इलाहाबाद: मॉक ड्रिल में केसरिया झंडा के इस्तेमाल को बड़ा मुद्दा बनाएगी बीजेपी

By: | Last Updated: Saturday, 27 June 2015 11:23 AM

नई दिल्ली: इलाहाबाद में कल हुई पुलिस की मॉक ड्रिल में दंगाइयों की टोली को केसरिया झंडे के साथ दिखाए जाने के मुद्दे पर अब सियासत शुरू हो गई है. बीजेपी ने इसे बड़ा मुद्दा बनाते हुए कल से आंदोलन शुरू करने का एलान किया है.

 

इस आंदोलन के तहत इलाहाबाद के हर प्रमुख चौराहों पर कल से प्रदर्शन किया जाएगा, जबकि चार जुलाई को यूपी के बीजेपी सांसद चौबीस घंटे तक लखनऊ में विधानसभा भवन का घेराव करेंगे.

 

आंदोलन की रणनीति तय करने के लिए यूपी बीजेपी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई आज खुद इलाहाबाद पहुंचे और उन्होंने पार्टी सांसदों – विधायकों व प्रमुख नेताओं के साथ कई घंटे तक बैठक कर आंदोलन का खाका तैयार किया.

 

प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई इलाहाबाद में आज फूलपुर से पार्टी के सांसद केशव प्रसाद मौर्या, इलाहाबाद के सांसद श्यामाचरण गुप्ता, कौशाम्बी के सांसद विनोद सोनकर और बलिया के विधायक उपेन्द्र त्रिपाठी समेत पार्टी के तमाम नेताओं के साथ इलाहाबाद के कमिश्नर से मुलाकात की और उनसे इस मामले में कड़ी कार्रवाई किये जाने की मांग की.

 

बीजेपी नेताओं ने कमिश्नर से कहा कि अगर इस मामले में ज़िम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वह कल से सड़कों पर उतरकर अपना आंदोलन करने को मजबूर होंगे.

 

बीजेपी नेताओं का कहना है कि इलाहाबाद पुलिस ने सरकार के दबाव में जानबूझकर यह काम किया है, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. बीजेपी ने इस मुद्दे पर इलाहाबाद में कल से सभी प्रमुख चौराहों पर प्रदर्शन करने, तीन जुलाई को यूपी के सभी जिला मुख्यालयों पर धरना देने और चार जुलाई को यूपी में पार्टी के सभी सांसदों द्वारा चौबीस घंटे तक विधानसभा भवन का घेराव करने का एलान किया है.

 

गौरतलब है कि इलाहाबाद पुलिस ने दंगा नियंत्रण की तैयारयों की परख के लिए कल सुबह पुलिस लाइन में माक ड्रिल का आयोजन किया था. इस माक ड्रिल में आधे पुलिस वाले सिविल ड्रेस में दंगाई बने हुए थे, जबकि बाकी आधे पुलिस की असली भूमिका में उन्हें काबू में करने की ज़िम्मेदारी निभा रहे थे.

 

दंगाई बने पुलिस वालों के हाथों में केसरिया झंडा पकड़ाया गया था. यह माक ड्रिल करीब दो घंटे तक चली थी और दंगाई बने पुलिस वाले पूरे वक्त हाथों में केसरिया झंडा लिए हुए थे.

 

दंगाई भले ही नकली रहे हों, लेकिन उनके हाथो में केसरिया झंडा पकड़ाने का यही कदम विवादों के घेरे में आ गया है. हालांकि इस माक ड्रिल में भी दंगाई ज़्यादातर वक्त पुलिस वालों पर भारी साबित हुए. पुलिस के कई लोग तो ज़ख़्मी भी हो गए थे.

 

कमिश्नर ने किया कार्रवाई का एलान

इलाहाबाद पुलिस की मॉक ड्रिल में केसरिया झंडे का इस्तेमाल किये जाने के मामले में बीजेपी नेताओं के तीखे तेवर के बाद अखिलेश सरकार के अफसरान अब बैकफुट पर आ गए हैं. चौबीस घंटे की चुप्पी के बाद इलाहाबाद के कमिश्नर राजन शुक्ल ने इस मामले में अब कार्रवाई का एलान किया है.

 

कमिश्नर राजन शुक्ल के मुताबिक़ उन्होंने इस मामले में इलाहाबाद के डीएम और एसएसपी से आज रात तक रिपोर्ट देने को कहा है. इस रिपोर्ट के आधार पर ही वह इस मामले में कार्रवाई करेंगे.

 

उन्होंने यह माना है कि माक ड्रिल में अगर यह संयोगवश भी हुआ है तो भी इस मामले में किसी न किसी की ज़िम्मेदारी तो बनती ही है. उनका कहना है कि यूपी बीजेपी के अध्यक्ष व सांसदों को भी उन्होंने चौबीस घंटों में उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया है.

 

कमिश्नर राजन शुक्ल के मुताबिक़ अब यह इलाहाबाद के डीएम व एसएसपी को तय करना है कि वह सीधे तौर पर अपनी रिपोर्ट उन्हें सौंपते हैं या फिर अपने किसी मातहत अधिकारी से जाँच कराकर उसकी जांच रिपोर्ट उन्हें सौंपेंगे.

 

कमिश्नर के इस बयान के बाद यह उम्मीद जताई जा रही है कि अखिलेश सरकार इस मामले में अब कोई न कोई कार्रवाई कर विवाद को ख़त्म करना चाहेगी.

 

पुलिस माक ड्रिल में दंगाइयों की टोली को केसरिया झंडे के साथ दिखाए जाने के मामले में पिछले दो दिनों से अखिलेश सरकार और उनकी पुलिस की काफी फजीहत हो रही है. बीजेपी ने तो इस मुद्दे पर कल से आंदोलन शुरू करने का एलान भी कर दिया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: BJP Will Make A Big Issue Of Saffron Flag In Police Mock Dril
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017