130 लोगों के हत्यारे को बचाने के लिए हुआ ये आतंकी हमला?

By: | Last Updated: Tuesday, 22 March 2016 8:09 PM
Brussels explosions: Many dead in airport and metro terror attacks

नई दिल्ली: पिछले साल नवंबर में पेरिस को दहलाने वाले संदिग्ध में सालेह का नाम आया था. अब सालेह की ब्रसल्स की गिरफ्तारी के चार दिन बाद सीरियल ब्लास्ट हुए थे. सालेह बेल्जियम के उसी ब्रसल्स का रहने वाला है जहां आज धमाके हुए. सवाल ये है कि क्या सालेह की गिरफ्तारी का बदला है ?

सालेह अब्देलसलाम
उम्र 26 साल
यूरोप का मोस्टवांटेड अपराधी
बेल्जियम के ब्रसल्स में पैदा हुआ
पेरिस हमले का संदिग्ध
18 मार्च को ब्रसल्स में गिरफ्तार हुआ

और चार दिन बाद उसी ब्रसल्स में हुआ है सीरियल ब्लास्ट.

हमले का पेरिस कनेक्शन !

 

पिछले साल नवंबर में पेरिस में हुए हमले में 130 लोगों की जान गई थी. इस हमले का मास्टरमाइंड सालेह को चार दिन पहले ही ब्रसल्स से गिरफ्तार किया गया था. 10 आतंकियों की टीम में सालेह इकलौता जिंदा बचा आतंकी था. सालेह की गिरफ्तारी के बाद ही बेल्जियम पुलिस को ऐसे किसी भी धमाके के लिए अलर्ट कर दिया गया था लेकिन अलर्ट के बाद भी धमाका हो गया.

सालेह ब्रसल्स में एक अपार्टमेंट में छापेमारी के दौरान पकड़ा गया था. सालेह बेल्जियम में पैदा हुआ फ्रांसीसी नागरिक है. कहा गया था कि पेरिस हमले के दौरान सालेह बाकी हमलावारों के साथ ख़ुद को उड़ा देना चाहता था लेकिन बाद में उसने अपना मन बदल लिया था. सालेह ने बेल्जियम में अपना नेटवर्क तैयार कर रखा है और गिरफ्तारी के दौरान सालेह के पास से बहुत हथियार मिले थे.

दुनिया के सबसे खूंखार आंतकी संगठन आईएस से जुड़ा सालेह सलाखों के पीछे है लेकिन शक है कि इसी आईएस के आतंकियों ने सालेह की गिरफ्तारी का बदला लेने के लिए इन धमाकों को अंजाम दिया है.

अब तक की पूरी खबर पढ़ें

आपको बता दें कि बेल्जियम की राजधानी ब्रसल्स में एयरपोर्ट और मेट्रो में आज तीन बड़े धमाके हुए जिनमें कुल 28 लोग मारे गए हैं. ब्रसल्स एयरपोर्ट पर दो धमाके हुए जिनमें 17 लोग मारे गए, जब एक धमाका ब्रसल्स मेट्रो में हुआ जिसमें 10 लोग मारे गए. इन धमाकों में कोई भी भारतीय हताहत नहीं हुआ. दो भारतीय घायल हुए हैं. इन धमाकों में 20 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं.

ब्रसल्स एयरपोर्ट पर धमाके डिपार्चर हॉल से पहले अमेरिकन चेकइन काउंटर के पास हुए. धमाका बेल्जियम के समय अनुसार सुबह 8.30 बजे हुआ. इन धमाकों में 17 लोग मारे गए. ब्रसल्स में तीसरा धमाका मेट्रो स्टेशन पर हुआ.

अब तक किसी आतंकी गुट ने इन हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली, लेकिन इन हमलों का शक आईएसआईएस पर जताया जा रहा है.

चश्मदीदों का कहना है कि हमलावरों ने धमाके से पहले अरबी में कुछ नारे लगाए और फिर फायरिंग की.

धमाकों के बाद ब्रसल्स में एयरपोर्ट, मेट्रो और बस पर विमानों का परिचालन रोक दिया गया है.

एयरपोर्ट के बाद मेट्रो स्टेशन पर हमला

ब्रसल्स के एयरपोर्ट पर धमाके के बाद समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक ब्रसल्स में एक मेट्रो स्टेशन के पास भी धमाका हुआ है. ये मेट्रो स्टेशन यूरोपीय यूनियन के दफ्तर के पास है. मेट्रो स्टेशन के पास हुए धमाके में 10 लोग मारे गए हैं. धमाके के बाद अब मेट्रो सेवा रोक दी गई.

आतंकी हमला

अब तक किसी आतंकी संगठन ने इस धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेेकिन धमाके इतने जोरदार थे कि एयरपोर्ट की बिल्डिंग को भारी नुकसान हुआ है. ब्रसल्स एयरपोर्ट पर धमाके की घटना इसलिए गंभीर है क्योंकि चार दिन पहले ही पेरिस हमले के आरोपी आतंकी अब्देस्लाम की बेल्जियम से गिरफ्तारी हुई थी.

धमाके के चश्मदीदों का कहना है कि धमाके के बाद उन्होंने जोरदार झटके महसूस किए. खबरों के मुताबिक गिरफ्तार हुए आतंकी ने इस तरह के हमले की जानकारी दी थी. एयरपोर्ट को पूरी तरह खाली करा दिया गया है. ब्रसल्स एयरपोर्ट से सभी फ्लाइट्स को रद्द कर दिया गया है.

