बजट 2016: किराए पर रहने वालों को मोदी सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

By: | Last Updated: Thursday, 26 January 2017 10:40 PM
Budget 2016 brings HRA cheer: Tax relief on rent now Rs 60000 per annum

नई दिल्ली: व्यक्तिगत आयकर दाताओं को राहत देते हुए वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज मकान किराये पर कर कटौती सीमा को आज बढाकर 60,000 रुपये सालाना कर दिया जो कि फिलहाल 24,000 रुपये है.

उन्होंने लोकसभा में बजट 2016-17 पेश करते हुए कहा,‘ मैं 80 जीजी के तहत चुकाये जाने वाले किराये की कटौती सीमता को 24000 रुपये सालाना से बढाकर 60,000 रुपये सालाना करने का प्रस्ताव करता हूं ताकि किराये पर रहने वालों को राहत मिले.’ यह छूट ऐसे लोगों के लिए है जिन्हें नियोक्ता से काई मकान भत्ता नहीं मिलता और उनके पास मकान नहीं है.

वित्त मंत्री ने 2016-17 में पहली बार घर खरीदने वालों के लिए 35 लाख रुपये के रिण पर 50,000 रुपये प्रति वर्ष की अतिरिक्त कर राहत देने की घोषणा की. इस राहत में यह शर्त होगी कि मकान की लागत 50 लाख रुपये से अधिक नहीं हो.

इसके साथ ही उन्होंने 87ए के तहत कर छूट की सीमा को 2000 रुपये से बढाकर 5000 रुपये करने का प्रस्ताव किया है. उन्होंने कहा कि इसके साथ पांच लाख रुपये तक की आय वाले करदाताओं को अपनी कर देनदारी में 3000 रुपये की राहत मिलेगी.

सरकार ने आयकर कानून की धारा 44 एडी के तहत प्रकल्पित कराधान योजना के तहत कारोबार सीमा को मौजूदा एक करोड़ रुपये से बढाकर दो करोड़ रुपये कर दिया है. इससे लघु कारोबार से जुड़े 30 लाख से अधिक लोगों को फायदा होगा.

जिन पेशेवरों की सकल प्राप्ति 50 लाख रुपये तक है, उन्हें यह मानते हुए कि उनका लाभ 50 प्रतिशत रहता है, अनुमान के आधार पर कराधान की योजना के दायरे में लाने का प्रस्ताव किया गया है.

Budget News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Budget 2016 brings HRA cheer: Tax relief on rent now Rs 60000 per annum
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Budget 2016
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017