बिहार में सियासी घमासान के बीच 'डिनर डिप्लोमेसी'

By: | Last Updated: Tuesday, 17 February 2015 8:19 AM

पटना/नई दिल्ली: बिहार में जनता दल (युनाइटेड) में चल रहे सियासी घमासान के बीच एक बार फिर ‘डिनर डिप्लोमेसी’ शुरू होने वाला है. इसे हालांकि विधायकों को एकजुट रखने की कवायद भी माना जा रहा है.

 

जेडीयू के एक नेता की मानें तो मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधान पार्षद विनोद कुमार सिंह की ओर से भोज का आयोजन किया गया है. इस भोज में जेडीयू विधायकों के साथ-साथ पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह भी शामिल होंगे.

 

भोज के आयोजन के एक दिन बाद ही 18 फरवरी को जेडीयू के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री विजय कुमार चौधरी के आवास पर भी पार्टी विधायकों के लिए भोज का आयोजन किया गया है. चौधरी के करीबी सूत्र के अनुसार, इस भोज के लिए दो दिन पहले से ही तैयारी चल रही है. भोज में शाकाहारी तथा मांसाहारी दोनों तरह के व्यंजन शामिल किए जाएंगे.

 

चौधरी के आवास पर भोज कार्यक्रम के बाद 19 फरवरी को पटना के 7, सर्कुलर रोड स्थित नीतीश कुमार के सरकारी आवास में भी पार्टी विधायकों के लिए भोज का आयोजन किया गया है.

 

नीतीश आवास पर भोज का आयोजन अन्य भोज आयोजनों से इस मामले में अलग होगा, क्यांेकि इस भोज में जेडीयू के विधायक और विधान पार्षदों के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के विधायक भी शामिल होंगे.

 

उल्लेखनीय है कि पिछले एक महीने से बिहार की राजनीति में डिनर ‘डिप्लोमोसी’ कुछ ज्यादा ही छाई हुई है.

 

पिछले एक महीने के दौरान जहां मकर संक्रांति के मौके पर विभिन्न पार्टियों द्वारा दही-चूड़ा भोज का आयोजन किया गया था, वहीं इसके बाद पूर्व मंत्री श्याम रजक, जेडीयू के सचेतक श्रवण कुमार, विधान पार्षद संजय सिंह, विधायक मंजीत सिंह और गौतम सिंह के आवास पर भोज का आयोजन हो चुका है.

 

उल्लेखनीय है कि जेडीयू में सत्ता संघर्ष के बीच नीतीश को एक बार फिर पार्टी विधायक दल का नेता चुना गया है. नीतीश ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा भी पेश किया है. नीतीश का दावा है कि उन्हें 130 विधायकों का समर्थन प्राप्त है.

 

इस बीच, राज्यपाल ने मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को 20 फरवरी को सदन में बहुमत साबित करने का निर्देश दिया है. इसी दिन से विधानसभा का बजट सत्र भी शुरू होने वाला है.

 

इधर, जेडीयूमांझी को पार्टी से निष्कासित कर चुकी है.

 

संबंधित खबरें-

बीजेपी की ‘सच्चाई’ बोलने पर नीतीश ने की शिवसेना की तारीफ  

मांझी के बड़े फैसले पर लगी रोक 

बिहार विधानसभा अध्यक्ष ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

नीतीश ने बिहार की राजनीतिक अनिश्चितता के लिए केन्द्र, बीजेपी पर लगाया आरोप 

मांझी ने त्रिपाठी और राजनाथ से मुलाकात की  

मांझी ने जो कुछ भी किया है, वह बगावत नहीं बल्कि धोखा है: नीतीश 

नीतीश मुझ पर दबाव बनाना चाहते थे: केशरीनाथ त्रिपाठी 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bihar_poltics_dinner_diplomecy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017