LIVE: बीजेपी-शिवसेना का 25 साल पुराना गठबंधन टूटा, मोदी मंत्री में शिवसेना के मंत्री के रहने पर फैसला जल्द

By: | Last Updated: Thursday, 25 September 2014 2:48 AM

मुंबई: महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को लेकर करीब हफ्तेभर चले ड्रामे के बाद आज बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन आखिराकर टूट गया. बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने गुरुवार की शाम करीब सात बजे गठबंधन टटूने का एलान किया. ये गठबंधन 25 साल पुराना था.

बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि वो छोटे दलों के साथ चुनाव मैदान में जाएंगे, लेकिन चुनाव प्रचार के दौरान शिवसेना के खिलाफ टीका टिप्पणी नहीं करेंगे.

 

देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि शिवसेना से कई दौर की बातचीत हुई, लेकिन शिवसेना ने हर बार अव्यवहारिक प्रस्ताव दिए. गठबंधन जारी रखने के लिए जिस बड़े दिल की जरूरत  थी शिवसेना ने वो नहीं दिखाया.

 

बीजेपी नेता ने कहा, “गठबंधन में जिस तरह से बीजेपी और मित्र दलों को सीटें दी जानी चाहिए थी, शिवसेना अपने तय सीटों से पीछे हटने को तैयार नहीं थी. शिवसेना का रवैया बिल्कुल लचीला नहीं था.”

 

आपको बता दें कि शिवसेना और बीजेपी में सीटों के अलावा सीएम की उम्मीदावारी को लेकर गतिरोध था जो आखिर में 25 साल पुराना गठबंधन के टूटने के साथ अपने अंजाम को पहुंच गया.  शिवसेना और बीजेपी का गठबंधन 1989 से चला आ रहा था.

 

एबीपी न्यूज़ संवाददाता उमेश कुमावत का कहना है कि दोनों पार्टियों के बीच असल झगड़ा सीएम के पद को लेकर था. फार्मूला ये तय हुआ कि जिसकी ज्यादा सीटें होंगी उसका सीएम होगा. इसलिए शिवसेना 151 सीटों से कम पर तैयार नहीं थी और बीजेपी को 130 से कम सीटें कम मंजूर नहीं था.

 

याद रहे कि बीजेपी उन 78 सीटों पर शिवसेना से विचार करने की मांग कर रही थी जिन सीटों पर शिवसेना और बीजेपी कभी नहीं जीती. गठबंधन खाते की 56 सीटें ऐसी हैं जिसपर शिवसेना कभी नहीं जीती. बीजेपी उन सीटों में कुछ पर अपनी दावेदारी की मांग कर रही थी.

 

क्या हरा पाएंगे एनसीपी-कांग्रेस को?

 

महाराष्ट्र में शिवसेना-बीजेपी की राहें अलग हो जाने के बाद एक सवाल अहम है कि क्या शिवसेना और बीजेपी अलग-अलग लड़कर एनसीपी और कांग्रेस को हरा पाएगी.  एबीपी न्यूज़ संवाददाता उमेश कुमावत का कहना है कि शिवसेना और बीजेपी के लिए अब रास्ते मुश्किल दौर में हैं.

 

महाराष्ट्र राजनीति के एक्सपर्ट अशोक वानखेड़े का कहना है कि इस गठबंधन के टूटने के बाद ज्यादा नुकसान बीजेपी को हो सकता है.  वानखेड़े का कहना है कि बहुत हद तक एमएनसी के रुख से तय होगा कि महाराष्ट्र की राजनीति किस करवट जाएगी.

 

अनंत गीते का भविष्य क्या होगा?

 

शिवसेना कोटे से अनंत गीते मोदी कैबिनेट में मंत्री हैं. जैसे ही बीजेपी ने गठबंधन टूटने का एलान किया. भारी उद्योग मंत्री अनंत गीते मुंबई के लिए रवाना हो गए. खबरें हैं कि बहुत ही जल्द अनंत गीते की किस्मत का फैसला हो जाएगा कि वो मोदी कैबिनेट के सदस्य बने रहेंगे या नहीं.

 

शिवसेना नेता आनंदराव अडसूल का कहना है कि अनंत गीते कैबिनेट में रहेंगे या नहीं, इसका फैसला उद्धव ठाकरे करेंगे.

 

बीजेपी रहेगी सबसे बड़ी पार्टी!

 

एबीपी न्यूज़-नीलसन के एक महीने पुराने ओपिनियन पोल के मुताबिक अगर बीजेपी अकेली चुनाव लड़ती है तो भी उसे ज्यादा नुकान नहीं होगा. पोल के मुताबिक बीजेपी को अकेले दम पर 103 सीटें मिल सकती हैं.

 

अकेले चुनाव लड़ने पर शिवसेना को 64 सीटें मिल सकती हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: bjp_shivsena_alliance
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: alliance BJP ele2014 Maharashtra Shiv Sena
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017