क्या शिवसेना के आगे झुक गई बीजेपी?

By: | Last Updated: Tuesday, 23 September 2014 10:30 AM

नई दिल्ली : महाराष्ट्र में पर्चा दाखिल करने की आखिरी तारीख में अब सिर्फ चार दिन बाकी हैं. अब जाकर हुआ है शिवसेना और बीजेपी का समझौता. दोनों पार्टियों ने साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि गठबंधन बना रहेगा. सीटों का एलान नहीं हुआ है लेकिन सूत्रों के मुताबिक बीजेपी 124 और शिवसेना लड़ेगी 150 सीटों पर, छोटे सहयोगियों को सिर्फ 14 सीटें देने का प्रस्ताव रखा गया है. बड़ा सवाल ये है कि क्या शिवसेना के आगे झुक गई बीजेपी?

 

बीजेपी भले शिवसेना को 151 सीटें देने पर राजी नहीं थी लेकिन आखिरकार उन्हें 150 सीटों पर राजी होना पड़ा. सूत्रों के मुताबिक शिवसेना 150 सीट पर ही लड़ेगी और बीजेपी को 124 सीटें दी गई हैं जबकि सहयोगियों को 14 सीटें मिली हैं. इससे पहले शिवसेना का फॉर्मूला इसी के आसपास था.

शिवसेना-बीजेपी का गठबंधन बना रहेगा, बीजेपी को 124, शिवसेना को 150 सीटों का फार्मूला तय 

शिवसेना के पुराने फॉर्मूले के मुताबिक बीजेपी को 119 और सहयोगियों को 18 सीटें थीं. जबकि बीजेपी 130 सीट से कम पर मानने को राजी नहीं थी. लेकिन शिवसेना ने सहयोगियों की चार सीटें घटाकर बीजेपी को झुकने पर मजबूर कर दिया.

 

शिवसेना ने अपनी बात मनवा ली और 150 से कम सीटों पर नहीं मानी. बीजेपी को झुकना पड़ा, उनके हिस्से में 130 से कम सीटें आईं. सहयोगियों को बलि का बकरा बनाया गया, पहले 18 सीट दी फिर घटाकर 14 कर दी. सीएम किस पार्टी का होगा इस पर कोई फैसला नहीं हुआ.

 

बीजेपी ज्यादा सीटें इसलिए चाहती थी क्योंकि महाराष्ट्र के चुनाव में उसका स्ट्राइक रेट अच्छा रहा है. और ज्यादा सीटें जीतने पर सीएम की कुर्सी पर बीजेपी की दावेदारी मजबूत हो सकती थी.

 

1995 से शुरुआत करें तो  शिवसेना 169 पर लड़कर 73 सीटों पर जीती थी. जबकि बीजेपी 116 पर लडकर 65 पर जीती.. यानी शिवसेना 43 फीसदी सीट जीती जबकि बीजेपी को 56 फीसदी सीटों पर जीत मिली .

 

1999 के चुनाव में शिवसेना 161 पर लड़के 69 पर जीती. जबकि बीजेपी 117 पर लड़कर 56 पर जीती . इस साल शिवसेना का स्टाइक रेट 43 फीसदी रहा जबकि बीजेपी को 48  फीसदी सीटें हासिल हुई .

 

फिर 2004 चुनाव में 163 पर लड़के शिवसेना  62 सीटें पर जीती जबकि  बीजेपी 111  पर लडकर 54 पर जीती . 38 फीसदी सीटें शिवसेना ने जीतीं जबकि 49 फीसदी बीजेपी ने. 2009 में 160 सीटों पर शिवसेना ने उम्मीदवार उतारे और जीत 44 सीटों पर मिली जबकि बीजेपी 119 सीटों पर लडी और 46 पर जीती शिवसेना का स्ट्राइक रेट 27 फीसदी रहा जबकि बीजेपी का 39 फीसदी.

 

अब अगर इन चार चुनावों को देखें तो शिवसेना की जीत का स्ट्राइक रेट 37 फीसदी है और अगर इस स्ट्राइक रेट के साथ शिवसेना 151 पर लड़ती है तो 56 सीटें मिलने का अनुमान लगाया जा सकता है. जबकि इन चार चुनावों में बीजेपी का स्ट्राइक रेट 48 फीसदी है ऐसे में 124 सीटों में 60 सीटें मिल सकती हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bjp yield against shiv sena ?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: BJP PM Modi Shiv Sena
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017