बिहार चुनाव: पोस्टरों से पटा है बिहार

By: | Last Updated: Saturday, 22 August 2015 2:06 PM

नई दिल्ली: बिहार में अभी भले ही चुनाव की तारीखों का एलान नहीं हुआ है. लेकिन बिहार का मिजाज पूरी तरह चुनावी रंग में रंग चुका है. तमाम सड़कें, गली, मोहल्ले, हाइवे, चौक चौराहें पोस्टरों से पटे पड़े हैं. पोस्टर भी कई तरह के हैं. कुछ पोस्टरों में नेता त्योहारों की बधाई देते हुए खुद को इलाके का उम्मीदवार बता रहे हैं.

 

कुछ पोस्टर परिवर्तन और स्वाभिमान रैली की तैयारियों को लेकर है. इन पर भी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सचिव टाइप नेता की तस्वीर लगी है जो लोगों से बड़ी संख्या में शामिल होने की अपील तो कर ही रहे हैं साथ ही खुद को इलाके का संभावित उम्मीदवार भी घोषित कर रहे हैं. कुछ पोस्टरों पर सिर्फ बड़े नेता हैं. जैसे नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार टाइप. जिसमें बदलाव की बात और बढ़ चला बिहार टाइप नारे लिखे गए हैं.

 

बेतिया, मोतिहारी शहर में स्टेशन के आसपास नीतीश और पीएम के पोस्टरों की टक्कर होती दिख रही है. शहर में जिन जगहों पर कभी प्रचार के लिए कंपनियां विज्ञापन लगाती थी वहां नीतीश और मोदी के होर्डिंग और बड़े बड़े पोस्टर लग चुके हैं. पोस्टर भी ऐसे लगाए गए हैं मानो एक दूसरे को नारों से जवाब दे रहे हों. घरों की दीवारों पर भी बड़े बड़े पोस्टर लगा दिये गये हैं. मोतिहारी से मुजफ्फरपुर की ओर बढ़ने पर चकिया, मोतीपुर में सड़क किनारे जो ऑटो टैम्पो खड़े थे उन पर सिर्फ बीजेपी के पोस्टर चिपके दिखे.

 

मुजफ्फरपुर शहर में हर तरफ नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी के बड़े बड़े पोस्टर लगे हुए हैं. यहां सरकारी दफ्तर भी नेताओं के पोस्टर से पटे पड़े हैं. स्टेशन से बाहर निकलते ही रोड के दोनों तरफ पोस्टर और होर्डिंग लगाने की होड़ सी मची है. सरकारी बस स्टैंड के भीतर और ब्रह्मपुरा थाने के पास जो पानी की बड़ी सी टंकी है उसे नीतीश कुमार के पोस्टर से ढक दिया गया है. नीतीश की तस्वीरों के साथ जो होर्डिंग लगाए गए हैं उनमें “बहुत हुआ जुमलों का वार, फिर एक बार नीतीश कुमार” और “आगे बढ़ता रहे बिहार, फिर एक बार नीतीश कुमार” जैसे नारे लिखे हुए हैं.

 

पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीरों के साथ जो होर्डिंग लगे हैं उस पर अपराध, भ्रष्टाचार और अहंकार, क्या इस गठबंधन से बढ़ेगा बिहार और आओ बदले बिहार, अबकी बार भाजपा सरकार जैसे नारे लिखे हुए हैं. कई जगहों पर दिलचस्प पोस्टर देखने को मिला. नीतीश की तस्वीर के साथ एक पोस्टर पर लिखा था ‘झांसे में न आएंगे, नीतीश को फिर जिताएंगे’. कुछ दूर चलने पर बीजेपी का पोस्टर दिखा जिस पर लिखा था ‘झांसे में नहीं आएगा बिहार, अबकी बार भाजपा सरकार’.

 

मुजफ्फरपुर से सीतामढ़ी की तरफ जाने पर झपहां में आपको नए तरह के पोस्टर दिखेंगे. झपहां से शिवहर और सीतामढ़ी जाने वाले रास्ते अलग होते हैं और रोड के एक तरफ का इलाका मीनापुर विधानसभा में पड़ता है. इसी मीनापुर से लालू यादव ने चुनाव अभियान की शुरुआत की है. यहां लालू की पार्टी की ओर से भी संभावित उम्मीदवारों ने पोस्टर लगा रखे हैं. एक पोस्टर मीनापुर से खुद को संभावित उम्मीदवार मानकर चल रहे मिथलेश कुमार यादव का दिखा. यहां पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के नेताओं के भी तरह तरह के पोस्टर और होर्डिंग लगे हैं.

 

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के होर्डिंग पर उपेंद्र कुशवाहा को बिहार का भावी मुख्यमंत्री बताया जा रहा है. पोस्टर पर स्थानीय नेता विनोद कुशवाहा की बड़ी बड़ी तस्वीरें हैं. ऐसा लगा जैसे विनोद कुशवाहा यहां से आरएलएसपी के दावेदार हैं. नीतीश की पार्टी जेडीयू की ओर से बाकायदा स्वाभिमान रैली में चलने के लिए पोस्टर, होर्डिंग के साथ तोरण द्वार बनवाए गए हैं. मीनापुर में अगर कुछ नहीं दिखा तो वो था बीजेपी का पोस्टर. यहां के विधायक दिनेश प्रसाद जेडीयू छोड़कर हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए हैं. मीनापुर के इलाके में दिनेश प्रसाद का एक पोस्टर भी नहीं दिखा. इस रास्ते से आगे बढ़ने पर बेलसंड विधानसभा शुरू होता है.

 

बेलसंड सीट पर अभी जेडीयू की सुनीता चौहान विधायक हैं. पोस्टरबाजी देखकर ऐसा लगा जैसे बेलसंड में एनडीए के कई दावेदार हैं. एक पोस्टर पर ठाकुर धर्मेंद्र नाम के दावेदार की तस्वीर लगी दिखी जिस पर लिखा था बेलसंड की यही पुकार अबकी बार धर्मेंद्र कुमार. एलजेपी से दावेदारी जताते हुए जय मंगल चौधरी नाम के प्रदेश महासचिव का पोस्टर दिखा. शिवहर में रत्नाकर राणा बीजेपी के टिकट के दावेदार हैं. राणा की तस्वीरों वाले पोस्टर शहर में लगे हैं. ज्यादातर पोस्टर लोजपा के अध्यक्ष रहे संजय पांडेय की याद में लगाए गए हैं. 8 अगस्त को संजय पांडेय के शहीदी दिवस के मौके पर चिराग पासवान ने यहां सभा की थी.

 

शिवहर से चलिए सीतामढ़ी शहर. सीतामढ़ी शहर भी पोस्टरों से पटा हुआ है. स्थानीय बीजेपी विधायक सुनील कुमार पिंटू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर सबसे ज्यादा हैं. ब्राह्मण महासभा सहित कई जाति-बिरादरी की भागीदारी से संबंधित पोस्टर भी शहर में लोगों का ध्यान खींच रहे हैं. सीतामढ़ी से मुजफ्फरपुर के रास्ते पर जगह जगह तमाम पार्टियों के दावेदारों ने पोस्टर और होर्डिंग लगवा रखे हैं. रुन्नी सैदपुर में हाल ही में उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी का सम्मेलन हुआ है तो उसके ज्यादा पोस्टर अभी वहां दिख रहे हैं. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar Election ground report
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017