दाल पर दंगल: बिहार के चुनाव में क्या मोदी की दाल गलेगी?

By: | Last Updated: Sunday, 25 October 2015 2:14 PM

पटना: बिहार में दाल को लेकर आज मोदी-नीतीश आपस में भिड़ गए. मोदी ने नीतीश पर ठीकरा फोड़ा तो नीतीश ने दाल के दाम को लेकर मोदी को जिम्मेदार ठहराया. अब दाल का दाम बिहार में चुनावी मुद्दा बन गया है.

 

बिहार के हाजीपुर की रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने महंगी दाल का मुद्दा उठाया और कहा कि बिहार के अलावा हर राज्य में दाल की जमाखोरों के खिलाफ छापेमारी में हो रही है.

 

सिर्फ बिहार ही नहीं, पूरे देश में दाल के दाम आसमान छू रहे हैं. अरहर की दाल का भाव तो कई जगहों पर दो सौ रुपये किलो को भी पार कर चुका है.

 

दाल पर मोदी के आरोपों का जवाब नीतीश ने दिया और कहा कि सिर्फ बिहार में महंगी नहीं है दाल, बल्कि बीजेपी शासित राज्यों में बिहार से ज्यादा हैं दाल के दाम.

 

तेरह राज्यों में छापेमारी में अब तक 75 हजार टन दाल बरामद की जा चुकी है जिनमें करीब 46 हजार टन दाल सिर्फ महाराष्ट्र में बरामद हुई है. प्रधानमंत्री मोदी छापेमारी के बहाने नीतीश सरकार पर हमला बोल रहे हैं, लेकिन हकीकत ये भी है कि बीजेपी शासित राज्यों में भी दाल के दाम डेढ़ सौ से दो सौ रुपये किलो के बीच है.

 

महाराष्ट्र में 180 रुपये किलो है तो गुजरात में अरहर दाल की कीमत 160 से 180 रुपए किलो है. हरियाणा  में दाल 160 रुपए किलो है जबकि मध्य प्रदेश में 185 रुपए किलो. बिहार के पड़ोसी झारखण्ड में 150 से 170 रुपए किलो तक बिक रही है अरहर की दाल. लेकिन राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कीमत  200 रुपए किलो है.

 

नीतीश कह रहे हैं कि सस्ती दाल थाली तक पहुंचाना मोदी सरकार की जिम्मेदारी है, लेकिन बीजेपी कह रही है कि जमाखोरों के खिलाफ नीतीश कार्रवाई नहीं कर रहे. लालू भी चुनावी सभाओं में दाल को मुद्दा बना रहे हैं. सवाल ये है कि बिहार के चुनाव में क्या मोदी की दाल गलेगी?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar election: Politics on Pulses by Modi and Nitish
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017