बिहार के सिर पर मंडरा रहा है बड़ा खतरा

By: | Last Updated: Tuesday, 5 August 2014 2:39 PM
bihar_nepal_water_flood

नई दिल्ली : बिहार के सिर पर मंडरा रहा खतरा अभी टला नहीं है. नेपाल में भूस्खलन के बाद बनी एक झील ने बिहार की सांसे अटका रखी हैं. ये झील अगर फटी तो बिहार के सात जिले बह सकते हैं.

 

इस झील में सिर्फ पानी नहीं है. इस झील की जमीन पर कई घरों की कब्र है. कई लाशें हैं. दो हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट भी इसमें डूब चुके हैं. नेपाल के सिंधु पाल चौक पर सुन कोसी नदी के पानी से बनी इस झील ने नेपाल से लेकर बिहार तक हर किसी की नींद उड़ा रखी है.

 

लेकिन ऐसा हुआ कैसे….

 

सुन कोसी एक पहाड़ी नदी है. कोसी नदी की पहली धारा है सुन कोसी. 2 अगस्त की रात को करीब 1 बजे नेपाल के सिंधु पाल चौक के इस हिस्से में भारी भूस्खलन हुआ था. भूस्खलन यानि जमीन खिसकी तो पहाड़ का मलबा इस नदी पर गिरा. और नदी का रास्ता रुक गया.

 

एबीपी न्यूज सबसे पहले पहुंचा है नेपाल के जुरे गांव की सुन कोसी नदी पर बनी इस झील के पास. जहां बिहार की सांसे अटकी हुई हैं.

 

पहाड़ के मलबे ने रास्ता रोका और ये सुन कोसी नदी 50 मीटर गहरी झील में बदल गई. 50 मीटर गहरी यानि इस झील में अगर 25 से 30 लोग एक के ऊपर एक खड़े हो जाएं तो डूब जाएंगे. अब अंदाजा लगाइए कि ये झील कितनी ज्यादा गहरी होगी. इस झील में करीब 18 लाख क्यूसेक पानी बताया जा रहा है.. 

 

ये एक पहाड़ी नदी पर बनी झील है यानि पहाड़ का पानी पहले की तरह नीचे आ रहा है लेकिन मलबा होने की वजह से झील का पानी निकलने का रास्ता नहीं था. झील फट सकती थी. झील को फटने से बचाने के लिए सेना के जवानों ने झील के एक किनारे पर 2-3 धीमे विस्फोट किए ताकि मलबा हटे और पानी निकलने का रास्ता बन सके.

 

धीरे-धीरे झील का पानी निकलना शुरू हो चुका है. लेकिन खतरा टला नहीं है. बरसात का मौसम है. लगातार बारिश के बाद कभी भी पहाड़ से नीचे आ रहे पानी का बहाव तेज हो सकता है. ये पानी इस झील में जमा होने लगेगा लेकिन पानी निकलने का रास्ता बहुत छोटा है. जिससे झील के फटने का खतरा अभी बरकरार है.

 

पहाड़ के मलबे ने नदी का रास्ता रोकर तबाही की झील तो तैयार कर ही दी है लेकिन इससे पहले भूस्खलन के बाद जहां-जहां मलबा गिरा था वहां सिर्फ लाशें हैं. कोशिश ये है कि वक्त रहते सुन कोसी की धारा में पनप रहे इस खतरे को दूर कर दिया जाए क्योंकि अगर ये झील फटी तो सिर्फ तबाही मचाएगी.

 

झील फटी तो क्या होगा ?

नेपाल के सिंधुपाल चौक जिले में कोसी नदी में बनी झील के फटने का खतरा फिलहाल नहीं है. लेकिन चिंता की बात ये है कि इस इलाके में बारिश का सिलसिला थमा नहीं है और बारिश की वजह से भूस्खलन और पहाड़ों के गिरने का खतरा अब भी बना हुआ है .

