शिवसेना-बीजेपी का गठबंधन बना रहेगा, बीजेपी को 124, शिवसेना को 150 सीटों का फार्मूला तय

By: | Last Updated: Tuesday, 23 September 2014 2:35 AM
BJP and Shivsena

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना के बीच सुलह के आसार दिख रहे हैं. आज सुबह बीजेपी और शिवसेना नेताओं के बीच बैठक हुई जिसमें बीजेपी 124, शिवसेना 150 और दूसरे दलों के लिए 14 सीटें देने पर समझौता हुआ है, लेकिन आखिरी फैसला आज शाम तक होगा.

 

बैठक के बाद शिवसेना नेता ने कहा कि दोनों दलों के बातचीत में नए प्रस्ताव आए हैं जिसपर शाम को आखिरी फैसला लिया जाएगा.

 

बीजेपी की स्ट्राइक रेट बढ़िया, …तो क्या जोड़ी टूटेगी? 

एबीपी न्यूज़ के संवाददाता उमेश कुमावत का कहना है कि शिवसेना बीजेपी को 124 सीटें देने को राजी हो गई है और बीजेपी इस प्रस्ताव को कबूल करती दिख रही है. समझौते के मुताबिक शिवसेना 150 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. बाकी दूसरे दलों को 14 सीटें दी जाएंगी.

 

उमेश कुमावत के मुताबिक दोनों बड़े दलों में बात समझौते के करीब है, लेकिन छोटे सहयोगी दलों की सीटें कम की गई हैं जिससे पेंच फंस सकता है. 

 

आपको बता दें कि पहले के फार्मूल में छोटे सहयोगी दलों को 18 सीटें देने का प्रस्ताव था और अब यही मुश्किल पैदा कर सकता है.

घोषणापत्र: महाराष्ट्र में बीजेपी का स्ट्राइक रेट ज्यादा, जनता तय करेगी सीएम: देवेंद्र फडणवीस 

असली लड़ाई क्या है?

 

इससे पहले, बीजेपी नेता राजीव प्रताप रूडी ने इशारों में कहा कि सीटें तो बहाना है असली लड़ाई ज्यादा सीटें जीतकर मुख्यमंत्री पद पाना है.

 

बीजेपी के मुताबिक उसे 130 सीटों से कम मंजूर नहीं हैं. शिवसेना ने उसे 119 सीटों का ऑफर दिया है. बीजेपी के रूडी के मुताबिक बीजेपी उन सीटों को लेने के लिए तैयार जिन पर शिवसेना पिछले 30 सालों में जीत नहीं सकी है.

 

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से बात की. आखिरी प्रस्ताव पर विचार करने को कहा है. ये भी कहा कि गठबंधन बचाना जरूरी है. अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से कहा कि वो 78 सीटें जिनपर बीजेपी या शिवसेना कभी नहीं जीती है उन पर फिर से विचार किया जाना चाहिए.

 

सीट बंटवारे पर महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे से की बात और कहा शिवसेना को फैसला लेना है. महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष ने सीट बंटवारे के बढ़ते विवाद के बीच कहा है कि दोस्तों के लिए कोई डेडलाइन नहीं है.

 

यह भी पढ़ें- …महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच विवाद की ये वजह है!

 

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि पार्टी अपनी मांगो पर कायम है और इसमें कोई बदलाव नहीं होगा. मुंबई के मशहूर डिब्बेवालों ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात करके समर्थन का एलान किया है.

 

क्या है लड़ाई?

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं और बीते चुनाव में बीजेपी 119 और शिवसेना 169 सीटों पर लड़ी थी, लेकिन लोकसभा में जीत के बाद बीजेपी जोश में है और ज्यादा सीटों की मांग कर रही है.

 

लेकिन शिवसेना का कहना है कि उसे अपने लिए 150 सीटों से कम पर समझौता मंजूर नहीं है.  शिवसेना की मांग यह भी है कि राज्य का अगला सीएम भी उनकी पार्टी का होना चाहिए.

 

बीजेपी चाहती है कि महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में दोनों पार्टियां 135-135 सीटों पर लड़ें. बाकी सीटें महागठबंधन के छोटे दलों की दी जाएं.शिवसेना ने कहा है कि वो 150 से कम सीटों पर बिल्कुल नहीं लड़ेगी. 

 

क्या रहा था लोकसभा का चुनाव-

राज्य में हाल में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने कुल 48 सीटों में से 23 सीटें जीती थीं जबकि शिवसेना को 18 सीटें मिली थीं. बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में अपने अच्छे प्रदर्शन की मिसाल देकर बीजेपी कम से कम 15 और सीट चाह रही है जबकि शिवसेना पुराने फार्मूले पर ही अड़ी है.

 

बीजेपी और शिवसेना का महाराष्ट्र में 25 साल से गठबंधन है. बीजेपी की दलील है कि बीते पच्चीस साल में शिवसेना जिन सीटों पर कभी नहीं जीती उस पर फिर से समझौता हो.शिवसेना इसके लिए राजी नहीं है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BJP and Shivsena
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017