धनखड़ के हरियाणा के युवकों के लिए बिहार से दुल्हनें लाने के बयान पर जदयू-राजद-कांग्रेस ने विरोध जताया

By: | Last Updated: Monday, 7 July 2014 11:53 AM
bjp_bihar_bride_dhankhad_sushil_modi

पटना : बिहार विधानमंडल में आज जदयू, राजद और कांग्रेस ने भाजपा नेता ओ पी धनखड़ के हरियाणा के युवकों से किये उस विचित्र वादे का जोरदार विरोध किया जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि उन्हें राज्य में दुल्हनें नहीं मिल पा रही हैं तो वह उनके लिए बिहार से दुल्हनें लाएंगे . विरोध के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित करनी पडी.

 

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के करीबी दोस्त धनखड के उक्त बयान का बिहार विधानमंडल में आज प्रदेश में सत्ताधारी जदयू और उसे सरकार चलाने में बाहर से समर्थन दे रही राजद और कांग्रेस ने विरोध करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

 

धनखड ने गत शुक्रवार को जींद के नरवाना में आयोजित एक किसान महासम्मेलन में जुटे लोगों से राज्य में भाजपा के हाथ मजबूत करने का आहवान करते हुए कहा, ‘‘भाजपा को मजबूत बनाने का यह भी मतलब है कि कई गांवों के उन युवकों को दुल्हनें भी मिलेंगी जो बिना विवाह के घूम रहे हैं.’’ उन्होंने कहा था कि वह जब संसदीय क्षेत्र का दौरा कर रहे थे तो उन्हें कहानियां सुनने को मिलती थीं कि कुछ युवक बिहार और अन्य स्थानों से दुल्हनें ला रहे हैं.

 

धनखड ने कहा, ‘‘मैंने उन्हें कहा कि सुशील मोदी (बिहार में भाजपा के वरिष्ठ नेता) मेरे अच्छे मित्र हैं. हम सुसंगत जोड़ी सुनिश्चित करेंगे और अन्य स्थानों से दुल्हन लाने की परंपरा समाप्त करेंगे.’’ 2011 जनगणना के अनुसार हरियाणा कम लिंग अनुपात के लिए बदनाम है क्योंकि प्रति एक हजार पुरूषों पर लड़कियों की संख्या 879 है. धनखड़ ने कहा कि कई गांवों में 150 से 200 युवकों को दुल्हनें नहीं मिल पातीं.

 

बिहार विधानसभा की आज की कार्यवाही शुरू होते ही जदयू, राजद और कांग्रेस सदस्य सदन के वेषम में आकर नारेबाजी करते हुए धनखड के बयान का विरोध करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई तथा सुशील से बिहार विधान परिषद के प्रतिपक्ष के नेता पद से इस्तीफा की मांग की. बिहार विधान परिषद में भी इसी प्रकार का नजारा देखने को मिला. वहीं भाजपा सदस्यों ने बिहार में पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल के दौरान स्वास्थ्य विभाग में दवा की खरीद में घोटाला होने का आरोप लगाया और इस मामले की सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की . मांग करते हुये वे भी वेषम में आकर हंगामा करने लगे.

 

हंगामा कर रहे सदस्यों के नहीं मानने पर अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने पहले तो सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए और उसके बाद अपराह्न दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी .

 

बिहार विधान परिषद में भी यही स्थिति होने पर उपसभापति सलीम परवेज ने भी सदन की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी .

 

बाद में बिहार विधान परिषद स्थित अपने कक्ष में पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रतिपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी ने सत्तापक्ष पर आरोप लगाया कि दवा घोटाला, बिहार के वित्तमंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव के नाती के अपहरण का मामला सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा नहीं हो सके इसलिए सत्ता पक्ष सदस्यों ने बिहार विधानमंडल की कार्यवाही को नहीं चलने दिया.

 

उन्होंने कहा कि भाजपा ने कभी भी प्रश्नकाल को बाधित नहीं किया बल्कि शून्यकाल के दौरान मुद्दो को उठाते रहे .

 

(अपने स्मार्टफोन पर ताज़ातरीन खबरों को पढ़ने और देखने के लिए डाउनलोड करें एबीपी न्यूज़ के ये एंड्रॉयड और आईओएस एप. ये एप पूरी तरह से मुफ्त है.)

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bjp_bihar_bride_dhankhad_sushil_modi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017