 

 

हिमालय से निकलने वाली कोसी नदी नेपाल से होते हुए बिहार में दाखिल होती है. कोसी दिशा बदलने में माहिर है. बिहार में इसे शोकनदी के रूप में जाना जाता है. वजह यही है कि बारिश के मौसम में कोसी एकाएक विकराल रूप धारण कर लेती है और अपना रास्ता बदलते हुए बिहार के डेढ़ से दो लाख लोगों की जिंदगी पर भारी पड़ती है.

 

कोसी का पानी हर साल बिहार के 9 जिलों पूर्णिया.. सुपौल.. मधेपुरा.. सहरसा.. अररिया.. कटिहार.. मधुबनी..दरभंगा और खगड़िया जिलों को प्रभावित करता है..

 

बिहार में कैसे पहुंचती है कोसी ?

 

काठमांडू से एवरेस्ट की चढ़ाई के लिए जाने वाले रास्ते में कोसी की चार सहायक नदियां मिलती हैं. नेपाल में कोसी कंचनजंघा के पश्चिम में पड़ती है. नेपाल के हरकपुर में कोसी की दो सहायक नदियां दूधकोसी और सुनकोसी मिलती हैं. सुनकोसी.. अरुण और तमर नदियों के साथ त्रिवेणी में मिलती हैं.  इसके बाद नदी का नाम सप्तकोशी हो जाता है. जब ये मैदानी इलाके में प्रवेश करती है तो कोसी के नाम से जानी जाती है.

 

2008 में क्या हुआ था ?

 

साल 2008 में इसी महीने में नेपाल के करीब कुसहा तटबंध में कटाव की वजह से कोसी की धारा बदल गई थी. जिसकी वजह से बिहार के सहरसा.. सुपौल.. मधेपुरा.. पूर्णिया और अररिया जिले के करीब 32 लाख लोग बुरी तरह प्रभावित हुए थे. कोसी के कहर में 200 से ज्यादा लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी. जबकि दो हजार से ज्यादा लोग लापता हुए थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bihar_nepal_water_flood
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: मृतक बच्चों के परिजानों से मिले राहुल गांधी, बोले- यह सरकार की बनाई 'राष्ट्रीय त्रासदी'
गोरखपुर ट्रेजडी: मृतक बच्चों के परिजानों से मिले राहुल गांधी, बोले- यह सरकार...

गोरखपुर: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गोरखपुर मेडिकल कालेज में पिछले दिनों संदिग्ध...

पुराने अंदाज में किरन बेदी, रात में स्कूटी पर सवार होकर लिया महिला सुरक्षा का जायजा
पुराने अंदाज में किरन बेदी, रात में स्कूटी पर सवार होकर लिया महिला सुरक्षा...

पुडुचेरी: पुडुचेरी की उप राज्यपाल किरण बेदी ने रात में भेष बदलकर केंद्र शासित प्रदेश में...

LIVE: मुजफ्फरनगर के खतौली के पास कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्तः 5 लोगों की मौत, 34 घायल
LIVE: मुजफ्फरनगर के खतौली के पास कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्तः 5...

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बड़ा ट्रेन हादसा हुआ है. मुजफ्फरनगर में खतौली के पास...

गायों के 'सीरियल किलर' की एक और काली करतूत, 93 लाख के घोटाले का आरोप!
गायों के 'सीरियल किलर' की एक और काली करतूत, 93 लाख के घोटाले का आरोप!

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ में बीजेपी नेता हरीश वर्मा जो 200 से ज्यादा गायों को भूखा मारने के आरोप में...

गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी जाएंगे
गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी...

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पिछले दिनों बीआरडी अस्पताल में हुई बच्चों की मौत से मचे...

बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण राणे
बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण...

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में एक बड़ा भूकंप आने की तैयारी में है. महाराष्ट्र में कांग्रेस...

JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी
JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में नीतीश की पार्टी की जेडीयू...

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'
CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज स्वच्छ यूपी-स्वस्थ...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017