क्या कांग्रेस और बीजेपी में कोई फर्क नहीं है?

By: | Last Updated: Tuesday, 27 October 2015 1:27 PM
BJP hits back arun shourie

नई दिल्ली: बीजेपी की वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. शौरी ने सरकार को सबसे कमजोर बताया है और कहा है कि कांग्रेस की नीतियों पर चल रही सरकार में गाय जुड़ गई. शौरी के बयान को कांग्रेस का समर्थन भी मिल गया है. बडा सवाल ये है कि क्या कांग्रेस और बीजेपी में कोई फर्क नहीं है?

 

शौरी को सरकार में शामिल न हो पाने का है दर्द: बीजेपी 

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी कह रहे हैं कि अब तो लोगों ने ये गुनगुना शुरू कर दिया है कि कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिन. कांग्रेस बीते दिनों की याद इसलिए दिला रही है क्योंकि बीजेपी के वरिष्ठ नेता और वाजपेयी सरकार में विनिवेश मंत्री रहे अरुण शौरी ने मोदी सरकार पर हमला बोला है.

 

शौरी जो कह रहे हैं उसका मतलब ये लगता है कि मोदी सरकार कांग्रेस की नीतियों पर ही चल रही है और सिर्फ उसमें गोमांस विवाद जुड़ गया है. यूपी के दादरी में गोमांस विवाद की वजह से हुई हत्या के बाद से देश में गोमांस का मुद्दा छाया हुआ है. मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए अरुण शौरी ने कहा है कि प्राइवेट सेक्टर में निवेश मोदी सरकार में भी नहीं बढ़ा और 15-16 फीसदी से गिरकर जो 11 फीसदी हुआ था उसे ठीक नहीं किया गया.

 

शौरी ने कहा कि इसे दुरुस्त करने के लिए जो होना था उनमें अहम थी हमारी टैक्स प्रणाली, जिसमें कुछ भी नहीं बदला. दूसरा था बैंकिंग सुधार-इसमें भी कुछ भी नहीं बदला, बिना किसी वजह के ये काम साल-डेढ़ साल लेट हो गया. इसलिए लग रहा है कि ये लोग कुछ ज्यादा ही उदार हैं.

 

अरुण शौरी आज भले मोदी से निराश हों लेकिन दो साल पहले  2013 में शौरी की नजर में मोदी से बेहतर कोई पीएम उम्मीदवार था ही नहीं.

 

वैसे एक सच्चाई ये भी है कि पार्टी का विरोध करना शौरी की आदत में शामिल हो चुका है. इससे पहले 2009 में जब राजनाथ सिंह पार्टी के अध्यक्ष थे तब शौरी ने पूरी पार्टी को कटी पतंग और राजनाथ को टारजन कह दिया था.

 

मोदी सरकार के एक साल पूरा होने पर शौरी ये भी कह चुके हैं कि बीजेपी को मोदी, शाह और जेटली की त्रिमूर्ति चला रही है. अब बीजेपी कह रही है कि मोदी सरकार में कोई पद न मिलने पर हताशा में शौरी ऐसे बयान दे रहे हैं.

 

अर्थव्यवस्था पर अच्छी पकड़ रखने वाले शौरी ने वाजपेयी सरकार की आर्थिक नीतियों को तय करने में अहम भूमिका निभाई थी. लेकिन मोदी सरकार में शौरी को कोई काम नहीं मिला.

 

 

शौरी ने कहा था, ‘‘अब डाक्टर मनमोहन सिंह को लोग याद करने लगे हैं. सरकार की नीतियां बनाने का तरीका कांग्रेस (जैसा) है.. और गाय का मुद्दा है. नीतियां समान हैं. मोदी सरकार से अर्थव्यवस्था नहीं संभल रही है. सरकार सिर्फ अखबारों की सुर्खियों को मैनेज कर रही है.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BJP hits back arun shourie
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017