बिहार चुनाव- सहयोगियों ने किया सरेंडर !

By: | Last Updated: Thursday, 10 September 2015 2:27 PM

नई दिल्ली: एनडीए में सीटों का विवाद सुलझने की ओर है. राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने अपनी पार्टी की ओर से चिट्ठी लिखकर सीट बंटवारे के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को अधिकृत किया है.

 

अमित शाह को चिट्ठी लिखने से पहले उपेंद्र कुशवाहा ने अपनी पार्टी के बड़े नेताओं से चर्चा की और सीटों का फैसला बीजेपी पर छोड़ दिया. पिछले महीने उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके 67 सीटों की मांग की थी. उससे पहले मुख्यमंत्री की कुर्सी पर भी पार्टी ने दावा ठोका था. लेकिन कुशवाहा के इस कदम के बाद साफ हो गया है कि पार्टी न तो पार्टी को मनमाफिक सीटें मिलने जा रही है और ना ही कुशवाहा अब सीएम की रेस में रह गए हैं.

NDA में सीटों का विवाद सुलझने की ओर, फैसला BJP पर छोड़ा 

कल सुबह से ही दिल्ली में सीट बंटवारे को लेकर एनडीए में बैठकों का दौर चल रहा है. बताया जा रहा है कि कुशवाहा के साथ ही पासवान और मांझी की पार्टी ने भी सीट बंटवारे का फैसला अमित शाह पर छोड़ दिया है. सूत्रों के मुताबिक लोकसभा चुनाव में हुए सीट बंटवारे को ही आधार बनाया जाएगा. सूत्र बता रहे हैं कि पासवान और मांझी में जिन सीटों को लेकर तनातनी चल रही थी उन सीटों को लेकर मांझी को भरोसा दिया गया है और पासवान को समझा दिया गया है.

 

लोकसभा चुनाव में बीजेपी खुद 30 सीटों पर लड़ी थी. पासवान की एलजेपी को 7 और कुशवाहा की आरएलएसपी को 3 सीटें लड़ने के लिए मिली थी. बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं. चुनाव में बीजेपी 22, एलजेपी 6 और आरएलएसपी 3 सीटों पर जीती थी. तब मांझी इनके साथ नहीं थे. अब इस हिसाब से अगर सीटों का बंटवारा होता है तो फिर एलजेपी को 35 से 40 सीटें मिल सकती हैं. कुशवाहा को 18 से 25 और मांझी को 15 सीटें दी जा सकती हैं. इस हिसाब से बीजेपी करीब 160 सीटों पर खुद चुनाव लड़ेगी.

 

सीटों को लेकर आज फिर से बीजेपी नेता मंथन करने वाले हैं. मांझी की पार्टी को कांटी, साहेबगंज, घोसी, मखदूमपुर, टिकारी,  झंझारपुर, महुआ, लौरिया, परिहार, वैशाली, दीघा, जमुई और चकाई सीट मिल सकती है. कुचायकोट, तारापुर और परबत्ता की सीट भी मांझी की पार्टी के खाते में जाने की उम्मीद है.

 

16 सितंबर से बिहार में नामांकन का काम शुरू हो जाएगा.इस पहले दौर के चुनाव में मांझी की पार्टी की बड़ी भूमिका रहने वाली है. मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष शकुनी चौधरी और उनके बेटे सम्राट अगर चुनाव लड़ते हैं तो फिर उनकी किस्मत का फैसला इसी दौर में होगा. नरेंद्र सिंह के प्रभाव वाले जमुई जिले में भी चुनाव पहले दौर में ही है. इसलिए आज कल में सीटों का बंटवारा हो जाने की पूरी उम्मीद है.

 

ट्विटर पर फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें-

@manojkumarmukul

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Bihar Election_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017