bjp's new game plan to trap aap convener arvind kejariwal

bjp's new game plan to trap aap convener arvind kejariwal

By: | Updated: 29 Jan 2015 08:17 AM

नई दिल्ली: दिल्ली चुनावों में बीजेपी की सीएम पद उम्मीदवार किरन बेदी के बचाव के लिए पार्टी ने अपने ताकतवर केंद्रीय मंत्रियों को बेदी का कवच बनाकर दिया है. पार्टी ने मोदी सरकार के 5 प्रमुख मंत्रियों को केजरीवाल को घेरने की चक्रव्यूह रचना की तैयारी का जिम्मा दिया है. देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली चुनाव तक रोज करीब एक घंटे बीजेपी दफ्तर में बैठेंगे और चुनाव की रणनीति तैयार करेंगे. उन्हीं पर दिल्ली चुनावों की तैयारी और प्लान की जानकारी मीडिया से साझा करने का भी जिम्मा है.

 

वित्त से शिक्षा मंत्री तक हैं चक्रव्यूह का हिस्सा

 

सूत्रों की मानें तो पार्टी ने बिजली के मुद्दे पर केजरीवाल के सवालों का तोड़ निकालने का जिम्मा बिजली मंत्री पीयूष गोयल को सौंपा है जबकि आर्थिक मुद्दों पर हर तरह के सवालों का जवाब और विरोधी खेमे के खिलाफ रणनीति पर वित्त राज्य मंत्री निर्मला सीतारामन काम करेंगी. स्वास्थ्य संबंधी सवालों का जवाब स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा देंगे तो शिक्षा के सवाल पर हर तरह का जवाब स्मृति ईरानी तैयार करेंगी.

 

मुख्यमंत्री की उम्मीदवार किरन बेदी महिला सुरक्षा के संबंध में प्लान बनाने का काम करेंगी. पार्टी ने केजरीवाल के वादों और दावों के खिलाफ एक किताब भी बांटने का फैसला किया है. किताब का नाम है सच्चाई या साजिश? किरन बेदी का कवच बनकर केंद्रीय मंत्री केजरीवाल के खिलाफ चुनावी चक्रव्यूह रचने की तैयारी में हैं. सांसदों और बड़े नेताओं की फौज पहले से ही दिल्ली में मौजूद है. खुद पीएम भी चार-चार रैलियां करने वाले है.

 

क्या डर गई है बीजेपी

 

अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि बीजेपी को इतने बड़े मंत्रियों को मैदान में उतारने की जरूरत क्यों पड़ी? इसका एक कारण सर्वे के नतीजे भी हो सकते हैं क्योंकी एबीपी न्यूज़-नीलसन त्वरित सर्वे में किरन बेदी को सीएम पद का उम्मीदवार बनाए जाने के बाद बीजेपी को नुकसान होने की बात सामने आई है. दिल्ली के इस त्वरित सर्वे में 50 फीसदी लोग 'आप' को वोट देने का इरादा रखते हैं जबकि 41 फीसदी बीजेपी को वोट देने का इरादा रखते हैं.

 

जनवरी के दूसरे हफ्ते में किए गए त्वरित सर्वे में 45 फीसदी लोग बीजेपी को वोट देने का इरादा रखते थे जबकि 46 फीसदी लोग 'आप' को वोट देने का इरादा रखते थे. ये सर्वे 17 से 19 जनवरी के बीच किया गया था जबकि ताजा सर्वे 24 और 25 जनवरी को किया गया है यानी किरन बेदी के सीएम उम्मीदवार घोषित होने के बाद.

 

संबंधित ख़बरें-

फटकार के बाद भी बाज नहीं आए केजरीवाल, कार्यकर्ताओं से कहा- पैसे ले लो, फिर स्टिंग करो

दिल्ली बीजेपी की बैठक में तैयारियों का जायजा ले रहे हैं अमित शाह

किरन बेदी के पास हैं दो वोटर आई कार्ड, चुनाव आयोग की जांच शुरू

केजरीवाल को चुनाव के ऐन पहले AAP नेताओं के फर्जी स्टिंग का सताया डर

केजरीवाल ने क्यों दिया था सीएम बनने का ऑफर: किरन बेदी

दिल्ली: चुनाव प्रचार में उतरी बीजेपी सेना, जेटली बनाएंगे रणनीति

एबीपी सर्वे: किरन बेदी का जादू नहीं चला, मोदी के नाम पर वोट देना चाहते हैं दिल्लीवासी

एबीपी सर्वे: किरन बेदी के बीजेपी में आने से केजरीवाल को हुआ फायदा

मतदाताओं से रिश्वत लेने को न कहें केजरीवाल: चुनाव आयोग 

सर्वे: सीएम की रेस में केजरीवाल से पिछड़ीं किरन बेदी

सर्वे: दिल्ली में 'आप' की बम-बम तो बीजेपी के लिए खतरे के संकेत 

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story आज दुबई से मुंबई पहुंचेगा श्रीदेवी का पार्थिव शरीर, परसों रात हृदय गति रुकने से हुआ था निधन