'कर्मों से कैंसर' वाले बयान से बीजेपी का किनारा, सरमा ने खेद के बजाए दिया गीता का उदाहरण

'कर्मों से कैंसर' वाले बयान से बीजेपी का किनारा, सरमा ने खेद के बजाए दिया गीता का उदाहरण

हेमंत बिस्वा सरमा के बेतुके बयान से एक तरफ जहां उनपर राजनीतिक हमले शुरू हो गए हैं वहीं कई कैंसर पीड़ितों ने स्वास्थ्य मंत्री के बयान पर निराशा भी जताई.

By: | Updated: 23 Nov 2017 03:50 PM
BJP denies from Justice due to karmic sins; Sarma gives Gita’s example instead of apologising

नई दिल्ली: असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा के कैंसर को लेकर दिए विवादित बयान से बीजेपी ने किनारा कर लिया है. बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा, ''कैंसर एक गंभीर बीमारी है और इसको कर्मों से जोड़ना सही नहीं है. हमारी सरकार कैंसर के लिए बहुत काम कर रही है, कैंसर पीड़ितों के प्रति हमारी हमदर्दी है.''


शाहनवाज हुसैन ने कहा, "स्वास्थ्य मंत्री का कुछ और संदर्भ रहा होगा, उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया है. वो कई बार के विधायक हैं और बड़े नेता हैं लेकिन पार्टी उनके बयान से सहमत नहीं है. हम किसी भी बीमारी के लिए कर्मों को जिम्मेदार नहीं मानते."


क्या कहा था हेमंत विस्न सरमा ने?
गुवाहाटी में एक कार्यक्रम में हेमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि कैंसर पाप का फल है. उन्होंने कहा, ''कैंसर होना, एक्सीडेंट होना ये सब पूर्व जन्म के कर्मों का नतीजा है. ये ईश्वरीय न्याय है, ईश्वरीय न्याय होकर रहता है. कोई इससे बच नहीं सकता. गुवाहाटी में एक कार्यक्रम में हेमंत बिस्वा सरमा ने कहा जरूरी नहीं कि गलती हम ही करें, कई बार माता-पिता भी गलती कर देते हैं जिसकी सजा भुगतनी पड़ती है.


खेद जताने के बजाए दिया गीता का उदाहरण


हेमंत बिस्वा सरमा  ने उनके गैर जिम्मेदाराना बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने भगवान कृष्ण को बीच में घसीट लिया. उन्होंने कहा, ''हमारे हिन्दू धर्म गीता में लिखा है कि हमें पिछले जन्म की सजा भुगतनी पड़ती है. ये बात मानी हुई है, ये कोई मेरा बयान नहीं है ये बात तो भगवान कृष्ण ने कही है."

क्या कहते हैं मेडिकल एक्सपर्ट?
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्षक डॉ. के के अग्रवाल ने कहा, ''स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टरों समेत पूरे समाज का नेतृत्व करते हैं. इस प्रकार के बयान उन्हें शोभा नहीं देते. उनके बयान से संदेश जा रहा है कि कैंसर के मरीजों को इलाज बंद करवा के घर बैठना चाहिए. कल को हो सकता है कोई कह दे कि हार्ट अटैक या पैरालिसिस का इलाज मत कराओ ये आपके कर्मों का फल है. धर्म में विश्वास रखिए लेकिन इस तरह का भ्रम फैलाने का कोई अधिकार नहीं है.''


क्या कहते हैं आध्यात्मिक गुरू?
देश के जाने माने आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा ने कहा, ''ये कहना बिल्कुल गलत है कि पिछले जन्मों के कर्मों से कैंसर हो सकता है. इतना जरूर है कि पिछले जन्मों का कुछ प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है. किसी भी मंत्री को ऐसी बात नहीं कहनी चाहिए. हम किसी कैंसर मरीज से ये नहीं कह सकते कि आपको कैंसर हो गया है अब आप इसे भुगत लीजिए.''


कांग्रेस ने किया सरमा के बयान का विरोध
कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, ''हेमंत बिस्वा सरमा सिर्फ स्वास्थ्य मंत्री ही नहीं शिक्षा मंत्री भी हैं. उनका यह बयान बेहद गैरजिम्मेदाराना है. देश में कई लोग कैंसर से पीड़ित हैं. हर साल इनमें सात लाख की वृद्धि हो रही है. इसकी रोकथाम के बजाए ऐसा बयान दुखद है. उन्हें ना सिर्फ कैंसर पीड़ितों से बल्कि उनके परिवार वालों से भी माफी मांगनी चाहिए.''

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: BJP denies from Justice due to karmic sins; Sarma gives Gita’s example instead of apologising
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 'उबल रही भावनाओं' के बीच उदयपुर में 24 घंटे के लिये इंटरनेट बंद, धारा 144 लागू