काले धन पर नये कानून के बावजूद सरकार 'फ्लॉप'?

By: | Last Updated: Thursday, 1 October 2015 11:28 AM

नई दिल्ली: काले धन पर नये कानून में सरकार को कोई बड़ी कामयाबी नहीं मिली. 638 लोंगो ने विदेशों में अपनी तीन हजार सात सौ करोड़ रुपये से ज्यादा की अघोषित संपत्ति का जानकारी दी. इससे सरकार को दो हजार दो सौ करोड़ रुपये से ज्यादा की आमदनी होगी. इस आंकड़े के सामने आने के बाद विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है.

 

3770 करोड़ रुपये

 

क्या विदेशों में भारतीयों ने इतना ही काला धन छुपा रखा था? सरकार ने लोगों से विदेशों में मौजूद अवैध संपत्ति की जानकारी मांगी थी. इसके लिए 30 सितंबर की डेडलाइन भी दी गई थी. लेकिन आखिरी तारीख तक सिर्फ 638 लोगों ने ही सरकार को अपनी अवैध विदेशी संपत्तियों के बारे में जानकारी दी.

 

इन लोगों ने करीब 3770 करोड़ रुपये के अपने उन विदेशी खातों और संपत्ति की जानकारी दी, जिसका पता अभी तक सरकार को नहीं था. अब इन 638 लोगों को 31 दिसम्बर तक 30 फीसदी की दर से टैक्स और उतना ही जुर्माना यानी अघोषित संपत्ति का 60 फीसदी जमा कराना होगा. इस हिसाब से सरकारी खजाने में करीब 2200 करोड़ रुपये आ सकते हैं.

 

विदेशों में काला धन की जानकारी देने वाले 638 भारतीयों के नामों का खुलासा करने से सरकार ने इनकार कर दिया है.

 

काले धन के खुलासे के बाद बीजेपी के पुराने दावों पर सवाल उठ रहे हैं. दरअसल लोकसभा चुनाव के दौरान काले धन का मुद्दा खूब उठा था. यहां तक की नरेंद्र मोदी ने दावा किया था कि विदेश में इतना काला धन है कि हर किसी के खाते में 15 लाख रुपये आ सकते हैं.

 

बाद में बीजेपी ने इस बयान को जुमला करार दे दिया था. अब सरकार की कोशिशों के बावजूद विदेशों में सिर्फ 3 हजार 770 करोड़ के काला धन का पता चल पाया है. जिस पर विपक्षी दलों ने सरकार को आड़े हाथों लिया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Black money law sees 638 declarations of Rs 3770 crores
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: black money PM Narendra Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017