MSG की रिलीज से नाराज सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष लीला सैमसन ने दिया इस्तीफा

By: | Last Updated: Friday, 16 January 2015 1:32 AM
Censor Board chief Leela Samson decides to quit over the row of msg

नई दिल्ली:  राम रहीम की फिल्म मैसेंजर ऑफ गॉड के विवाद में सेंसर बोर्ड अध्यक्ष लीला सैमसन ने इस्तीफा दे दिया है. सेंसर बोर्ड ने फिल्म रिलीज करने की इजाजत नहीं दी थी लेकिन रविवार को फिल्म रिलीज होने की खबर है. राम रहीम ने ट्विटर पर फिल्म रिलीज करने का एलान कर दिया. आज दोपहर गुड़गांव में फिल्म का प्रीमियर होगा.

 

लीला सैमसन ने इस्तीफे के लिए जो कारण बताया है उसमें सबसे बड़ा आरोप है कि उनके काम में दखल दिया जा रहा था. उन्होंने ये नहीं बताया है कि दखल कौन दे रहा था. हालांकि उन्होंने इशारा किया है मंत्रालय की ओर से बोर्ड में नियुक्त अफसरों पर किया है. लीला ने सेंसर बोर्ड में भ्रष्टाचार का भी आरोप लगाया है.

 

गंभीर आरोप ये भी है कि जिस फिल्म ने एमएसजी को क्लियर किया है उसकी पिछले 9 महीने से बैठक नहीं हुई और इसके लिए मंत्रालय ने ये दलील दी है कि बैठक के लिए पैसे नहीं हैं. बोर्ड अध्यक्ष और सदस्यों का कार्यकाल पूरा हो चुका है लेकिन नई सरकार ने नया बोर्ड नहीं बनाया.

 

सैमसन के अनुसार, ‘‘एक ऐसे संगठन का प्रबंधन (मैनेजमेंट) करना पड़ा है जिसके बोर्ड की नौ माहीने से ज्यादा समय से बैठक नहीं हुई क्योंकि मंत्रालय के पास सदस्यों की बैठक को अनुमति देने के लिए कोष (फंड) नहीं है.’’ उन्होंने कहा कि सेंसर बोर्ड के सभी सदस्यों और अध्यक्ष का कार्यकाल समाप्त हो चुका है. लेकिन नई सरकार ने नया बोर्ड और अध्यक्ष नियुक्त नहीं किया है, कुछ का कार्यकाल बढ़ा दिया गया है और उन्हें प्रक्रिया पूरी होने तक काम जारी रखने को कहा गया.

 

राम रहीम की मुख्य भूमिका वाली ये फिल्म विवादों से घिर गई है. फिल्म में उन्होंने खुद को भगवान बताया है और इसी पर सेंसर बोर्ड ने आपत्ति जाहिर की थी.

 

गुरूवार को सैमसन से जब यह पूछा गया कि क्या उन्हें मीडिया में आई उन ख़बरों की जानकारी है जिनमें बताया जा रहा है कि फिल्म को प्रदर्शन के लिए मंजूरी दी जा चुकी है, सैमसन ने जवाब दिया, ‘‘मैंने ऐसा सुना है. अभी तक लिखित में कुछ नहीं है. फिर भी यह फिल्म प्रमाणन बोर्ड का मजाक है. मेरा त्यागपत्र तय है. मैंने (सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के) सचिव को सूचित कर दिया है.’’

 

सेंसर बोर्ड ने ‘मैसेंजर आफ गॉड’ फिल्म के मुद्दे को एफसीएटी को भेज दिया था. फिल्म शुक्रवार को रिलीज़ होनी थी. यह पूछे जाने पर कि उन्होंने पद छोड़ने का निर्णय क्यों किया, उन्होंने फिल्म को कथित मंजूरी मिलने का जिक्र नहीं किया लेकिन कहा कि बताए गए कारणों में ‘हस्तक्षेप, दबाव, पैनल सदस्यों और संगठन अधिकारियों का भ्रष्टाचार शामिल है जिनकी नियुक्ति मंत्रालय द्वारा की जाती है.’

 

इस बीच सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारी सूचना के अनुसार एफसीएटी ने फिल्म को मंजूरी दे दी है. लेकिन लिखित आदेश का इंतजार है.’’ प्रवक्ता ने कहा कि फिल्म ‘मादक पदार्थों के खिलाफ है और उसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है.’ गृह मंत्रालय इसे लेकर चिंतित है कि फिल्म के रिलीज होने से कुछ वर्गों की ओर से विरोध हो सकता है क्योंकि सिख संगठन फिल्म का विरोध कर रहे हैं. मंत्रालय ने इस संबंध में राज्यों को परामर्श जारी किया है.

 

संबंधित ख़बरें-

राम रहीम को सेंसर बोर्ड का झटका, MSG के रिलीज पर लगी रोक

‘मेसेंजर ऑफ गॉड’ की रिलीज पर लगा सकती है रोक 

‘एमएसजी’ की अगली कड़ी का निर्माण जारी: बाबा राम रहीम

…तो सलमान, शाहरुख और आमिर के कमाई के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे बाबा राम रहीम! 

किसी भी मजहब के खिलाफ नहीं है एमएसजी: डेरा प्रमुख

आरोप सिद्ध होने पर सिर कटवा लेंगे: राम रहीम

गुरमीत राम रहीम सिंह फिल्म को लेकर विवाद में

एक्शन और रोमांच से भरपूर फिल्म में दुनिया बचाने आ रहा है भगवान का फरिश्ता 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Censor Board chief Leela Samson decides to quit over the row of msg
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017