महाराष्ट्र में टूट सकता है बीजेपी शिवसेना का 26 साल पुराना रिश्ता!

By: | Last Updated: Wednesday, 14 October 2015 8:00 AM
BJP to discuss probability of parting ways with ally Sena

मुंबई: महाराष्ट्र में गठबंधन सहयोगी शिवसेना के साथ संबंधों में बढ़ते तनाव के संकेतों के बीच बीजेपी की अगुवाई वाली प्रदेश सरकार शिवसेना के साथ ‘‘रिश्ते तोड़ने ’’ की संभावनाओं पर विचार विमर्श करेगी. शिवसेना ने एक दिन पहले ही बीजेपी से कहा था कि यदि उन्हें अपने गठबंधन सहयोगी से कोई समस्या है तो वे गठबंधन सरकार से अलग हो जाएं.

 

बीजेपी के एक शीर्ष नेता ने कहा है कि कल बीजेपी के मंत्रियों और पार्टी पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक में शिवसेना के साथ ‘‘संबंध तोड़ने की संभावना’’ पर विचार विमर्श किया जाएगा. पार्टी पदाधिकारी के अनुसार, बीजेपी चाहती है कि शिवसेना सत्ता से बाहर हो जाए.

 

इसके विपरीत एक अन्य वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा है कि शिवसेना ऐसा अतिवादी फैसला करने की ’’हिम्मत’’ नहीं करेगी. इस बीच, एक शिवसेना नेता ने यहां सरकार से बाहर होने के विचार को ‘अफवाह’ करार दिया और कहा कि वह सत्ता में बनी रहेगी. 15 अक्तूबर की बैठक के एजेंडे में सत्ता में देवेन्द्र फडणवीस सरकार का एक साल का कार्यकाल, उसकी उपलब्धियां और जश्न मनाने के तरीके शामिल हैं. बीजेपी प्रवक्ता माधव भंडारी ने बताया, ‘‘

 

बैठक में हर मंत्रालय की पांच पांच उपलब्धियों को अंतिम रूप दिया जाएगा. अन्य मुद्दे भी चर्चा के लिए हैं.’’ हालांकि उन्होंने कल की बैठक में उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली पार्टी के बारे में कोई चर्चा की संभावना से इंकार किया. कल की बैठक में भाग लेने वाले एक अन्य पार्टी नेता ने दावा किया कि बीजेपी के प्रति जिस प्रकार का शिवसेना का व्यवहार है, उससे बीजेपी ‘‘दम घुटता’’ सा महसूस कर रही है. बीजेपी नेता ने अपना नाम गुप्त रखने की शर्त पर कहा, ‘‘

 

हालांकि शिवसेना बीजेपी सरकार का हिस्सा है, केंद्र और राज्य दोनों जगह पर. लेकिन उसने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और बीजेपी की आलोचना करने का एक भी मौका नहीं गंवाया.’’ उन्होंने यह भी दावा किया कि पिछले कुछ दिनों में शिवसेना ने पाकिस्तानी गायक गुलाम अली तथा पूर्व पाक विदेश मंत्री खुर्शीद कसूरी को लेकर राज्य सरकार को ‘‘ब्लैकमेल’’ करने का भी प्रयास किया. बीजेपी नेता के अनुसार, सत्तारूढ़ पार्टी के भीतर शिवसेना के खिलाफ ‘‘कड़ा रवैया’’ है.

 

बीजेपी नेताओं और मंत्रियों के बीच हाल ही में बंद कमरे में हुई बठक में राज्य के घटनाक्रम को लेकर शिवसेना से अलग होने के मुद्दे पर विचार विमर्श किया गया था. बीजेपी नेता ने कहा, ‘‘ यदि शिवसेना सरकार से हटती है तो बहुमत साबित करने के लिए हमारे 123 विधायक हैं, सात निर्दलीय बीजेपी के साथ हैं तथा हमें 15 और की जरूरत पड़ेगी.’’ उन्होंने साथ ही कहा, ‘‘ एक बार शिवसेना के सरकार से हटने के बाद कम से कम उसके 17. 18 विधायक बीजेपी में शामिल हो जाएंगे.’’

 

हालांकि वरिष्ठ नेता और राज्य के शिक्षा मंत्री विनोद तवाड़े ने शिवसेना के सत्ता से बाहर होने की संभावनाओं को खारिज किया और कहा कि गठबंधन सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. उन्होंने कहा, ‘‘ कोई भी अपना कार्यकाल पूरा होने से पूर्व चुनाव नहीं लड़ना चाहता. बीजेपी और शिवसेना अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी तथा कोई भी सरकार की स्थिरता को प्रभावित नहीं कर सकता.’’ शिवसेना के मंत्री रामदास कदम ने सरकार से अलग होने की खबरों को ‘‘महज अफवाह’’ बताकर खारिज कर दिया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘ अफवाहों, संदेशों या सोशल मीडिया के उन संदेशों पर भरोसा नहीं करें जो कहते हैं कि शिवसेना सरकार से अलग हो जाएगी. हम सरकार में बने रहेंगे.’’ हालांकि बीती शाम, शिवसेना सांसद संजय राउत द्वारा बीजेपी के खिलाफ हमला बोले जाने और उससे सरकार से अलग होने को कहने के बीच शिवसेना के मंत्री दीपक सावंत ने फडणवीस के साथ स्वास्थ्य विभाग के कामकाज की समीक्षा की.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BJP to discuss probability of parting ways with ally Sena
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017