ये विवाद बढ़ा तो पीएम मोदी ने जताया खेद

By: | Last Updated: Friday, 11 September 2015 10:53 AM
Chandigarh: PM Modi expresses regret

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी के चंडीगढ़ दौरे पर विवाद शुरू हो गया है. इस दौरे के कारण शहर के तमाम सरकारी और निजी स्कूल बंद रखाने पर कांग्रेस ने हमला किया. सरकारी आदेश को अहंकार की मिसाल बताया.

 

कांग्रेस ने कहा कि मनमोहन सिंह पीएम रहते हुए कई बार चंडीगढ़ आए, राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी यहां आए, लेकिन किसी की यात्रा के दौरान ऐसी पाबंदियां नहीं लगाई गईं.

 

अपनी यात्रा के दौरान चंडीगढ़ के सभी स्कूल बंद किए जाने पर पीएम ने खेद जताया. जांच के बाद कार्रवाई का भरोसा दिलाया.

 

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर पर लिखा है कि मेरी यात्रा के कारण चंडीगढ़ के नागरिकों को जो परेशानी हुई, खास तौर पर स्कूल बंद करने के कारण, उसके लिए मुझे खेद है. इसकी कोई ज़रूरत नहीं थी. इस मामले की जांच की जाएगी और चंडीगढ़ के लोगों को हुई दिक्कतों के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

 

पीएम मोदी की चंडीगढ़ यात्रा के लिए शहर के सभी 187 सरकारी और निजी स्कूल बंद कर दिए गए थे. जिसे लेकर कांग्रेस ने पीएम पर तीखा हमला किया है.

 

चंडीगढ़ रैली में पीएम ने क्या कुछ कहा?

संसद के मानसून सत्र के दौरान कामकाज में व्यवधान पैदा करने के लिए कांग्रेस पर तीखा प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि 40 सांसद लोकतंत्र के साथ ‘साजिश’ कर रहे हैं और ‘खेल’ रहे हैं और संसदीय प्रक्रिया का मार्ग अवरूद्ध कर रहे हैं.

 

यहां एक रैली में अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ सांसदों को लोग चुनकर संसद में भेजते हैं. हालांकि 40 सांसद लोकतंत्र के सिद्धांतों के खिलाफ साजिश कर रहे हैं और लोगों की आकांक्षाओं से खेल रहे हैं जो उनके जनप्रतिनिधियों का अपमान है.’’ मोदी ने यहां चंडीगढ हाउसिंग बोर्ड की ‘जनरल सेल्फ फाइनांसिंग हाउसिंग स्कीम’ के तहत 10 आवंटियों को कागजात और चाबियां सौंपीं.

 

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ कुछ लोग ऐसा क्यों कर रहे हैं :संसद की कार्यवाही बाधिक करना:, केवल अपने अहंकार के लिए ऐसा कर रहे हैं. इससे बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण बात और कुछ नहीं हो सकती है. ’’

 

 उन्होंने कहा, ‘‘ संसद में 40 लोग जो कर रहे हैं वह लोकतंत्र की भावना के अनुरूप नहीं है और संसद को काम करना चाहिए.’’ कांग्रेस के समक्ष एक तरह से चुनौती पेश करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ जनसभा ,लोकसभा से भी आगे है और इसलिए मैं आपके समक्ष अपनी बात रख रहा हूं.’’

 

उन्होंने कहा कि 30 वर्ष के अंतराल के बाद लोगों ने केंद्र में एक पार्टी को इतना बड़ा जनादेश दिया है. उन्होंने कहा, ‘‘ लोग कुछ दलों को संसद में उनके आचार-व्यवहार के लिए क्षमा नहीं करेंगे. ‘‘

 

उन्होंने कहा, ‘‘ जब आप भ्रम में होते हैं और किसी विशिष्ठ स्थिति के बारे में निश्चित नहीं होते हैं, जब आप सोचते हैं कि इसे ऐसे किया जाए, या वैसे किया जाए, एक पल के लिए उस गरीब व्यक्ति के बारे में सोचें जिसने आपके जीवन में कोई भूमिका निभायी हो, आपके बारे में सोचा हो , उसके बारे में सोचें तब जो फैसला आप करने जा रहे हैं, वह स्वत: हो जायेगा.’’

 

 पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (पीजीआईएमईआर) के 34वें दीक्षांत समारोह में छात्रों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ अगर यह हमारे निर्णय करने की प्रक्रिया होगी :गरीबो और सामान्य लोगों को शीर्ष पर रखने: तब भारत को कभी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Chandigarh: PM Modi expresses regret
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017