किरन बेदी और शाजिया इल्मी के बाद अब पूर्व 'आप' नेता विनोद कुमार बिन्नी भी हो सकते हैं बीजेपी में शामिल

By: | Last Updated: Sunday, 18 January 2015 2:33 AM
binni_likely_to_join_bjp

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक विनोद कुमार बिन्नी ने शनिवार रात दिल्ली बीजेपी प्रमुख सतीश उपाध्याय से मुलाकात की. इससे इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह भी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.

 

यह मुलाकात लगभग 20 मिनट चली. सूत्रों ने बताया कि बिन्नी के साथ चर्चा आखिरी चरण में है और वह जल्द ही किसी भी समय पार्टी में शामिल हो सकते हैं. बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि इस संबंध में अंतिम फैसला शीघ्र किया जाएगा.

 

लक्ष्मीनगर से आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक बिन्नी को आम आदमी पार्टी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते निष्कासित कर दिया था. बीजेपी में सूत्रों ने बताया कि चूंकि पार्टी ने अपने उम्मीदवारों की अब तक घोषणा नहीं की है इसलिए यह पार्टी की प्रचार रणनीति को प्रभावित कर रहा है.

 

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक बिन्नी ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर अपने सिद्धांतों से भटक जाने और चुनावी वादों पर सही ढंग से अमल नहीं करने आरोप लगाया था. उन्होंने आप मुखिया और दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ‘झूठा’ करार दिया था. इसके बाद बिन्नी को आम आदमी पार्टी ने निष्कासित कर दिया गया था.

 

इससे पहले पूर्व आप नेता शाजिया इल्मी भी बीजेपी में शामिल हो चुकी हैं. अन्ना आंदोलन के समय केजरीवाल की साथी रहीं किरन बेदी भी बीजेपी में शआमिल हो चुकी हैं और आज से चुनाव प्रचार भी करेंगी.

 

क्या है किरन बेदी के चुनाव प्रचार का प्लान?

बीजेपी में मुख्यमंत्री पद की दावेदार बनकर उभरी किरन बेदी ने दिल्ली चुनाव को लेकर अपना प्लान पेश कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक दिल्ली की सभी 70 सीटों पर किरन बेदी प्रचार करेंगी. रोज 5-6 सभाएं वो अलग अलग विधानसभा क्षेत्रों में करेंगी. प्रधानमंत्री मोदी भी दिल्ली में 5 रैलियां करेंगे.

 

क्या किरन बेदी दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी का चेहरा होंगी? क्या बीजेपी के पास दिल्ली में पार्टी के अंदर ऐसा कोई नेता नहीं है जिससे केजरीवाल के मुकाबले में खड़ा किया जा सके? दिल्ली में चुनावों से ऐन पहले बीजेपी में जिस तरह किरन बेदी की एंट्री हुई है उससे सियासी गलियारों में ये सवाल उठने लगे हैं. कहा तो यहां तक जा रहा है कि बीजेपी किरन बेदी को मुख्यमंत्री के उम्मीदवार के रुप में भी प्रोजेक्ट कर सकती है. हालांकि किरन बेदी से जब पूछा गया कि क्या वो नई दिल्ली सीट से केजरीवाल को टक्कर देंगी तो उन्होंने कुछ साफ कहने से मना कर दिया.

 

माना जा रहा कि 19 जनवरी को होने वाली बीजेपी की अहम बैठक में मुख्यमंत्री के उम्मीदवार के नाम का एलान किया जा सकता है–लेकिन बीजेपी में कुछ नेता ऐसे भी हैं जो अभी भी प्रधानमंत्री मोदी को ही अहम चेहरा मानते हैं. बीजेपी में कई ऐसे चेहरे थे जो मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवारी पर दावा ठोक रहे थे. वो भी .ये जानने के लिए बेकरार होंगे कि दिल्ली में बीजेपी का चेहरा कौन होगा?

 

किसी को धोखा नहीं दिया-किरन

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के बयान पर जवाब देते हुए किरन बेदी ने कहा है कि उन्होंने किसी को धोखा नहीं दिया है. अन्ना से रिश्तों को लेकर पूछे गये सवाल का भी किरन बेदी ने जवाब दिया और कहा कि जब उन्होंने पिछले दिनों कई बार अन्ना से बात करने की कोशिश की थी लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई.

 

आपको बता दें कि कल अन्ना हज़ारे ने किरण बेदी के बीजेपी में शामिल होने पर कहा कि पार्टी में शामिल होने से पहले बेदी ने उनसे सलाह-मशविरा नहीं किया था. यह पूछे जाने पर कि क्या बेदी उनके संपर्क में हैं तो उन्होंने कहा कि एक साल पहले हुए आंदोलन के बाद से वह रालेगण नहीं आई हैं और वह उनके संपर्क में नहीं हैं. हजारे ने कहा, ‘बीजेपी में शामिल होने का फैसला करने से पहले उन्होंने मुझे न तो फोन किया और न ही मुझसे बातचीत की.’

 

गौरतलब है कि दिल्ली में 7 फरवरी को वोटिंग होगी तो 10 फरवरी को वोटों की गिनती होगी. साल 2013 में दिल्ली में हुए विधानसभा  चुनाव में बीजेपी को 32,आप को 28, कांग्रेस को आठ और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. उस समय कांग्रेस के समर्थन से आप ने सरकार ने बनाई थी जो 49 दिनों तक चली और फिर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया.

 

संबंधित खबरें-

केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे बिन्नी 

बीजेपी में शामिल हो कर केजरीवाल को चुनौती दे सकते हैं बिन्नी 

आप के खिलाफ विधायकों की मोर्चाबंदी को लेकर शकील अहमद का आरोप, पूछा- क्या बीजेपी रच रही है साजिश? 

AAP नेता अलका लांबा ने बिन्नी के FB पोस्ट के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई 

‘आप’ विधायक बिन्नी के सुर बदले, कहा- मंत्री पद न मिलने से नाराज नहीं 

थम गया है बिन्नी पर बवाल, लेकिन सबसे बड़ा सवाल, आखिर कैसे मान गए? क्या संसदीय सचिव पद पर हुआ है समझौता? 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: binni_likely_to_join_bjp
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017