आय से अधिक संपत्ति: हिमाचल के CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ सीबीआई जांच शुरू

By: | Last Updated: Friday, 19 June 2015 1:44 AM
CBI Books Virbhadra Singh, Himachal Pradesh Chief Minister, in Assets Case

नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति मामले में जांच शुरू कर दी है. वीरभद्र सिंह ने 2009 से 2011 के बीच केंद्रीय इस्पात मंत्री रहते करीब छह करोड़ रुपये की एलआईसी पॉलिसी खरीदी थी.

 

उन पर आरोप है कि उन्होंने ये पैसे गलत तरीके से हासिल किए गए. इसी को लेकर आज सीबीआई ने वीरभद्र सिंह, उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह, बेटी अर्पिता सिंह और एलआईसी एजेंट आनंद चौहान के खिलाफ प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है.

 

अगर प्रारंभिक जांच में वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप सही पाए गए तो सीबीआई उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करेगी.

 

क्या सीबीआई के जरिए मोदी विवाद से ध्यान भटका रहे हैं?

जब यूपीए सत्ता में थी तो बीजेपी अक्सर सीबीआई पर तरह-तरह के आरोप लगाती थी. वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तर कांग्रेसी ब्यूरो ऑफ इनवेस्टिगेशन कहा करते थे. अब सत्ता बदल गई है तो क्या माना जाए कि सियासी हथियार भी पलटी मार गया है? खैर.. मसला जो हो लेकिन सीबीआई आजकल कुछ ज्यादा ही सक्रिय है.

अब जरा दूसरे मामले को देखिए. गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और यूपीए सरकार में कपड़ा मंत्री रहे शंकर सिंह वाघेला के ठिकानों पर सीबीआई ने छापे मारे. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक वाघेला के घर से 13 लाख रूपये बरामद किये गये हैं.
 

वाघेला का कहना है कि सुषमा विवाद से ध्यान हटाने के लिए छापेमारी की गई. सीबीआई ने यूपीए सरकार में कपड़ा मंत्री रहे शंकर सिंह वाघेला के साथ 6 लोगों के खिलाफ 1700 करोड़ के जमीन घोटाले को लेकर केस दर्ज किया है और गांधीनगर में वाघेला के घर सहित कुल 9 ठिकानों पर छापेमारी की गई.

 

अब आइए तीसरे मामले पर. महाराष्ट्र के पूर्व उप मुख्यमंत्री और एनसीपी के बड़े नेता छगन भुजबल पर कानून का शिकंजा कस गया है. प्रवर्तन निदेशालय ने छगन भुजबल के खिलाफ दो और केस दर्ज किये हैं. जो ताजा केस दर्ज किये गये हैं वो हवाला के जरिये लेन देन के आरोप में दर्ज किये गये हैं. इससे पहले छगन पर दिल्ली के महाराष्ट्र सदन घोटाला केस में एसीबी ने छापेमारी की थी. मुंबई नासिक सहित कुल 17 जगहों पर छापेमारी हुई थी. महाराष्ट्र पुलिस के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने राकांपा नेता छगन भुजबल और उनके परिवार के सदस्यों की नासिक, मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई में मौजूद अनेक संपत्तियों पर छापे मारे.

 

कुछ दिनों पहले भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीबीआई के जरिए परेशान करने का आरोप मोदी सरकार पर लगाया था. अब बाघेला के बयान पर जरा ध्यान दीजिए कि सुषमा विवाद से ध्यान हटाने के लिए छापेमारी की गई. उधर सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस आम आदमी पार्टी पर शिकंजा कसने की तैयारी में है.

 

दिल्ली पुलिस के पास 21 विधायकों के खिलाफ 24 आपराधिक मुकदमें दर्ज है. दिल्ली पुलिस इनमें से ज्यादातर मामलो में जल्द ही आरोपपत्र दाखिल करने जा रही है. आम आदमी पार्टी का भी यही आरोप है. अब सवाल उठ रहा है कि अचानक सुषमा-ललित मोदी-वसुंधरा विवाद से ध्यान भटकाने के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी हो रही है या ऐसी कार्रवाई के जरिए मोदी सरकार यह संदेश देने की कोशिश कर रही है कि मेरी कमीज से आपकी कमीज ज्यादा काली है?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: CBI Books Virbhadra Singh, Himachal Pradesh Chief Minister, in Assets Case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017