उद्धव ठाकरे का बीजेपी पर बड़ा हमला, कहा- जरूरत नहीं रही तो शिवसेना को छोड़ दिया

By: | Last Updated: Wednesday, 15 October 2014 7:14 AM
BJP shivsena

नई दिल्ली: आज महाराष्ट्र और हरियाणा में वोटिंग हो रही है लेकिन बीजेपी और शिवसेना में आरोप-प्रत्यारोप का दौर नहीं थम रहा है. आज एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी के अपमान को हम कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे.

 

वहीं पीएम को चायवाला बताने वाले शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने आज वोट डालने के बाद बीजेपी पर सारा गुस्सा निकाल दिया. उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी को अब शिवसेना की जरूरत नहीं है इसलिए साथ छोड़ दिया है.  ठाकरे ने कहा, “हरियाणा में कुलदीप बिश्नोई का क्या किया उन्होंने? उनके पीठ में छुरा क्यों घोपा? ये खेल उन्होंने शिवसेना के साथ नहीं कुलदीप बिश्नोई के साथ भी किया था. हरियाणा में भी बीजेपी हार रही है.”

 

उद्धव ने बीजेपी पर इस्तेमाल करके छोड़ देने का आरोप लगाया तो उससे पहले बीजेपी की ओर से नितिन गडकरी ने सामना पर गठबंधन टूटने का सारा आरोप मढ़ दिया. सामना के संपादकीय में ‘मोदी के पिता को टारगेट करने’ और बीजेपी को ‘नंबर वन दुश्मन’ बताने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए गडकरी ने कहा, “ये फ्रस्टेशन और निराशा है. निश्चित रूप से सामना और सामना के संपादकीय ने बीजेपी और शिवसेना के रिश्ते को लगातार तोड़ने का काम किया. नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं. उनके पिता के बारे में उल्लेख करना दुर्भाग्यपूर्ण है. इसे बीजेपी के कार्यकर्ता कभी सहन नहीं करेंगे.”

 

आपको बता दें कि कल सामना के संपादकीय में मोदी पर व्यक्तिगत हमला किया था.दोपहर का सामना अखबार ने लिखा, “अकेले बीजेपी के नाम पर बीजेपी को जनादेश तो मिला नहीं था. यदि शिवसेना ने बीजेपी स्टाइल में ही लोकसभा चुनावों के पहले दांव मारा होता, तो मोदी के बाप दामोदरदास भी बीजेपी को 2014 में पूर्ण बहुमत नहीं दिला पाते.”

 

हालांकि इस बयान से बाद में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने किनारा कर लिया है. ठाकरे ने कहा कि यह बयान ‘दोपहर का सामना’ के  संपादक प्रेम शुक्ला का व्यक्तिगत बयान था. मोदी को ‘चायवाला पीएम’ बताने वाले बयान से उद्धव ठाकरे ने लिया यू-टर्न

 

पीएम मोदी द्वारा विधानसभा चुनाव प्रचार करने पर बीजेपी को शिवसेना सहित कई विरोधी पार्टियों की आलोचना का शिकार होना पड़ा था. इस पर गडकरी ने कहा, “शिवसेना जो करे सो करे. मोदी प्रचार करें या ना करें इसके बारे मं उन्हें कुछ कहने का अधिकार नहीं है. इस प्रकार से पीएम का अपमान किया जाएगा, उनके पिता का उल्लेख किया जाएगा, इसे बीजेपी कभी बर्दाश्त नहीं करेगी. हमारा कोई सम्मान नहीं करेगा चलेगा लेकिन कोई अपमान करेगा तो उसे हम सहन नहीं करेंगे.”

 

हालांकि उद्धव ठाकरे ने गडकरी के बयान पर कहा है कि बीजेपी को अब शिवसेना की जरूरत नहीं है इसलिए साथ छोड़ दिया है. पत्नी और बेटे आदित्य ठाकरे वोट करने पहुंचे उद्धव ठाकरे ने कहा, “नरेंद्र मोदी के लिए मेरे दिल में इज्जत है. मैंने उनके लिए प्रचार भी किया. उन्हें जरूरत थी तो हमारे साथ थे अब नहीं है तो छोड़ दिया.”

 

ठाकरे ने कहा कि कहा कि मैंने सामना में अपनी बात रखी है अब महाराष्ट्र की जनता बीजेपी और गडकरी को जवाब देगी.

 

दूसरी तरफ गडकरी ने आरोप प्रत्यारोप पर कहा कि हमारे मन में बाला साहेब के प्रति हमारे सम्मान है. जो बातें मर्यादा तक हमने सहन की हैं. हमारे प्रधानमंत्री का पूरा देश सम्मान करता है और उनके पिता के नाम पर राजनीति करना ठीक नहीं है.

 

आपको बता दें कि सीट बंटवारे को  लेकर बीजेपी-शिवसेना का 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया था. जिस कारण से ये दोनों दल इस बार अगल-अगल चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आज़मा रहे हैं.

 

महाराष्ट्र के चुनाव में ऐसा पहली बार हो रहा है जब पांच बड़ी पार्टियां (बीजेपी, कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना, मनसे) चुनावी मैदान में आमने सामने होंगी . गठबंधन होने की वजह से अब तक त्रिकोणीय मुकाबला होता रहा है . लेकिन इस बार सभी सीटों पर पांच बड़ी पार्टियों का मुकाबला है इसलिए मामूली अंतर से भी जीत हार का फैसला हो सकता है.

 

संबंधित खबरें-

मोदी को ‘चायवाला पीएम’ बताने वाले बयान से उद्धव ठाकरे ने लिया यू-टर्न 

मोदी के लिए क्यों अहम है ये चुनाव? 

विधानसभा चुनाव: महाराष्ट्र में 4,119 और हरियाणा में करीब 1400 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज  

महाराष्ट्र और हरियाणा में मतदान ने पकड़ी रफ्तार  

चुनावी हमलों के बीच मोदी के पिता तक पहुंचने के बाद उद्धव ठाकरे पीछे हटे

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BJP shivsena
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017