भारत के लिए कितनी बड़ी चिंता?

blast airport indian treat 2

भारत के लिए चिंता की बात ये है कि एयरोपर्ट पर धमाके के बाद जिन लोगों को जान बचाने के लिए इधर उधर भागते हुए देखा गया है, उनमें कुछ भारतीय भी थे. उनकी तस्वीरें सामने आईं. जेट एयरवेज का एक विमान भी उस एयरपोर्ट पर था. अब तक की जानकारी के मुताबिक दो भारतीय घायल हुए हैं.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना की निंदा की.

नरेंद्र मोदी को भी 30 मार्च को ब्रसल्स के दौरे पर जाना है. सरकार ने साफ कर दिया है कि इन धमाकों के बावजूद पीएम मोदी का दौरा रद्द नहीं होगा और न ही दौरे में बदलाव होगा. पीएम मोदी को यूरोपीय संघ के सम्मेलन में हिस्सा लेने ब्रसल्स जाना है. यहां चार साल बाद यूरोपीय संघ-भारत सम्मलेन आयोजित किया जा रहा है.

इन धमाकों के बाद बेल्जियम में भारत के राजदूत मंजीव पुरी ने एबीपी न्यूज़ से बताया था किसी भी भारतीय के मारे जाने की खबर नहीं है. राजदूत के मुताबिक जो लोग जेट एयरवेज की फ्लाइट में थे वो पूरी तरह सुरक्षित हैं. राजदूत ने बाताय कि जेट एयरवेज के मैनेजर ने स्टाफ और यात्रियों के सुरक्षित होने की बात कही है.

क्या सुरक्षा में खामी थी?

ब्रसल्स के अंदर 19 नगरपालिका हैं और इस तरह यहां 19 मेयर हैं. पुलिस में सुरक्षा से जुड़ी सूचनाओं को लेकर कई बार भ्रम की स्थित बन जाती है.

ब्रसल्स की एक स्थानीय समाचार एजेंसी के मुताबिक एयरपोर्ट पर धमाके से पहले एक व्यक्ति ने गोलियां भी चलाईं. आपको बता दें ब्रसल्स एयरपोर्ट की खासियत है कि यह पूरी तरह कांच से ही बना हुआ है.

क्या हैं भारत-यूरोप में एयरपोर्ट में सुरक्षा जांच के तरीके

यूरोप में एयरोपोर्ट पर सुरक्षा की जांच के तरीके भारत से अलग होते हैं,  भारत में अगर आप दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनेश्नल एयरपोर्ट पर जाते हैं तो सबसे पहले आपकी गाड़ी की चेकिंग होती है. इसके बाद एयरपोर्ट में अंदर जाते वक्त सीआईएसएफ के जावनों का सुरक्षा स्तर होता है. इसके बाद चेकइन काउंटर पर भी सुरक्षा जांच को अंजाम दिया जाता है.

वहीं अगर यूरोप में एयरपोर्ट पर सुरक्षा प्रक्रिया की बात करें तो यहां यात्री सीधे चेकइन काउंटर तक पहुंचते हैं. यहां कोई भी आसानी से एयरपोर्ट के अंदर आ सकता है. आज जो धमाके हुए वो डिपार्चर लाउंज से पहले चेकइन काउंटर के पास हुए हैं.

धमाके के वक्त मौजूद था जेट एयरवेज का विमान

ब्रसल्स में एयरपोर्ट पर धमाके के वक्त भारतीय एयरलाइन जेट एयरवेज का विमान भी मौजूद था. इस विमान को ब्रसल्स से दिल्ली के लिए उड़ान भरना था. जेट एयरवेज ने अपने इस विमान के ब्रसल्स एयरपपोर्ट होने की पुष्टि की है.

jet air

जेट एयरवेज ने बयान जारी करते हुए कहा, ”हमें धमाकों की जानकारी है. जेट एयरवेज अपने स्टाफ और यात्रियों को सुरक्षित निकालने की पूरी कोशिश कर रहा है. अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक ब्रसल्स में जेट एयरवेज का स्टाफ और यात्री पूरी तरह सुरक्षित हैं.”

धमाकों के बाद सामने आई तस्वीरों में कुछ भारतीय को भी देखा जा रहा था.

जानें- हेल्पलाइन नंबर

ब्रसल्स एयरपोर्ट ने ट्विटर के जरिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. एयरपोर्ट ने ट्वीट में लिखा है, ”एयरपोर्ट पर मौजूद अपने परिवार और दोस्तों के बारे में जानकारी के लिए (0032) (0)2/753.73.00 पर कॉल करें. इसके साथ ही लोगों को एयरपोर्ट ना आने की सलाह दी गई है.

जानें- बेल्जियम की खासियत

 बेल्जियम यूरोप का एक अहम देश है. बेल्जियम में 41 फीसदी लोग फ्रेंच बोलते हैं.

पेरिस हमलों के बाद से ही इन इलाकों में आतंकी हमलों के खतरों की आशंका जताई जा रही थी.

नाटो का मुख्यालय ब्रसल्स में ही स्थित है.

देखें वीडियो-

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Brussels explosions: Many dead in airport and metro terror attacks
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017