद अब राज्यपाल ने जेडीयू विधायक दल के नेता नीतीश कुमार को सरकार बनाने का न्योता दिया है. अब नीतीश कुमार 22 फरवरी यानी रविवार को एक बार फिर बिहार के सीएम पद की शपथ लेंगे.

 

नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलने के बाद कहा, “राज्यपाल ने सरकार बनाने का न्योता दिया है. 22 फरवरी को शाम 5 बजे राजभवन में शपथग्रहण समारोह होगा. बहुमत साबित करने के लिए तीन हफ्ते का समय दिया गया है.”

 

बिहार के भावी सीएम नीतीश ने कहा, “हमने 8 तारीख को ही बहुमत होने का दावा किया था. राज्यपाल ने भी इसे माना.”

 

नीतीश ने आगे कहा, “अगला सत्र बजट सत्र होगा, इसमें राज्यपाल का अभिभाषण होगा. उसी हिसाब से ये सत्र शुरू किया जाएगा. इस सत्र में सरकार अपना बहुमत साबित करेगी.”

आपको बता दें कि आज बहुमत साबित करने से ठीक पहले ही जीतन राम मांझी ने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. मांझी सुबह राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे और अपना इस्तीफा सौंपा. जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया.

 

बीजेपी का खेल एक्सपोज़

 

जीतन राम मांझी के इस्तीफे के बाद नीतीश कुमा ने कहा कि बिहार में बीजेपी का गेम प्लान एक्सपोज हो गया है. बीजेपी ने ही पूरी स्क्रिप्ट लिखी थी.

 

नीतीश का कहना था कि मांझी को पहले ही इस्तीफा दे देना चाहिए था, लेकिन अब मांझी मैदान छोड़कर भाग निकले हैं. जुगाड़ से सरकार बनाना चाहते थे मांझ़ी.

 

 

नीतीश ने कहा, “लोगों से माफी मांगता हूं और कहता हूं कि एक बार फिर पुराने तेवर में काम करूंगा.”

 

नीतीश ने कहा, “मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूं और बिहार की जनता से अपने किये के लिए क्षमा मांगता हूं, अब भावना में आकर कुछ नहीं करूंगा.”

 

 

 

आपको बता दें कि नीतीश ने 8 फरवरी को ही सरकार बनाने का दावा पेश किया था.

 

मांझी ने क्या कहा?

सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद मांझी ने कहा, “मुझे ठीक से काम नहीं करने दिया गया, नीतीश कुमार को हम आदर्श पुरुष मानते थे, लेकिन उन्होंने भी लोगों की बातों में आकर अच्छा व्यवहार नहीं किया.”

 

मांझी ने दावा किया,”अगर गुप्त मतदान हो तो आज भी मुझे बहुमत मिलेगा. 140 विधायक हमारे साथ हैं.”

 

इस्तीफा देने की अपनी मजबूरी बयान करते हुए मांझी ने कहा, “माहौल खराब होने पर मैंने राज्यपाल को 10.15 पर इस्तीफा सौंप दिया था. विधायकों को जान से मारने की धमकी मिली रही थी. मुझे भी फोन पर धमकी मिली.”

 

लालू ने क्या कहा?

 

आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने मांझी को सलाह दी है कि वह बीजेपी में न जाएं. लालू के मुताबिक बीजेपी को नीतीश कुमार के साथ जाना चाहिए. मांझी नीतीश कुमार के साथ काम करें.

 

क्यों दिया इस्तीफा

 

बीजेपी के समर्थन के बावजूद मांझी के पास विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए विधायक नहीं थे. इसलिए जीतन राम मांझी ने बहुमत साबित करने से पहले इस्तीफा देना मुनासिब समझा.

 

बिहार विधानसभा का समीकरण

 

243 सदस्यों वाली बिहार विधानसभा में अभी 233 सदस्य ही हैं जिसका बहुमत का आंकड़ा 117 होता है. नीतीश के साथ 130 विधायक हैं जबकि मांझी के पास अभी सिर्फ 8 विधायक ही हैं क्योंकि कोर्ट ने बाकी 8 निलंबित विधायकों के वोट देने पर रोक लगा दी है. बीजेपी के पास 87 विधायक हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: #Bihar CM Jitan Ram Manjhi resigns; to address media shortly
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017