Twitter पर ब्लास्ट की धमकी देने वाले शख्स की पहचान हुई

By: | Last Updated: Tuesday, 30 December 2014 2:49 AM
blast threat on twitter for releasing mehdi

नई दिल्ली: बेंगलुरू ब्लास्ट के बाद दो और धमाकों की धमकी देने वाले शख्स अब्दुल खान की पुलिस ने पहचा कर ली है.  सूत्रों के मुताबिक 17 साल का यह नाबालिग मानसिक रूप से बीमार है. पुलिस इस नाबालिग के घरवालों से पूछताछ कर रही है.

 

इस नाबालिग ने फेंक आईडी बनाकर यह ट्विटर हैंडल शुरू किया था. पुलिस के मुताबिक नाबालिग बहुत ही तनाव में रहता है.

 

आपको बता दें कि सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर के जरिए दो और धमाकों की धमकी दी गई थी. ट्विटर अकाउंट के जरिये अब्दुल खान नाम के इस शख्स ने बेंगलूरु धमाके की जिम्मेदारी ली थी. अब्दुल ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह और मीडिया को ट्विट कर कहा, “दम है तो गिरफ्तार करके दिखाओ.”

 

बेंगलुरु में हुए चर्च स्ट्रीट धमाका मामले में बेंगलुरु पुलिस अल-उम्माह के एंगल से भी जांच कर रही है. गौरतलब है कि अल-उम्माह एक आंतकवादी संगठन है जो कि दक्षिण भारत में सक्रिय है.

 

जांचकर्ताओं का मानना है कि अल-उम्माह आतंकी संगठन आईएसआई की विचारधारा का समर्थक है जो आईएस की गतिविधियों को दक्षिण भारत में चला रहा है. ऐसी संभावना जताई जा रही है कि अल-उम्माह ने इस विस्फोट में अपना बेस उपलब्ध कराया है. गौरतलब है कि ट्विटर पर मेहदी को छोड़ने को लेकर धमकी भी दी जा चुकी है. इस बात की भी संभावना जताई जा रही है कि हो सकता है कि यह ब्लॉस्ट मेहदी को छुड़ाने के लिए भी किया गया हो.

 

बेंगलुरू पुलिस कमिश्नर एम एन रेड्डी ने धमकी संदेश वाले ट्विटर अकाउंट के फर्जी होने की आशंका जताई है. उन्होंने कहा, “ये किसी की शरारत भी हो सकती है. हम इसकी जांच कर रहे हैं.”

 

रविवार रात हुए बेंगलुरू धमाके में पुलिस के हाथ अभी तक कोई पुख्ता सुराग नहीं लगे हैं. आतंकी संगठन सिमी पर शक जताया गया है. कर्नाटक के सीएम एस सिद्धारमैया ने जनता से आगे आकर पुलिस को जानकारी देने की अपील की है और सूचना देने वाले की गोपनीयता बनाये रखने का भरोसा दिलाया.

 

सरकार ने बेंगलूरु में हुए धमाके के आरोपियों का सुराग देने वाले के लिए 10 लाख रुपए का इनाम घोषित किया है.