जीतन राम मांझी आज नीति आयोग की बैठक में हिस्सा लेंगे

By: | Last Updated: Sunday, 8 February 2015 2:39 AM

पटना: बिहार में सत्तारूढ़ जदयू ने नीतीश कुमार को विधायक दल का नेता चुने जाने के बावजूद इस्तीफा देने से इंकार करने वाले राज्य के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी नीती आयोग की आज होने जा रही बैठक में शामिल होने के लिए कल पटना से विमान से यहां पहुंचे.

 

मांझी ने कहा कि वह नीति आयोग की बैठक में शामिल होंगे. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्ष 2015-16 के आम बजट, प्रमुख योजनाओं और रेलवे तथा सड़क जैसी अवसंरचना परियोजनाओं पर मुख्यमंत्रियों और राज्यपालों के विचार जानेंगे ताकि अर्थव्यवस्था को तेज गति दी जा सके.

 

सत्ता में बने रहने के प्रयास में मांझी अपने प्रति नर्म रूख रख रही बीजेपी की ओर देख सकते हैं. अभी इस बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है कि क्या वह यहां अलग से प्रधानमंत्री और बीजेपी नेताओं से मिलेंगे.

 

इससे पहले, कल दिन में पटना में मांझी ने अपने मंत्रिमंडल की एक बैठक बुलाई जिसमें उन्होंने विधानसभा भंग करने की सिफारिश करने का प्रस्ताव रखा लेकिन उनका समर्थन सिर्फ आठ विधायकों ने किया जबकि नीतीश कुमार के प्रति निष्ठा रखने वाले 20 मंत्रियों ने प्रस्ताव का विरोध किया.

 

मुख्यमंत्री ने दावा किया कि वह विधानसभा भंग करने पर फैसला करने के लिए अधिकृत हैं. उन्होंने नीतीश कुमार के करीबी समझे जाने वाले 15 मंत्रियों को बख्रास्त करने की सिफारिश की. बीती रात उन्होंने नीतीश के करीबी दो मंत्रियों को निकाल दिया था.

 

दूसरी ओर नीतीश के करीब 20 मंत्रियों ने राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अपने इस्तीफे भेज दिये जिनके सोमवार तक यहां आने की उम्मीद है.

 

दिल्ली में मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने बिहार के राजनीतिक घटनाक्रम पर पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित पार्टी नेताओं के साथ अलग अलग चर्चा की.

 

 

 

आपको बता दें कि दोपहर में जीतन राम मांझी ने कैबिनेट की बैठक बुलाई, जिसमें मंत्री नरेंद्र सिंह की ओर से विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव रखा गया जिसे 29 में 21 मंत्रियों ने खारिज कर दिया, जबकि 7 मंत्री सीएम के साथ रहे.

 

इसके बाद भी जीतन राम मांझी पीछे हटे नहीं, बल्कि सूचना एंव जनसंपर्क विभाग की ओर बयान जारी करके कहा गया कि मंत्रिंडल की बैठक में विधानसभा को भंग करने को लेकर उचित समय पर निर्णय लेने के लिए सीएम को अधिकृत किया गया है.

 

विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव ठुकराया गया

 

मांझी सरकार में 29 मंत्री है, लेकिन जैसे ही नरेंद्र सिंह ने विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव रखा, 29 में 21 मंत्रियों ने प्रस्ताव को ठुकरा दिया. सिर्फ सात मंत्री मांझी के साथ रहे. इस तरह विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव गिर गया.

 

जेडीयू नेता अली अनवर का कहना है कि अब जीतन राम मांझी को इस्तीफा देना होगा, क्योंकि कैबिनेट ने उनके प्रस्ताव को ठुकरा दिया है.

अली अनवर का कहना है कि बिहार में राजनीतिक संकट के लिए बीजेपी जिम्मेदार है, क्योंकि राजनीतिक गड़बड़ी पैदा करना बीजेपी के खून में है.

 

क्या है पूरा मामला

 

दरअसल, नए राजनीतिक समीकरण में सत्ताधारी जेडीयू बिहार में सीएम की कमान एक बार फिर से नीतीश कुमार के हाथों में देना चाह रही है, लेकिन इसके लिए जीतन राम मांझी तैयार नहीं है. जीतन राम मांझी को मनाने की कोशिश भी की गई, लेकिन बात  नहीं बनी.

 

कैबिनेट की बैठक से पहले मांझी ने नीतीश कुमार, शरद यादव, वशिष्ठ नारायण सिंह, वृषण पटेल के साथ बैठक की. जिसमें उनके सम्मानजनक विदाई पर बात हुई, लेकिन वह इसके लिए तैयार नहीं हुए.

 

जब बात नहीं बनी तो सीएम मांझी ने कैबिनेट की बैठक में विधानसभा भंग करने का प्रस्ताव रखा, जिसे कैबिनेट ने बहुमत से खारिज कर दिया.

 

पटना स्थित एबीपी न्य़ूज़ संवाददाता प्रकाश कुमार का कहना है कि शाम 4 बजे जेडीयू विधायक दल की बैठक है, जिसमें नीतीश कुमार को विधायक दल का नेता चुना जा सकता है. 

 

बीजेपी जीतन के साथ

 

जीतन राम मांझी और जेडीयू की खींचतान का फायदा बीजेपी जमकर उठाना चाहती है.  बीजेपी का कहना है कि वह जीतन सरकार को गिरने नहीं देगी.

 

याद रहे कि नीतीश के खास दो मंत्रियों को हटाने के लिए मांझी ने राज्यपाल से सिफारिश की. राजीव रंजन और पीके शाही को हटाने के लिए मांझी ने राज्यपाल से सिफारिश की.

 

खींचतान

 

जीतन राम मांझी पहले ही कह चुके हैं कि विधायक दल की बैठक बुलाने का अधिकार सिर्फ मुख्यमंत्री के पास होता है. मांझी ने भी 20 फरवरी को विधायकों की बैठक बुलायी है. आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसादयादव ने जेडीयू के हर फैसले में समर्थन देने की बात की है वहीं आरजेडी सांसद पप्पू यादव मांझी के मुख्यमंत्री बने रहने के पक्ष में हैं.

 

आरजेडी के सांसद पप्पू यादव ने कहा है कि अगर मांझी को हटाया गया तो बिहार में बीजेपी को सत्ता में आने से कोई नहीं रोक पाएगा. जेडीयू नेता अली अनवर ने बीजेपी पर जेडीयू नेताओं में फूट डालने और सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar CM Jitan Ram Manjhi today will attend niti aayog meeting
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017