नारायण राणे का मंत्री बनने का सपना टूटा, बीजेपी-शिवसेना ने नहीं बनाया उम्मीदवार

नारायण राणे का मंत्री बनने का सपना टूटा, बीजेपी-शिवसेना ने नहीं बनाया उम्मीदवार

राणे ने सितंबर महीने में कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने आरोप लगाया था कि कई वादों के बाद भी कांग्रेस में उनके साथ न्याय नहीं किया गया था.

By: | Updated: 27 Nov 2017 10:17 AM
BJP gives Vidhan Parishad ticket to Prasad Lad instead of Narayan Rane

नई दिल्ली: कांग्रेस छोड़ने वाले महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे का मंत्री बनने का सपना टूट गया है. नारायण राणे को विधान परिषद के लिए बीजेपी, शिवसेना का उम्मीदवार नहीं बनाया गया है. बीजेपी ने शिवसेना से समर्थन का भरोसा मिलने पर अपने उम्मीदवार प्रसाद लाड़ को विधान परिषद का टिकट दिया. शिव सेना ने राणे का विरोध किया था.


दरअसल मंत्री बनने के लिए या तो विधानसभा का सदस्य होना चाहिए या विधान परिषद का. नारायण राणे ने जिस वक्त इस्तीफा दिया था वो कांग्रेस से विधान परिषद के सदस्य थे. इससे जो सीट खाली हुई उस पर उप चुनाव सात दिसबंर को उपचुनाव होना है. नारायण राणे ने इस्तीफा देने के बाद पार्टी बनाई और एनडीए को समर्थन का एलान किया. राणे को उम्मीद थी कि बीजेपी या शिवसेना से उन्हें उप चुनाव के लिए टिकट मिलेगा.


बीजेपी में राणे का अंदरूनी विरोध हो रहा था, बीजेपी के नेता अपने लिए टिकट की मांग कर रहे थे, वहीं शिवसेना ने साफ कहा था कि अगर राणे को टिकट दिया गया तो वो विरोध करेगी. ऐसे में बीजेपी ने तय किया बीजेपी अपना उम्मीदवार उतारेगी और इसी के साथ नारायण राणे का मंत्री बनने का सपना टूट गया.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: BJP gives Vidhan Parishad ticket to Prasad Lad instead of Narayan Rane
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राहुल के इंटरव्यू पर बढ़ा विवाद, EC पहुंची कांग्रेस ने कहा- पीएम मोदी और अमित शाह पर भी हो FIR