इन वजहों से मोदी सरकार से नाराज होगा मिडिल क्लास!

By: | Last Updated: Monday, 29 February 2016 5:10 PM
Budget 2016: middle class did not got any major relief

नई दिल्ली: मोदी सरकार अपने तीसरे बजट में गरीबों पर तो मेहरबान दिखी लेकिन नौकरीपेशा और मिडिल क्लास को उसने कोई बड़ी राहत नहीं दी.

इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव नहीं

पिछली बार की तरह इस बार भी नौकरीपेशा और मध्यम वर्ग इनकम टैक्स में छूट और बढ़ने की उम्मीद लगाए हुए बैठा था लेकिन वित्त मंत्री के पिटारे से इस बार भी कुछ नहीं निकला. इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया यानि टैक्स में छूट की सीमा पहले की तरह ढाई लाख रुपये ही है. सालाना 2.5 लाख से 5 लाख कमाने वालों को 10 फीसदी, पांच से 10 लाख रुपये कमाने वालों को 20 फीसदी और 10 लाख से ज्यादा कमाने वालों को 30 फीसदी टैक्स लगता है.

सर्विस टैक्स बढ़ने से जेब ढीली

मोदी सरकार ने सर्विस टैक्स को 14.5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दिया है. अब इस पर आधा फीसदी किसान कल्याण कर वसूला जाएगा. यानि मीडिल क्लास को राहत तो नहीं मिली लेकिन बोझ जरूर बढ़ा दिया है. इसका मतलब ये हुआ है कि रेस्टोरेंट में खाना-पीना हो या फिर फोन, मोबाइल, बिजली के बिल या फिर और दूसरी सेवाएं इस पर अब आपको ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ेगी.

डिविडेंड ड्रिस्ट्रीब्यूशन टैक्स लगेगा

वित्त मंत्री ने बजट में एलान किया है कि अगर किसी शेयरधारक का डिविडेंड यानि लाभांश दस लाख रुपये या उससे ज्यादा है तो उसे अपनी आय पर 10 फीसदी टैक्स देना होगा.

अगर आपने किसी कंपनी के शेयर खरीद रखें हैं और उससे आपको सालाना 10 लाख की आमदनी हो रही है तो आप इसके दायरे में आ जाएंगें यानि यहां भी आपकी जेब पर कैंची चलाई गई है.

छोटे करदाताओं को मामूली राहत

हालांकि वित्त मंत्री ने छोटे करदाताओं पर थोड़ी मेहरबानी जरूर दिखाई है. सालाना पांच लाख इनकम वालों को तीन हजार रुपए की अतिरिक्त छूट दी गई है. इसके साथ ही हाउस रेंट की छूट 24000 से बढ़ाकर 60000 रुपए कर दी गई है. इस छूट को इस तरह से समझ सकते हैं जिन कर्मचारियों को कंपनी हाउस रेंट अलाउंस यानि एचआरए नहीं देती है तो सरकार मकान किराया 24 हजार मानकर टैक्स में छूट दे रही थी. अब सरकार ने ने ये छूट 60 हजार रुपये तक बढ़ा दी है. वित्तमंत्री ने कहा कि छोटे टैक्सपेयर को राहत देने के लिए हाउस रेंट की छूट बढ़ाई जा रही है.

इस बजट में पहली बार मकान खरीदने वालों को भी छूट दी गई है. पहली बार मकान खरीदने वालों के लिए 35 लाख तक के कर्ज पर 50 हजार रुपये ब्याज छूट दी गयी है बशर्ते मकान 50 लाख तक की होनी चाहिए.

बजट से संबंधित ये खबर भी पढ़ें-

आयकर स्लैब में कोई बदलाव नहीं, हाउस रेंट सीमा बढ़ी

अब कर्मचारियों के PF में हिस्सा देगी केंद्र सरकार 

बजट 2016: जानें- बजट के खास-खास प्वाइंट्स जिससे आपका सीधा संबंध है

देश का बजट : जानें क्या पड़ेगा जेब पर भारी, कहां मिलेगी राहत

Budget 2016: सरकार गरीबों पर मेहरबान, मिडिल क्लास पर महंगाई की मार

शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार पर क्या हुआ खास एलान?

BUDGET2016: सरकार 2016-17 में खोलेगी 3,000 जन मेडिकल स्टोर

बजट2016: गरीब परिवार की महिला सदस्यों को गैस कनेक्शन मुहैया करायेगी सरकार

Budget 2016-17: अमीरों पर टैक्स बढा़, एक करोड़ की आय पर 15% सरचार्ज

बजट में कृषि क्षेत्र को 36,000 करोड़ रुपए देने का प्रस्ताव, कृषि कर्ज नौ लाख करोड़

Budget 2016-17: जिला अस्पतालों में होंगी डायलिसिस सेवाएं

आम बजट: सड़कों पर ज़ोर, हाइवे के लिए 97,000 करोड़ रुपये आवंटित

बजट 2016 : बीजेपी ने कहा गरीबों का बजट, विपक्ष ने बताया ‘साधारण तस्वीर’

बजट 2016: हर वो सेवा हुई महंगी जिनपर लगते हैं सर्विस टैक्स

बजट 2016: आयकर स्लैब में कोई बदलाव नहीं, हाउस रेंट सीमा बढ़ी

बजट 2016: अब छोटी-बड़ी कारें सभी होंगी महंगी

बजट 2016: अब कर्मचारियों के PF में हिस्सा देगी केंद्र सरकार

बजट 2016: कश्ती चलाने वालों ने जब हार कर दी पतवार हमें…: अरुण जेटली

बजट 2016: जानें- बजट के खास-खास प्वाइंट्स जिससे आपका सीधा संबंध है

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Budget 2016: middle class did not got any major relief
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017