मोदी नहीं बदल पाए इतिहास...इन सीटों की कसक रह गई/ bjp never wins these seats in gujarat after indendence in assembly polls

मोदी नहीं बदल पाए इतिहास...इन सीटों की कसक रह गई

आजादी के बाद से गुजरात की कुछ सीटें ऐसी रही हैं जहां बीजेपी कभी नहीं जीत पाई, उन सीटों पर कांग्रेस का ही कब्जा रहा है और इतिहास इस बार भी नहीं बदला.

By: | Updated: 19 Dec 2017 03:25 PM
bjp never wins these seats in gujarat after indendence in assembly polls

File Photo

गुजरात विधानसभा चुनाव रिजल्ट 2017: आजादी के बाद से गुजरात की कुछ सीटें ऐसी रही हैं जहां बीजेपी कभी नहीं जीत पाई, उन सीटों पर कांग्रेस का ही कब्जा रहा है और इतिहास इस बार भी नहीं बदला. कांग्रेस इस बार भी अपने उन किलों को बचाने में कामयाब रही. जिन सीटों की हम बात कर रहे हैं उनकी संख्या 4 है. नाम है:


महुधा- खेड़ा जिला


बोरसाड- आणंद जिला


झागडिया- भरूच जिला


व्यारा- तापी जिला


ये वो सीटें हैं जिनका तिलिस्म चाहे दंगों के बाद की लहर रही हो या फिर अब की मोदी लहर...बीजेपी इसे तोड़ नहीं पाई.


व्यारा सीट पर कांग्रेस के गमित पूनाभाई की जीत हुई है, जबकि बोरसाड सीट पर परमार राजेंद्रसिंह ने बीजेपी के रमनभाई सोलंकी को हराया जबकि भरूच जिले की झागडिया सीट पर बाहुबली छोटूभाई वसावा ने लगातार चौथी बार धमाकेदार जीत दर्ज की, छोटूभाई की पार्टी से कांग्रेस का गठबंधन है. छोटूभाई को इस बार 1 लाख ज्यादा वोट मिले हैं.


खेड़ा जिले की महुधा सीट की बात करें तो एक बार फिर यहां कांग्रेस का कब्जा हुआ है, यहां इंद्रजीत सिंह परमार ने बीजेपी के भरत सिंह परमार को 10 हजार से ज्यादा वोटों से हराया.


यानि साफ है कि कांग्रेस भले ही सत्ता में वापसी ना कर पाई हो लेकिन अपनी इन 4 पारंपरिक सीट को बचाने में कामयाब रही है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: bjp never wins these seats in gujarat after indendence in assembly polls
Read all latest Gujarat Assembly Election 2017 News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अफसर बनाम सरकार: केजरीवाल बोले- अमित शाह से सवाल पूछें एजेंसियां, BJP का पलटवार- भाषा की मार्यादा ना भूलें