बीजेपी खाद्य सुरक्षा का विरोध करना चाहती थी: बीजेपी नेता

By: | Last Updated: Friday, 23 January 2015 3:18 AM
bjp wanted to oppose food security bill says a senior bjp leader shanta kumar

फ़ाइल फ़ोटो: बीजेपी के वरिष्ठ नेता शांता कुमार

नई दिल्ली: बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता शांता कुमार ने आज कहा कि जब यूपीए सरकार खाद्य सुरक्षा विधेयक (फूड सिक्योरिटी बिल) लेकर आई थी तो बीजेपी ने महसूस किया कि 67 फीसदी आबादी को इसके दायरे में लाना बहुत अधिक है लेकिन उसने इसका विरोध नहीं किया क्योंकि उसे गरीब विरोधी कहलाने का डर था.

 

कुमार ने ही उस उच्च स्तरीय समिति की अध्यक्षता की है जिसने खाद्य सुरक्षा के दायरे को घटाकर 40 फीसदी आबादी तक करने की अनुशंसा की है. उन्होंने कहा कि बीजेपी जब सत्ता में आई तो उसने इसमें सुधार करने का फैसला किया.

 

कुमार ने कहा, ‘‘जब यह अधिनियम आया तो हमारी पार्टी ने महसूस किया कि 67 फीसदी लोगों को इसके दायरे में लाना काफी ज्यादा है. चुनाव से पहले इस कानून को खाद्य सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि वोट सुरक्षा के लिए लागू किया गया. विपक्षी पार्टी के तौर पर हमने राजनीतिक मजबूरी के कारण इसका समर्थन किया.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारी सोच थी कि जब हम सत्ता में आएंगे तो इसमें सुधार करेंगे और इसके दायरे को संतुलित करेंगे. अगर हम चुनाव से पहले इस कानून का विरोध करते तो लोग हमें गरीब विरोधी कहते.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bjp wanted to oppose food security bill says a senior bjp leader shanta kumar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017